Monday, Jan 20 2020 | Time 23:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • दिल्ली चुनाव के लिए 496 प्रत्याशियों ने भरे पर्चे
  • झारखंड में मंत्रिमंडल का गठन नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण : बाबूलाल
  • मंत्रिमंडल का विस्तार मतभेद पैदा करेगा : सिद्दारमैया
  • दिल्ली चुनाव के लिए राजद ने की प्रत्याशियों की घोषणा
  • चैंपियन ऑफ चेंज पुरस्कार से नवाजे गए हेमंत
  • चाड में बम विस्फोट, 11 लोगों की मौत
  • हेमंत ने बिजली की समस्या पर झारखंडवासियों को लिखा पत्र
  • सोनिया ने कांग्रेस शासित राज्यों में गठित की समितियां
  • देश में तीन करोड़ राशन कार्ड फर्जी : पासवान
  • बरेली में लेखपाल चार हाजार रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार
  • सोनिया ने गठित की घोषणा पत्र क्रियान्वयन समितियां
  • गोरखपुर पुलिस ने किए दो वांछित इनामी बदमाश गिरफ्तार
  • नागरिकता संशोधन कानून में सुधार की जरुरत: नजीब
  • बांका में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद
  • जौनपुर में तस्कर गिरफ्तार,मकान से साढ़े आठ लाख का गांजा बरामद
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


पटोले निर्विरोध चुने गए महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष

मुंबई 01 दिसंबर (वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नाना पटोले को रविवार को निर्विरोध महाराष्ट्र विधानसभा का नया अध्यक्ष चुन लिया गया।
इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने उम्मीदवार किशन कठोरे का नामांकन वापस ले लिया था।
छप्पन वर्षीय श्री पटोले शिव सेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस के गठबंधन महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (एमवीए) के उम्मीदवार हैं।
इससे पहले महाराष्ट्र में एमबीए की अगुवाई में उद्धव ठाकरे की सरकार ने शनिवार को विधानसभा में आसानी से अपना बहुमत साबित कर दिया।
राज्य की 288 सदस्यीय विधानसभा में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को बहुमत के लिए 145 विधायकों का समर्थन चाहिए था जबकि उनके पक्ष में 169 वोट पड़े।
राज्य विधानसभा में 105 विधायकों वाले सबसे बड़े दल भाजपा ने मतदान से पहले सदन का बहिर्गमन किया जबकि चार विधायक तटस्थ रहे।
कांग्रेस पार्टी के किसान मोर्चे के पूर्व नेता श्री पटाेले विदर्भ क्षेत्र के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) कुनाबी समुदाय से संबंध रखते हैं। श्री पटोले चार बार विधायक रह चुके हैं और वह विदर्भ की सकोली विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं।
श्री पटोले ने 2014 में कांग्रेस छोड़कर भाजपा के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। श्री पटोले ने राकांपा के उम्मीदवार प्रफुल पटेल को भंडारा-गोंडिया सीट से हराया था।
श्री पटोले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 से 2019 के बीच पहले कार्यकाल के दौरान उनके खिलाफ बगावत करने वाले पहले नेता थे।
इस बार उन्होंने केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के खिलाफ नागपुर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ा था। हालांकि इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा।
रवि.संजय
वार्ता
image