Thursday, Apr 18 2024 | Time 00:33 Hrs(IST)
image
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


अजीत पवार ने अंतरिम बजट पेश किया

मुंबई, 27 फरवरी (वार्ता) महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री अजीत पवार ने मंगलवार को राज्य विधानमंडल में 2024-25 के लिए 9,734 करोड़ रुपये के राजस्व घाटे के साथ महायुति सरकार का पहला अंतरिम बजट पेश किया।
श्री पवार ने 4,98,758 करोड़ रुपये के राजस्व व्यय के मुकाबले 4,98,758 करोड़ रुपये की राजस्व प्राप्तियों के साथ 5,08,492 करोड़ व्यय का अनुमान लगाया है। ।
2024-25 में कुल व्यय के लिए 6,00,522 करोड़ रुपये का परिव्यय प्रस्तावित है।
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख श्री पवार ने अपने भाषण में कहा कि वार्षिक योजना 2024-25 में योजना व्यय के तहत 1.92 लाख करोड़ रुपये का परिव्यय प्रस्तावित किया गया है।
इसमें अनुसूचित जाति उप-योजना के लिए 15,839 करोड़ रुपये और जनजातीय उप-योजना के लिए 15,360 करोड़ रुपये का परिव्यय शामिल है।
वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि एक खरब डॉलर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने के लिए राज्य में पूंजी निवेश को काफी बढ़ाया जा रहा है।
उन्होंने दावा किया बुनियादी सुविधाओं पर एक रुपया खर्च करने पर सकल राज्य घरेलू उत्पाद में 2.50-3.50 रुपये की वृद्धि होती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम द्वारा विभिन्न बुनियादी ढांचागत परियोजनाएं समयबद्ध तरीके से शुरू और पूरी की गई हैं। श्री पवार ने कहा कि आने वाले वर्ष में लगभग एक लाख महिलाओं को रोजगार के अवसर दिये जायेंगे।
बजट में वित्तीय वर्ष में 7,000 किमी सड़कों का निर्माण पूरा करने का भी प्रस्ताव है।
उन्होंने बड़ी घोषणाएं करते हुए कहा कि राज्य में 18 लघु उद्योग हब स्थापित करने के साथ एक नई सूक्ष्म और लघु उद्यम नीति लागू की जाएगी तथा निर्यात को बढ़ावा देने के लिए राज्य में विभिन्न स्थानों पर पांच औद्योगिक पार्क स्थापित किए जाएंगे, मिरकरवाड़ा मछली पकड़ने के बंदरगाह का नवीनीकरण किया जाएगा और रत्नागिरी में भागवत बंदरगाह के लिए 300 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।
मंत्री ने बताया कि सरकार राज्य में 7,000 किलोमीटर सड़क नेटवर्क पर काम करेगी, इसके अलावा रेलवे नेटवर्क को भी बढ़ाया जाएगा और 11 मराठा किलों को यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल घोषित करने के लिए एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है।
उन्होंने सार्वजनिक कार्यों के लिए 19,000 करोड़ रुपये और शहरी विकास योजनाओं के लिए 10,000 करोड़ रुपये के प्रावधान की भी घोषणा की, और पर्यटकों के लिए श्रीनगर (कश्मीर) में और तीर्थयात्रियों के लिए अयोध्या (उत्तर प्रदेश) में महाराष्ट्र भवन का निर्माण किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि सरकार राज्य की उन 37,000 आंगनबाड़ियों को सौर ऊर्जा सेट प्रदान करेगी, जहां बिजली की पहुंच नहीं है, और राज्य के किसानों के लिए शुरू की गई एक नई योजना के तहत मांग पर 8,50,000 नए सौर कृषि पंप दिए जाएंगे।
उन्होंने कहा कि राज्य महिलाओं को रोजगार देने के लिए 5,000 गुलाबी ऑटोरिक्शा उपलब्ध कराएगा, हर घर जल योजना के तहत एक करोड़ नल लगाएगा और बाढ़ रोकथाम योजनाओं के लिए 2,500 करोड़ रुपये खर्च करेगा।
बजट पर चर्चा 28 फरवरी और एक मार्च को होगी।
जांगिड़.संजय
वार्ता
image