Sunday, Sep 20 2020 | Time 15:53 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राज्यसभा में हुए हंगामे के मद्देनजर लोकसभा की कार्यवाही बाधित
  • कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन आयेगा : मोदी
  • ट्रेनों से अहमदाबाद आए यात्रियों में से 25 कोरोना पॉजिटिव
  • एमएसपी प्रणाली जारी रहेगी: मोदी
  • पाककिस्तान के नापाक मंसूबे बेनकाब
  • अभी कई विभाग में सुधार की जरूरत : धोनी
  • अभी कई विभाग में सुधार की जरूरत : धोनी
  • किसानों ने किया नेशनल हाइवे किया जाम
  • रोहतास में सड़क दुर्घटना में एक व्यक्ति की मौत
  • भागलपुर में विशेष अभियान में 38 अपराधी गिरफ्तार
  • लोकसभा की कार्यवाही चार बजे तक स्थगित
  • विपक्ष के भारी हंगामें के बीच कृषि सुधारों के विधेयकों पर संसद की मुहर
  • मुंबई में निषेधाज्ञा , शिवसेना नीत सरकार की चाल: पाटिल
  • गहलोत ने दिये सरकारी सेवा में समयबद्ध भर्ती करने के निर्देश
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


पहली संगीतकार जोड़ी थी हुस्नलाल-भगतराम की

..पुण्यतिथि 26 नवंबर के अवसर पर ..
मुंबई 25 नवंबर नवंबर (वार्ता) भारतीय फिल्म संगीत जगत में अपनी धुनों के जादू से श्रोताओं को मदहोश करने वाले संगीतकार तो कई हुए और उनका जादू भी श्रोताओं के सर चढ़कर बोला लेकिन उनमें कुछ ऐसे भी थे जो बाद में
गुमनामी के अंधेरे में खो गये और आज उन्हें कोई याद भी नहीं करता। फिल्म इंडस्ट्री की पहली संगीतकार जोड़ी हुस्नलाल-भगतराम भी ऐसी ही एक प्रतिभा थे।
आवाज की दुनिया के बेताज बादशाह मोहम्मद रफी को प्रारंभिक सफलता दिलाने में हुस्नलाल-भगतराम का अहम योगदान रहा था। चालीस के दशक कें अंतिम वर्षो में जब मोहम्मद रफी फिल्म इंडस्ट्री में बतौर पार्श्वगायक अपनी पहचान बनाने में लगे थे तो उन्हें काम ही नही मिलता था। तब हुस्नलाल-भगतराम की जोड़ी ने उन्हें एक गैर फिल्मी गीत गाने का अवसर दिया था।
वर्ष 1948 में महात्मा गांधी की हत्या के बाद इस जोड़ी ने मोहम्मद रफी को राजेन्द्र कृष्ण रचित गीत ..सुनो सुनो ऐ दुनिया वालो बापू की अमर कहानी..गाने का अवसर दिया। देशभक्ति के जज्बे से परिपूर्ण यह गीत श्रोताओं में काफी लोकप्रिय हुआ। इसके बाद अन्य संगीतकार भी मोहम्मद रफी की प्रतिभा को पहचानकर उनकी तरफ आकर्षित हुये और अपनी फिल्मों में उन्हें गाने का मौका देने लगे।
मोहम्मद रफी हुस्नलाल-भगतराम के संगीत बनाने के अंदाज से काफी प्रभावित थे और उन्होंने कई मौकों पर इस बात का जिक्र भी किया है। मोहम्मद रफी सुबह चार बजे ही इस संगीतकार जोडी के घर तानपुरा लेकर चले जाते थे जहां वह संगीत का रियाज किया करते थे।
प्रेम.संजय
जारी.वार्ता
More News
‘माई फेमिली,माई रिस्पांसिबिलिटी’ अभियान में पुलिस की भी हो भागीदारी: भुजबल

‘माई फेमिली,माई रिस्पांसिबिलिटी’ अभियान में पुलिस की भी हो भागीदारी: भुजबल

20 Sep 2020 | 9:33 AM

नासिक 20 सितम्बर(वार्ता) महाराष्ट्र के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति और नासिक जिले के प्रभारी मंत्री छगन भुजबल ने कहा है कि ‘माई फेमिली , माई रिस्पांसबिलिटी’ अभियान के तहत सर्वे टीम में पुलिस को भी शामिल किया जाना चाहिए।

see more..
अंडमान-निकोबार में गरज के साथ आंधी-तूफ़ान की आशंका

अंडमान-निकोबार में गरज के साथ आंधी-तूफ़ान की आशंका

19 Sep 2020 | 10:40 PM

पुणे, 19 सितंबर (वार्ता) अंडमान-निकोबार द्वीप के कई इलाकों में अगले 24 घंटों के दौरान 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवाएं चल सकती हैं और गरज के साथ छीटें भी पड़ सकते हैं।

see more..
नहीं रहीं वाम नेता रोजा, 92 वर्ष की उम्र में निधन

नहीं रहीं वाम नेता रोजा, 92 वर्ष की उम्र में निधन

19 Sep 2020 | 6:50 PM

मुंबई, 19 सितंबर (वार्ता) वाम नेता एवं पूर्व सांसद रोजा देशपांडे का शनिवार को यहां निधन हो गया। वह 92 वर्ष की थीं।

see more..
जायकवाड़ी बांध से पानी छोड़े जाने को लेकर लोगों को किया गया सतर्क

जायकवाड़ी बांध से पानी छोड़े जाने को लेकर लोगों को किया गया सतर्क

19 Sep 2020 | 5:55 PM

जालना, 19 सितंबर (वार्ता) महाराष्ट्र के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री और जालना जिले के अभिभावक मंत्री राजेश टोपे ने शनिवार को गोदावरी नदी के पास रहने वाले लोगों से पैठण से जायकवाड़ी बांध से बड़ी मात्रा में अतिरिक्त पानी छोड़े जाने को लेकर सतर्क रहने की अपील है।

see more..
image