Saturday, Jan 25 2020 | Time 18:49 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नेतन्याहू ने 71 वें गणतंत्र दिवस पर मोदी को दी बधाई
  • सीबीआई के 28 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुलिस पदक
  • नागपुर में युवक की पत्थर से कुचल कर हत्या
  • हिमाचल थीम राज्य के रूप में भाग लेगा सूरजकुंड मेले में
  • यूएमसी ने केनरा बैंक की तीन शाखाओं को किया सील
  • पुणे में चुंगी के खिलाफ अनिश्चितकालीन आंदोलन की चेतावनी
  • गत्ता फैक्ट्री में लगी आग
  • मतदाताओं की जागरूकता ही सशक्त लोकतंत्र की आधारशिला : द्रौपदी
  • इनेलो में टूट थम नहीं रही है, कैथल जिलाध्यक्ष कांग्रेस में शामिल
  • अफगानिस्तान में सात तालिबानी आतंकवादी ढेर
  • भाजपा का गौरक्षा का नारा और दावा झूठाः हुड्डा
  • पाकिस्तान ने बंगलादेश से जीती टी-20 सीरीज
  • पाकिस्तान ने बंगलादेश से जीती टी-20 सीरीज
  • “हम सभी नागरिक हैं”: ममता
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


दक्षिण भारत में तेज बारिश के आसार

पुणे 02 दिसंबर (वार्ता) दक्षिण भारत के तमिलनाडु़, पुड्डचेरी, काराईकल, केरल, माहे और लक्षद्वीप के विभिन्न स्थानों पर अगले 24 घंटों के दौरान तेज बारिश के आसार है।
मौसम विभाग ने सोमवार को बताया कि इस दौरान दक्षिण के तटीय आंध्र प्रदेश, रॉयलसीमा और तटीय तथा दक्षिण आंतरिक कर्नाटक के विभिन्न स्थानों पर भारी बारिश की बहुत अधिक संभावना है। इस दौरान मध्य महाराष्ट्र, तटीय आंध्र प्रदेश, यनम, रॉयलसीमा, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल, माहे, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी, कराईकल और लक्षद्वीप के विभिन्न स्थानों पर गरज के छींटे पड़ने के आसार है।
दक्षिण पश्चिम अरब सागर और दक्षिण-पूर्व अरब सागर के साथ-साथ कर्नाटक, केरल और दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी, दक्षिण तटीय तमिलनाडु, मन्नार की खाड़ी ,कोमोरिन, मालद्वीप क्षेत्रों में 40 से 50 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाये चलने के असार है। मछुआरों को इन क्षेत्रों नहीं जाने की चेतावनी दी गयी है।
इस दौरान उत्तराखंड़, असम, मेघायल, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के विभिन्न स्थानों पर घना कोहरा छाये रहने के आसार है।
पिछले 24 घंटों के दौरान रॉयलसीमा, तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और लक्षद्वीप के अधिकतर हिस्सों में बारिश हुयी और गरज के साथ छींटे पड़े। तटीय कर्नाटक और केरल और तटीय आंध्र प्रदेश के कुछ स्थानों पर इस दौरान बारिश हुयी और गरज के साथ छींटे पड़े। अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, उप हिमालीय पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पश्चिम उत्तर प्रदेश, पूर्वी और पश्चिमी मध्य प्रदेश, तेलंगाना, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के विभिन्न हिस्सों में इस दौरान तेज बारिश हुयी।
केरल, माहे, तमिलनाडु, पुड्डुचेरी और कराईकल के विभिन्न हिस्सों में इस दौरान आंधी चली।
इस दौरान पूर्वोत्तर मानसून केरल और तमिलनाडु में सक्रिय रहा।
नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गंगेय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, राजस्थान, छत्तीसगढ़, विदर्भ, गुजरात, कोकर्ण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में इस दौरान मौसम शुष्क रहा।
हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों में सोमवार की सुबह घना कोहरा छाया रहा।
पंजाब, पश्चिम मध्यप्रदेश, असम और मेघालय के विभिन्न हिस्सों में घना कोहरा छाया रहा। पंतनगर और कूनूर में दृश्यता का स्तर 25 मीटर, इरिनपुरा और चितौड़गढ़ में दृश्यता का स्तर 50 मीटर, शाहजापुर, लुधियाना और हाफलोग में दृश्यता का स्तर 200 मीटर दर्ज किया गया।
हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली और जम्मू और कश्मीर के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से कम था। ओडिशा, पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, विदर्भ, तेलंगाना और उत्तर आंतरिक कर्नाटक के कुछ क्षेत्रों में रात का तापमान सामान्य से अधिक था।
असम, मेघालय, गंगेय पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार, पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र, कच्छ, कोंकण, गोवा, छत्तीसगढ़, तटीय आंध्रप्रदेश, रायलसीमा, तमिलनाडु और तटीय कर्नाटक, ओडिशा, मध्य महाराष्ट्र और तेलंगाना के कुछ जगहों पर तापमान सामान्य से अधिक था।
अरुणाचल प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, पंजाब, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल के साथ-साथ बिहार, पश्चिम उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, मराठवाड़ा, विदर्भ, तटीय आंध्रप्रदेश, रायलसीमा और तमिलनाडु के शेष स्थानों में तापमान सामान्य से अधिक था। देश के बाकी हिस्सों में तापमन सामान्य रहा।
देश के मैदानी इलाके में सबसे कम तापमान पूर्वी राजस्थान के सीकर में 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
राम.संजय
जारी.वार्ता
image