Thursday, Oct 17 2019 | Time 16:32 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कानपुर में तीन तस्कर गिरफ्तार ,नौ किलो 800 ग्राम अफीम बरामद
  • दक्षिण अफ्रीका को झटका, चोटिल मारक्रम रांची टेस्ट से बाहर
  • गुजरात में महिलाओं ने किया करवाचौथ निर्जला व्रत
  • पंचायती राज प्रणाली को तेलंगाना में मजबूत किया जाएगा: राव
  • देश में तेजी से घट रहे हैं गधे
  • हत्या के मामले भाई-भतीजे समेत तीन को उम्र कैद
  • कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाने का श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री पं नेहरू को : शकील
  • बेंगलुरु में बुजुर्ग दंपती के शव मिले
  • मिग-29 विमान ओमान के साथ अभ्यास में दिखायेंगे ताकत
  • विस अध्यक्ष की शक्तियों पर संदेह नहीं: काराजोल
  • त्रिपुरा में ब्रू शरणार्थियों के शिविरों बंद करेगा केंद्र
  • मोदी सरकार की अक्षमता से भविष्य चौपट : मनमोहन
  • मोदी सरकार की अक्षमता से भविष्य चौपट: मनमोहन
  • जेपी समूह मामला: एनबीसीसी के प्रस्ताव को फ़िलहाल सुप्रीम कोर्ट ने ठुकराया
बिजनेस


हायरमी का एआईसीटीई के साथ करार

नयी दिल्ली 13 सितंबर (वार्ता) कौशल परीक्षण रोजगार प्लेटफॉर्म के साथ नियोक्ताओं और छात्रों को एक मंच प्रदान करने वाले वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप हायरमी ने अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के साथ करार किया है।
हायरमी ने आज यहां बताया कि इस करार के तहत एआईसीटीई से संबद्ध कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों के छात्रों को वह अपनी तरह का पहला प्लेसमेंट सॉल्यूशन मुहैया करायेगी जबकि एआईसीटीई संबद्ध संस्थानों में इसकी पहुंच का विस्तार करने में मदद करेगी।
हायरमी के संस्थापक चॉको वलियप्पा ने कहा कि मौजूदा रिक्रूटमेंट माॅडल को बदलने के उद्देश्य से वेब पोर्टल आैर ऐप लांच किये गये हैं। ज्यादातर नियोक्ता निर्धारित बजट के तहत काम करते हैं और कैम्पस प्लेसमेंट के लिए चुनिंदा कॉलेजों में ही जा पाते हैं। ऐसे में कम प्रसिद्ध तथा दूरस्थ संस्थानों के विद्यार्थी भर्ती प्रक्रिया में पीछे छूट जाते हैं। हायरमी विद्यार्थियों को अपने कौशल तथा योग्यता के अनुसार नौकरियां पाने में मदद करती है। पोर्टल और ऐप तक पहुंचने के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता है।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2017-18 में 10 लाख युवाओं के कौशल का आँकलन करने और वर्ष 2018 के अंत तक एक लाख रोजगार के मौके पैदा करने का मिशन शुरू किया गया है। एआईसीटीई के साथ करार से इस मिशन को गति मिलेगी और लक्ष्य हासिल किया जा सकेगा।
शेखर अजीत
वार्ता
image