Thursday, Jul 18 2019 | Time 06:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नए करार के लिए रुस जा सकते हैं मादुरो : जॉर्ज
  • हवाई हमले में आईएस के दो आतंकवादी मारे गए
  • बंदूकधारी ने की संरा शांतिसैनिक सहित सात लोगों की हत्या
  • आईसीजे का फैसला जाधव के परिवार के लिए उम्मीदों भरा है :राहुल
  • हाफिज सईद की गिरफ्तारी पर ट्रंप ने दी प्रतिक्रिया
फीचर्स


प्रदूषित यमुना में घडियाल के प्रजनन से जगी उम्मीद

प्रदूषित यमुना में घडियाल के प्रजनन से जगी उम्मीद

इटावा , 18 जून (वार्ता) देश की सबसे प्रदूषित नदियों मे शुमार यमुना नदी मे घड़ियालो के दर्जनो बच्चे दिखने से यहां पर्यावरणविदों के बीच उत्साह की लहर दौड़ गयी है।

पर्यावरणविदों का मानना है कि घड़ियालों की मौजूदगी ने उस धारणा को भी खारिज कर दिया है है कि प्रदूषित जल मे घाडियाल का प्रजनन नही होता है । इससे यह उम्मीद भी बंध चली है कि आने वाले दिनो मे चंबल के अलावा यमुना नदी भी घाडियालो के प्रजनन के लिये एक मुफीद प्राकृतिक वास बन सकेगा ।

भारतीय वन्य जीव संस्थान की परियोजना नमामी गंगे के सरंक्षण अधिकारी डा.राजीव चौहान का कहना है कि यमुना नदी मे घाडियाल का प्रजनन यह इंगित करता है कि इस क्षेत्र मे यमुना नदी के पानी मे शुद्वता है और यह क्षेत्र घडियालो के प्राकृतिक आवास बन सकता है । यदि यमुना के पानी को शुद्व बनाने के जो प्रयास किये जा रहे है वह कारगर साबित होते हुए दिख रहे है । आने वाले दिनो मे यमुना नदी जैव विविधता के संरक्षण का एक नया मॉडल साबित हो सकता है।

वन्यजीव संरक्षण की दिशा मे काम रही संस्था सोसायटी फार कंजरवेशन आफ नेचर के सचिव संजीव चौहान का कहना है कि यमुना नदी मे बीच बीच मे छोडे जाने वाले पानी की वजह से इटावा के आसपास का पानी साफ हो गया है और इसी वजह से घडियालो ने यमुना नदी मे प्राकृतिक वास बनाया है । ऐसा लगने लगा है देश मे सबसे प्रदूषित यमुना नदी का पानी कही ना कही अब इटावा के आसपास साफ हो रहा है इसी वजह से अब घडियाल यमुना नदी मे प्रजनन करने लगे है। इस बदलाव को लेकर ऐसी उम्मीद बंधी है कि अब यमुना नदी भी घडियालो को पालने के लिये मुफीद मानी जा सकती है ।

सं प्रदीप

जारी वार्ता

More News
सेहत के लिये मुफीद है साइकिल

सेहत के लिये मुफीद है साइकिल

02 Jun 2019 | 7:39 PM

लखनऊ 02 जून (वार्ता) चिकित्सकों का मानना है कि साइकिल के नियमित इस्तेमाल से न सिर्फ मोटापा, मधुमेह और गठिया जैसी तमाम स्वास्थ्य संबंधी विसंगतियों से बचा जा सकता है बल्कि हृदय और श्वांस रोग से ग्रसित मरीजों के लिये यह अचूक औषधि का काम कर सकती है।

see more..
चंबल के पानी से चलती है यमुना की सांसे

चंबल के पानी से चलती है यमुना की सांसे

27 May 2019 | 2:36 PM

इटावा , 27 मई (वार्ता) उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश की सीमा को जोड़ने वाले दुर्गम बीहडो के बीच से कल कल बहती चंबल नदी का जल देश की सबसे प्रदूषित समझी जाने वाली यमुना नदी को जीवनदान देता है ।

see more..
विवाह में देरी से बढ़ रही है बांझपन की समस्या : चिकित्सक

विवाह में देरी से बढ़ रही है बांझपन की समस्या : चिकित्सक

27 Mar 2019 | 7:12 PM

लखनऊ, 27 मार्च, (वार्ता) विवाह में देरी के साथ ही अनियमित दिनचर्या और फास्ट फूड का बढ़ता प्रचलन देश में नापुसंकता अौर बांझपन की समस्या को विकराल कर रहा है।

see more..
स्वस्थ दिल के लिए संतुलित आहार एवं नियमित व्यायाम जरूरी: डॉ.मृणाल

स्वस्थ दिल के लिए संतुलित आहार एवं नियमित व्यायाम जरूरी: डॉ.मृणाल

16 Mar 2019 | 8:00 PM

दरभंगा, 16 मार्च (वार्ता) कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया (सीएसआई) के अध्यक्ष डॉ. मृणाल कांति दास ने स्वस्थ हृदय के लिए सरसों तेल को सर्वाधिक उपयुक्त खाद्य तेल बताते हुए आज कहा कि स्वस्थ दिल के लिए सिर्फ संतुलित आहार ही नहीं नियमित रुप से व्यायाम भी जरूरी है।

see more..
साधना के प्राचीन केंद्रों में शुमार है धूमेश्वर महादेव मंदिर

साधना के प्राचीन केंद्रों में शुमार है धूमेश्वर महादेव मंदिर

03 Mar 2019 | 7:07 PM

इटावा, 03 मार्च (वार्ता) यमुना नदी के तट पर बसे उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में स्थित पांडवकालीन धूमेश्वर महादेव मंदिर सदियों से शिव साधना के प्राचीन केंद्र के रूप में विख्यात रहा है।

see more..
image