Saturday, Aug 24 2019 | Time 17:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • देश ने खोया संवेदनशील नेता : कांग्रेस
  • एनडीटीएल के निलंबन के खिलाफ अपील करेगा भारत
  • जेटली ने सदैव समाज की बेहतरी के लिए काम किया: मनमोहन सिंह
  • जेटली ने सदैव समाज की बेहतरी के लिए काम किया:
  • कश्मीर में संचार पाबंदी राष्ट्रहित में, पीसीआई की सुप्रीम कोर्ट में याचिका
  • कश्मीर में 20वें दिन भी सामान्य जनजीवन प्रभावित
  • देश ने एक प्रखर और कुशल नेता को खो दिया : राजग
  • क्रिकेट में जेटली का योगदान हमेशा याद रखा जाएगा: सीके खन्ना
  • क्रिकेट में जेटली का योगदान हमेशा याद रखा जाएगा: सीके खन्ना
  • येचुरी की बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर 26 अगस्त को सुनवाई
  • सुमित का सपना पूरा, पहली भिड़ंत लीजेंड फेडरर से
  • सुमित का सपना पूरा, पहली भिड़ंत लीजेंड फेडरर से
  • भागलपुर से 33 अपराधी गिरफ्तार
  • बाढ़ प्रभावित इलाकों में बीमारियां नियंत्रित के लिए पूरी तैयारियां हैं। सिद्धू
  • दीवार गिरने से युवक की दबकर मौत
बिजनेस


इलेक्ट्रॉनिक्स और हार्डवेयर स्टार्टअप से प्रस्ताव किया आमंत्रित

नयी दिल्ली 12 फरवरी (वार्ता) स्टार्टअप को बढ़ावा देने वाले इलेक्ट्रोप्रेन्योर पार्क ने इनक्यूबेशन और वर्चुअल एक्सेलेरेशन कार्यक्रम के लिए इलेक्ट्राॅनिक एवं हार्डवेयर स्टार्टअप से प्रस्ताव आमंत्रित किया है।
सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया (एसटीपीआई) और दिल्ली विश्वविद्यालय की शैक्षिक भागीदारी के साथ ही इलेक्ट्रॉनिक्स, सेमीकंडक्टर और एम्बेडेड सिस्टम को बढ़ावा देने वाली संस्था इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स एंड सेमीकंडक्टर एसोसिएशन (आईईएसए) द्वारा प्रबंधित इलेक्ट्रोप्रेन्योर पार्क ने ईएसडीएम स्टार्टअप का बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकार, उद्योग और शिक्षा के एकीकरण की एक पहल की है।
इसके तहत इलेक्ट्रोप्रेन्योर पार्क ने इनक्यूबेशन के 4 सफल दौरों के बाद इनक्यूबेशन और वर्चुअल एक्सेलेरेशन प्रोग्राम के लिए इलेक्ट्रॉनिक और हार्डवेयर स्टार्टअप से 5 वें कोहोर्ट के प्रस्तावों को आमंत्रित किया है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 फरवरी है। इलेक्ट्रोप्रेन्योर पार्क में इसी साल युवा छात्रों और स्टार्टअप पर केन्द्रीत अपनी तरह का पहला, प्री-इनक्यूबेशन प्रोग्राम भी लाँच किया गया है, जिसमें 3 महीने की अवधि के भीतर आइडिया स्टेज से एक प्रोटोटाइप के निर्माण के लिए कम से कम 10 स्टार्टअप को शामिल किया जा रहा है।
इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी स्टार्टअप समूहों के पास ईएसडीएम उद्योग के तकनीकी विशेषज्ञों तक पहुंच होगी और उन्हें एक कार्यशील प्रोटोटाइप बनाने साथ ही इनक्यूबेशन स्टेज के लिए कच्चे माल के लागत की भरपाई भी की जाएगी। चुने गए उद्यमियों को काम के लिए जगह प्रदान करने के अलावा इनक्यूबेटेड उद्यमियों को अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुसार अत्याधुनिक आरएफ और पावर प्रयोगशालाओं तक पहुंच, उद्योग और शिक्षा जगत के विशेषज्ञों द्वारा सलाह, कुशल आपूर्ति श्रृंखला और इको प्रोटोटाइप के साथ ही कराधान, कानूनी, वित्त, लेखा, पेटेंट खोज, प्रशिक्षण, व्यापार परामर्श औऱ निवेशकों के नेटवर्क के माध्यम से धन जुटाने के अवसर प्रदान की जाती है।
इलेक्ट्रोप्रेनुर पार्क दिल्ली विश्वविद्यालय के साउथ कैम्पस में है। इसका मकसद इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद डिजाइन और विकास पर काम करने वाले 50 स्टार्ट-अप को सहयोग प्रदान करना और अगले 5 साल में 5 वैश्विक कंपनियों का निर्माण करना है।
शेखर
वार्ता
image