Tuesday, Jul 23 2019 | Time 23:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ‘कॉफी विद डी’ फिल्म के निर्माता ने खुदखुशी की
  • कुमारस्वामी सरकार का हटना कर्नाटक की जनता के लिए खुशखबरी: भाजपा
  • कर्नाटक में बसपा के एकमात्र विधायक पार्टी से निष्कासित
  • गोड्डा से 725 कार्टन अवैध शराब बरामद
  • कर्नाटक की 14 माह पुरानी सरकार का पतन,छह वोट से गिरी सरकार
  • बाइक की ठोकर से युवक की मौत
  • जमीन कारोबारी की गोली मारकर हत्या
  • देवघर और बासुकीनाथ में कांवरियों का उमड़ा सैलाब
  • वज्रपात से झुलसकर दो किसानों की मौत
  • बुलंदशहर में उमसभरी गर्मी के कारण स्कूल की छात्राएं हो गई अचेत
  • भ्रष्ट आचरण में लिप्त में स्वास्थ्य मंत्री दे इस्तीफा : हेमंत
  • केशव दत्ता का सम्मान करेगा मोहन बगान
  • केशव दत्ता का सम्मान करेगा मोहन बगान
  • पीलीभीत से एसटीएफ ने किया 50 हजार के इनामी को गिरफ्तार
  • कुमारस्वामी ने दिया इस्तीफा, राज्यपाल ने किया मंजूर
बिजनेस


बधिर दिव्यांगों के लिए कौशल विकास केन्द्र शुरू

नयी दिल्ली 24 फरवरी (वार्ता) सेंटम फाउंडेशन ने बधिर दिव्यांगों के कौशल विकास के लिए राजधानी में सेंटम ग्रो प्रशिक्षण केन्द्र शुरू किया है।
सेंटम फाउंडेशन ने अमेरिका के ग्लोबल रीच आउट (ग्रो) के सहयोग से यह केन्द्र शुरू किया है। इसके साथ ही उसे दूरसंचार सेवायें देने वाली देश की सबसे बड़ी निजी टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल ने सहयोग किया है। इस केन्द्र में बधिर दिव्यांगों में नेतृत्व क्षमता विकास के साथ ही उद्यमशीलता का भाव जागृत किया जायेगा।
फांउडेशन ने बताया कि ग्रो के साथ मिलकर वह अब तक भारत,केन्या,ग्वाटेमाला,होंडुरास और थाईलैंड में एक हजार से अधिक बधिर दिव्यांगों में कौशल विकास किया जा चुका है और अब राजधानी दिल्ली में केन्द्र शुरू किया गया है ताकि यहां के बधिर दिव्यांगों को रोजगारोन्मुख बनाया जा सके।
इस केन्द्र में 40 छात्रों ने पंजीयन कराया है और उनका प्रशिक्षण शुरू हो गया है जहां उन्हें विभिन्न क्षेत्रों के अनुरूप प्रशिक्षित करने के साथ ही कार्यस्थल पर संवेदनशीलता आदि के भी प्रशिक्षण दिये जा रहे हैं।
सेंटम लर्निंग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक संजीव दुग्गल ने कहा कि उकनी कंपनी एक दशक से अधिक से कौशल विकास के क्षेत्र में कार्यरत है। उन्होंने कहा कि देश में 1.2 करोड़ बधिर दिव्यांग है और उनमें से 80 फीसदी औपचारिक तौर पर शिक्षित नहीं है तथा जिन्होंने पढ़ाई भी की है उन्हें शिक्षा के बाद बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
उन्होंने कहा कि इसी वर्ग को लक्षित कर यह प्रशिक्षण केन्द्र शुरू किया गया है जहां उनका कौशल विकास करने के साथ ही उनमें उद्यमशिलता का भाव भी पैदा किया जायेगा और आगे चलकर उन्हें रोजगार आदि शुरू करने में मदद करने की भी योजना है। केन्द्र में प्रशिक्षित छात्रों को रोजगार भी दिया जायेगा। तीन महीने के इस प्रशिक्षण में मल्टीमीडिया, अकाउंटिंग, बीपीओ/ डीपीओ और आईटी क्षेत्र में रोजगार के लिए प्रशिक्षित किया जायेगा और इसके लिए न्यूनतम अर्हता स्नातक है।
शेखर अर्चना
वार्ता
More News
आईएमएफ ने भारत का विकास अनुमान घटाया

आईएमएफ ने भारत का विकास अनुमान घटाया

23 Jul 2019 | 8:09 PM

वाशिंगटन 23 जुलाई (वार्ता) अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने वित्त वर्ष 2019-20 और 2020-21 के लिए भारत का विकास अनुमान घटाकर क्रमश: सात प्रतिशत और 7.2 प्रतिशत कर दिया है।

see more..
image