Saturday, Jan 18 2020 | Time 19:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गरीबों के लिए समर्पित है झारखंड सरकार : हेमंत
  • शबाना सड़क दुर्घटना में घायल, अस्पताल में भर्ती
  • झारखंड में 139 कैदी होंगे रिहा
  • राजधानी भोपाल में ‘सीवियर कोल्ड डे’ सहित मध्यप्रदेश के आठ शहरों में ‘कोल्ड डे’
  • सोमालिया में अल-शबाब के 16 आतंकवादी ढेर
  • गंगटा जंगल में लूटपाट कर रहे तीन अपराधी गिरफ्तार
  • आदर्श शास्त्री ने कांग्रेस का दामन थामा
  • ज़ी ने लांच किया भोजपुरी मूवी चैनल ज़ी बाइस्कोप
  • तृणमूल के लिए कब्र साबित होगा नंदीग्राम : घोष
  • नये चयनकर्ताओं की भर्ती के लिये बोर्ड ने मांगे आवेदन
  • नये चयनकर्ताओं की भर्ती के लिये बोर्ड ने मांगे आवेदन
  • कामेश्वर सिंह संस्कृत विवि का अगले वित्त वर्ष का पांच अरब से अधिक का बजट
  • जरीफ ने यूक्रेन विमान हादसे के राजनीतिकरण के प्रयास के खिलाफ दी चेतावनी
  • केजरीवाल करोड़ों लेकर विस टिकट बेच रहे हैं:शास्त्री
  • राजद्रोह के मामले में हार्दिक पटेल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


हम महाराष्ट्र में स्थिर सरकार बनाएंगे: शरद पवार

नागपुर,15 नवंबर(वार्ता) राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) प्रमुख शरद पवार ने शुक्रवार को कहा कि महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव की संभावना नहीं है और शिव सेना तथा उनकी पार्टी एक स्थिर सरकार बनाएगी जो अगले पांच वर्षों तक सत्ता में रहेगी।
श्री पवार ने कहा“ हम महाराष्ट्र में सरकार बनाएंगे जो अगले पांच वर्ष तक सत्ता में रहेगी और मध्यावधि चुनाव की कोई संभावना नहीं है।”
वह यहां दो दिवसीय दौरे पर आए हैं और उन्होंने असमय हुई बारिश की वजह से फसलों को हुए नुकसान की समीक्षा की है।
उन्होंने कहा“ राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के बावजूद केन्द्र सरकार को किसानों की मदद करनी होगी क्योंकि बारिश राष्ट्रीय स्तर पर हुई है और किसानों को प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा मिलना चाहिए तथा उनके कर्जे माफ होने चाहिए। इसके लिए वह लगातार केन्द्र सरकार पर दबाव बनाना जारी रखेंगे।”
महाराष्ट्र में सरकार के गठन के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि वह पार्टी नेताओं के साथ मिलकर एक साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर काम कर रहे हैं और इसी आधार पर सरकार में काम काज होगा।
पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस के इस बयान कि शिव सेना और राकांपा सरकार छह माह से अधिक नहीं चलेगी , पर प्रतिक्रिया करते हुए श्री पवार ने कहा,“मैं फडनवीस को जानता हूं लेकिन यह नहीं जानता कि वह ज्योतिष विज्ञान के भी छात्र हैं।”
यह पूछे जाने पर कि अगर शिव सेना सरकार बनाने के दौरान हिंदुत्व के मसले को उठाएगी तो क्या उनकी पार्टी इसका समर्थन करेगी, का जवाब देते हुए श्री पवार ने कहा साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर विचार करने के लिए राकांपा और कांग्रेस ने गुरुवार को शिवसेना नेताओं के साथ एक बैठक की थी और कांग्रेस तथा उनकी पार्टी ने हमेशा ही धर्मनिरपेक्षतावाद पर जोर दिया है।
जितेन्द्र आशा
वार्ता
image