Friday, Apr 19 2024 | Time 23:16 Hrs(IST)
image
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


सत्ता के लिए चुनाव आयोग का दुरुपयोग कर रही भाजपा: शरद

कोल्हापुर 21 फरवरी (वार्ता) राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा-शरदगुट) प्रमुख शरद पवार ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी पर चुनाव आयोग (ईसी) की मदद से सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया और दावा किया कि कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण हाल ही में संसद में प्रस्तुत सरकारी श्वेत पत्र में अपने नाम का उल्लेख किये जाने के कारण भगवा पार्टी में शामिल हुए हैं।
श्री पवार ने यहां एक मीडिया सम्मेलन को संबोधित करते हुए पार्टी का चुनाव चिन्ह और नाम अजित पवार गुट को सौंपने के फैसले के लिए चुनाव आयोग की कड़ी आलोचना की। श्री पवार ने खुद ही अपनी पार्टी (राकांपा) की स्थापना की थी।
अस्सी वर्षीय दिग्गज नेता ने कहा,“भले ही मैंने राकांपा की स्थापना की, चुनाव आयोग ने पार्टी को पार्टी चिन्ह के साथ एक प्रतिद्वंद्वी समूह को सौंप दिया और यह पूरी तरह से सत्ता का दुरुपयोग था। सभी विपक्षी दल के नेताओं ने पहले ही चुनाव आयोग को दल-बदल विरोधी सक्षम कानून बनाने के लिए एक पत्र भेज दिया है।”
श्री पवार ने दावा किया,“जब महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण भाजपा में चले गए तो हर कोई आश्चर्यचकित रह गया। लेकिन चव्हाण ने ये फैसला इसलिए लिया क्योंकि भाजपा के श्वेत पत्र में दो नाम थे- अशोक चव्हाण और आदर्श सोसायटी घोटाले का।संभवतः उन्हें भाजपा से खतरा महसूस हो रहा था।”
उन्होंने कहा कि इंडिया समूह ने देर से कोई बैठक नहीं की है क्योंकि कुछ गठबंधन सहयोगियों के बीच कुछ मतभेद थे। लेकिन उम्मीद है कि उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में कोई स्थिरता नहीं होने के बावजूद इंडिया समूह के सभी साथी एकजुट होकर काम करेंगे। विपक्षी गठबंधन के नेता जल्द ही इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे।”
राकांपा के कांग्रेस में विलय की अटकलों पर श्री पवार ने कहा,“कांग्रेस के साथ विलय की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि हमारे तीन गठबंधन सहयोगी, शिवसेना (यूबीटी), राकांपा (शरद) और कांग्रेस एक साथ काम कर रहे हैं तथा इन तीनों पार्टियों के बीच कोई मतभेद नहीं है।”
श्री पवार ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की चल रही ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ का असर आने वाले लोकसभा चुनाव पर पड़ेगा। उन्होंने याद किया कि जब श्री गांधी के संपर्क अभियान - भारत जोड़ो यात्रा - का पहला चरण संपन्न हुआ, तो कांग्रेस ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव जीता।
चंडीगढ़ में मेयर चुनाव पर उच्चतम न्यायालय के फैसले पर श्री पवार ने खुशी जताई। उन्होंने कहा कि देश में हमारी कानून व्यवस्था अभी भी विश्वसनीय है।
श्री पवार ने कहा कि उनकी पार्टी आगामी आम चुनाव में लक्षद्वीप और अंडमान सहित राज्य के बाहर अपने उम्मीदवार उतारेगी।
संजय
वार्ता
image