Thursday, Jan 23 2020 | Time 19:43 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मनसे ने राज ठाकरे को नया हिंदू हृदय सम्राट घोषित किया
  • बस्ती जिला जेल में तैनात तीन बन्दी रक्षक निलंबित
  • अमर कहानी रविदास जी में नेगेटिव किरदार में नजर आयेंगे हेमंत पांडेय
  • त्रिपुरा में बोस की जयंती पर रंगारंग कार्यक्रम
  • अतुल राय को संसद में सदस्यता की शपथ के लिए मिली दो दिन की पैरोल
  • जापानी राजदूत ने किया जापान इंडिया इंस्टीच्यूट फाॅर मैन्युफैक्चरिंग का उद्घाटन, 30 हजार युवा होंगे प्रशिक्षित
  • मुंबई से चेंगडू के लिए उड़ान शुरू करेगी इंडिगो
  • लखनऊ नगर निगम अतिक्रमण हटाकर ठीक कराये सड़के :उच्च न्यायालय
  • बायो ईंधन के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाएंगे भारत ब्राजील
  • शिक्षा सबसे बड़ा शक्तिशाली हथियार है,जिससे दुनिया बदली जा सकती:आनंदीबेन
  • बीएलके सेंटर फॉर बीएमटी में एक हजार से अधिक बोन मैरो ट्रांसप्लांट
  • पंजाब में पीली कुंगी का प्रकोप बढ़ा
  • मनसे ने पार्टी का नया झंडा पेश किया
  • 5 जी स्मार्टफोन के साथ भारतीय बाजार में प्रवेश करेगी आईक्यूओओ
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


हर शुक्रवार कलाकार का भविष्य तय करता है : यामी

मुंबई 08 दिसंबर(वार्ता) बॉलीवुड अभिनेत्री यामी गौतम का कहना है कि हर शुक्रवार फिल्म इंडस्ट्री में आपका भविष्य तय करता है जो बहुत ही दुखभरी बात है लेकिन यह सच है।
यामी गौतम की हाल ही में फिल्म बाला प्रदर्शित हुयी है। यामी गौतम ने बताया कि फिल्मों का फ्लॉप होना एक कलाकार को किस हद तक बदल देता है। उनसे एक कार्यक्रम के दौरान जब पूछा गया कि एक समय ऐसा होता है जब आपकी फिल्में चल रही होती है और इस दौरान आपके पास कॉल आ रही होती है। लोग आपके बारे में बातें कर रहे होते हैं लेकिन एक फेस सभी कलाकारों की लाइफ में ऐसा भी आता है जब आपकी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर काम नहीं कर रही होती हैं। ऐसे में एक कलाकार के हौसले टूटने लग जाते हैं।
इस पर यामी ने कहा, ये बहुत ही सही बात है। हर शुक्रवार फिल्म इंडस्ट्री में आपका भविष्य तय करता है। यह बहुत ही दुखभरी बात है लेकिन यह सच है। कई बार आपकी फिल्में नहीं चल रही होती हैं और कई बार आपके पास ऐसी फिल्मों के ऑफर आ रहे होते हैं कि आप उन्हें करने के लिए हामी नहीं भर पाते हैं। ये सब बातें हमें ये सोचने पर मजबूर कर देती हैं कि हम इस इंडस्ट्री में क्यों हैं। क्या ये जगह मेरे लिए ठीक है लेकिन जब मैं खुद से ये सवाल कर रही होती हूं तभी मेरी अंतरात्मा से एक आवाज आ रही होती है। मुझे ऐसा लगने लगता है कि नहीं, चंडीगढ़ से यहां आने का मेरा डिसीजन सही है बस मुझे सब्र रखते हुए सही मौके और वक्त का इंतजार करना है।
प्रेम,जतिन
वार्ता
image