Saturday, Sep 26 2020 | Time 02:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


भारतीय सिनेमा के गांधी थे वही शांताराम

पणजी, 21 नवंबर (वार्ता) महान फिल्मकार वही शांताराम के पुत्र किरण शांताराम को इस बात का गहरा दुख है कि केंद्र सरकार ने उनके पिता की विरासत एवं स्मृति को सुरक्षित करने के लिए कोई उल्लेखनीय कार्य आज तक नही किया।
शांताराम की स्मृति में स्थापित न्यास के अध्यक्ष किरण शांताराम ने 50वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह के दौरान एक भेंन्ट वार्ता में यह क्षोभ व्यक्त किया। अपने पिता की तरह गांधी टोपी पहने एवं विनम्र तथा शालीन व्यक्तित्व के धनी श्री शांताराम ने यूनीवार्ता से कहा कि दादा साहब फाल्के के बाद अगर भारतीय सिनेमा में कोई बड़ी हस्ती थी तो उनके पिता थे लेकिन सरकार ने उनकी सुध नहीं ली।
यह पूछे जाने पर की न्यास ने सरकार से कभी कोई मांग नही की,इस पर श्री शांताराम ने कहा कि हमारा काम सरकार से मांग करना नही। यह तो सरकार को खुद सोचना चाहिए और करना चाहिए। मेरे पिता 1901 में पैदा हुए उन्होंने भारतीय सिनेमा को अपने जीवन के 70 साल दिए और कुल 92 फिल्में बनाई जिनमें 55 फिल्मों का निर्देशन किया और 25 फिल्मों में खुद काम किया। उन्होंने ‘दो आंखे बारह हाथ’, ‘नवरंग’ और ‘झनक झनक बाजे पायलिया’ जैसी अनेक अमर एवं कल्पनाशील फिल्में दी लेकिन आज की नई पीढ़ी को उन्हें याद करने की फुरसत नही।
उन्होंने इस बात पर सहमति व्यक्त की कि उनके पिता ने सिनेमा के जरिये उसी तरह समाज को बदलने का काम किया जिस तरह महात्मा गांधी ने किया। उन्हें हिंदी सिनेमा के गांधी कहा जाय तो इसमे कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। गांधी के मूल्यों और आदर्शों पर उनके पिता चलते रहे और समाज सुधार का काम करते रहे। उनके लिए फ़िल्म मिशन था बाज़ार नही था।
उन्होंने कहा कि वह खुद बचपन से अपने पिता के साथ लगे रहे और निर्देशन में हाथ बटाते रहे। नवरंग के सह निर्देशक भी वह थे। उन्होंने कहा कि उनके पिता ने जीवन काल मे ही वी शांताराम न्यास का गठन किया था और वह हर साल उनकी जयंती 18 नवंबर को उनकी स्मृति में कार्यक्रम आयोजित करते हैं। लेकिन उनकी स्मृति को सुरक्षित रखने के लिए न तो कोई संग्रहालय है या स्थायी मंडप है न बड़ा कोई केंद्र सरकार का पुरस्कार। लेकिन फिर में कहूंगा हमारा काम सरकार से मांग करना नहीं है। यह सरकार को खुद सोचना है।
फ़िल्म समारोह के उद्घाटन पर शंकर महादेवन के फ्यूज़न म्यूज़िक का जिक्र होने पर उन्होंने दो आंखे बारह हाथ के मशहूर गाने ‘ऐ मालिक तेरे बंदे हम’ को याद किया और कहा कि आज ऐसे गाने कहाँ बनते है। उस गाने में कितना बड़ा मानवीय संदेश छिपा था।
अरविंद, शोभित
वार्ता
More News
महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने बिहार के पूर्व डीजीपी पर साधा निशाना

महाराष्ट्र के गृहमंत्री ने बिहार के पूर्व डीजीपी पर साधा निशाना

25 Sep 2020 | 5:23 PM

नागपुर 25 सितम्बर (वार्ता) महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने शुक्रवार को कहा कि बिहार के पूर्व पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) गुप्तेश्वर पांडे बिहार के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी रहे लेकिन उनके बोल ऐसे थे जैसे वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता हैं।

see more..
अजीत पवार ने विश्व फार्मासिस्ट दिवस पर  फार्मासिस्टों को दी बधाई

अजीत पवार ने विश्व फार्मासिस्ट दिवस पर फार्मासिस्टों को दी बधाई

25 Sep 2020 | 5:09 PM

औरंगाबाद, 25 सितंबर (वार्ता) महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने विश्व फार्मासिस्ट दिवस के मौके पर शुक्रवार को फार्मासिस्टों को बधाई दी है।

see more..
शाैविक, सावंत का बयान दर्ज करने की एनसीबी को मिली अनुमति

शाैविक, सावंत का बयान दर्ज करने की एनसीबी को मिली अनुमति

24 Sep 2020 | 11:05 PM

मुम्बई, 24 सितम्बर (वार्ता) मुम्बई में एनडीपीएस की विशेष अदालत ने गुरुवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) को सुशांत सिंह राजपूत के निजी स्टाफ दिपेश सावंत और शाैविक चक्रवर्ती का बयान रिकाॅर्ड करने की अनुमति दे दी।

see more..
पूर्वोत्तर के अधिकतर हिस्सों में भारी बारिश और गरज के छींटे पड़ने के आसार

पूर्वोत्तर के अधिकतर हिस्सों में भारी बारिश और गरज के छींटे पड़ने के आसार

24 Sep 2020 | 10:41 PM

पुणे ,24 सितंबर (वार्ता) पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उत्तराखंड, दक्षिण-पूर्व मध्य प्रदेश, झारखंड, दक्षिण गुजरात क्षेत्र और कोंकण और गोवा में अलग-अलग स्थानों पर बहुत तेज बारिश होने के आसार है।

see more..
image