Thursday, Feb 27 2020 | Time 15:24 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उत्तर पूर्वी दिल्ली हिंसा मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय ने केंद्र को पक्षकार बनाया, अगली सुनवाई 13 अप्रैल को
  • ताहिर पर केजरीवाल की चुप्पी स्तब्ध करने वाली: गंभीर
  • खाद्य तेल, दालें, अनाज स्थिर, चीनी नरम
  • कर्नाटक में मंदिर से चांदी के दरवाजे, अन्य वस्तुएं चोरी
  • फोटो कैप्शन-पहला सेट
  • फ्रांस में इमारत में आग लगने से पांच लोगों की मौत
  • ममता ने आजाद को शहीदी दिवस पर दी श्रद्धांजलि
  • न्यायपालिका को कमजोर करने की कोशिश दुर्भाग्यपूर्ण-गहलोत
  • कमरे से कनीय अभियंता का शव बरामद
  • सोना 90 रुपये टूटा, चाँदी भी कमजोर
  • कांग्रेस ने राष्ट्रपति से की अमित शाह काे हटाने की मांग
  • चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या हुई 2,744
  • सरकारी दुकानों पर बगैर परमिट एवं चुनिन्दा कम्पनियों की शराब बेचे जाने का आरोप
  • पेट्रोल-डीजल पाँच-पाँच पैसे सस्ते
  • यूएससीआईआरएफ की टिप्पणी तथ्यात्मक तौर पर गलत: रवीश
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


महाराष्ट्र की मुख्य राजनीतिक पार्टियां राज्य के दौरे में व्यस्त

औरंगाबाद 27 अगस्त (वार्ता) महाराष्ट्र में आगामी विधान सभा के चुनाव को देखते हुए सभी प्रमुख राजनीतिक पार्टियां जनता से मिलने के लिए राज्य का दौरा कर रही हैं।
राज्य में विधानसभा का चुनाव अक्टूबर में हो सकते हैं। पश्चिमी महाराष्ट्र बाढ़ की चपेट से परेशान है जबकि मराठवाड़ा इलाके सूखे की मार से परेशान है लेकिन सभी राजनीतिक पार्टियां चुनावी यात्रा में व्यस्त हैं।
राज्य में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी इसमें सबसे आगे दिख रही है और मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ‘महाजनादेश यात्रा’ का नेतृत्व कर रहे हैं। यह यात्रा यवतमाल से 05 अगस्त को शुरू हुयी थी।
श्री फडनवीस जनता को सरकार की विकास के लिए किये गये कार्यों और नीतियों को जनता के समक्ष रख रहे हैं और आगामी विधान सभा के चुनाव में जीत के लिए जनता से आशिर्वाद ले रहे हैं। मराठवाड़ा में मुख्यमंत्री के दूसरे चरण की यात्रा शुरू हो गयी है।
भाजपा की सहयोगी शिव सेना के युवा नेता और उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे दो चरणों में ‘जन संवाद यात्रा’ पूरा कर चुके हैं। उन्होंने आज नागपुर से तीसरे चरण की यात्रा शुरू की है। हालांकि राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (राकांपा) भी पीछे नहीं है। राकांपा ने भी शिव सुराज्य यात्रा सांसद डाॅक्टर अमोल कोल्हे के नेतृत्व में किया था। श्री कोल्हे लोकसभा चुनाव के पूर्व शिव सेना छोड़ कर राकांपा में शामिल हुए थे। श्री कोल्हे जनता के समक्ष भाजपा और शिव सेना की असफलता को गिना रहे हैं।
राकांपा अध्यक्ष शरद पवार की पुत्री और सांसद सुप्रिया सुले ने भी राज्य के कई हिस्सों में ‘संवाद यात्रा’ कर चुकी हैं।
कांग्रेस ने ‘महापर्दाफाश’ यात्रा की शुरूआत कल अमरावती से किया। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री विकास के नाम पर सरकार का खजाना खाली कर रहे हैं।
त्रिपाठी, उप्रेती
वार्ता
image