Friday, Nov 15 2019 | Time 18:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ग्रेटर नोएडा में पोलारिस एक्सपीरियंस ज़ोन लाँच
  • रात्रि ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को मिलेगी गर्म चाय और बिस्कुट
  • चिदंबरम की जमानत याचिका हाईकोर्ट ने की खारिज
  • मुंबई की कोर टीम बरकरार, युवराज सहित 12 खिलाड़ी रिलीज
  • झारखंड में राबड़ी देवी, तेजस्वी और तेजप्रताप होंगे राजद के स्टार प्रचारक
  • हिमाचल में चलेगा एक माह का नशामुक्ति अभियान
  • विशेष अभियान में तीन कुख्यात समेत 97 अपराधी गिरफ्तार
  • अध्यापक पात्रता परीक्षा के ‘सफल संचालन के लिए‘ शिक्षा बोर्ड ने करवाया हवन
  • हम महाराष्ट्र में स्थिर सरकार बनाएंगे: शरद पवार
  • प्रदूषण : राज्यसभा सदस्यों के आवागमन के लिए इलेक्ट्रिक वाहन
  • पूर्वोत्तर के कृषि उत्पादों को वैश्विक बाजार में प्रोत्साहन
  • जालंधर में झगड़े के पांच आरोपी गिरफ्तार
  • राष्ट्रीय प्रैस दिवस पर खट्टर की मीडियाकर्मियों को बधाई
  • अंतरराष्ट्रीय नगर कीर्तन के चढ़ावे से श्री गुरु नानक देव के नाम पर स्कूल खोला जाए:उप समिति
राज्य » अन्य राज्य » HDIE


हरियाणा. चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़

राज्य में सर्वाधिक 118 उम्मीदवार हिसार और सबसे कम 35-35 मेवात और पलवल विधानसभा क्षेत्र में हैं। इनके अलावा अम्बाला जिले में 36, झज्जर में 58, कैथल 57, कुरुक्षेत्र 44, सिरसा 66, यमुनानगर 46, महेंद्रगढ़ 45, चरखी दादरी 27, रेवाड़ी 41, जींद 63, पंचकूला 24, फतेहाबाद 50, रोहतक 58, पानीपत 40, सोनीपत 72, फरीदाबाद 69, भिवानी 71, करनाल 59 और गुड़गांव विधानसभा क्षेत्र में 54 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

चुनाव में मुख्य रूप से मुकाबला सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और विपक्षी कांग्रेस के बीच देखा जा रहा है। ये दोनों दल सभी 90-90 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। पिछले चुनाव में वर्ष 2014 में 19 सीटें जीत कर दूसरे नम्बर पर ही इंडियन नेशनल लोकदल(इनेलो) इस बार चुनावों तक पहुंचते दोफाड़ को चुकी है और इसमें से अब जननायक जनता पार्टी(जजपा) का जन्म हो चुका है। इनेलो और जजपा कुछ सीटों पर मुकाबले को अवश्य की त्रिकोणीय बनाएंगे। बहुजन समाज पार्टी(बसपा), आम आदमी पार्टी(आप), स्वराज इंडिया, लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी(लोसुपा) ने भी कुछ कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे हैं।

इस चुनाव में मुख्य उम्मीदवारों में सत्तारूढ़ भाजपा की ओर से राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर(करनाल), उनके कैबिनेट सहयोगी रामविलास शर्मा(महेंद्रगढ़), कैप्टन अभिमन्यु(नारनौंद), ओमप्रकाश धनकड़(बादली), अनिल विज (अम्बाला), कविता जैन(सोनीपत), कृष्णलाल पंवार(इसराना), कणदेव कम्बोज(रादौर), प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला(टोहाना), विधानसभा अध्यक्ष कंवलपाल गुर्जर (जगाधरी), ओलम्पियन संदीप सिंह(पिहोवा), योगेश्वर दत्त (बरौदा), बबीता फोगाट(दादरी), कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा(गढ़ी सांपला किलोई), रणदीप सिंह सुरजेवाला (कैथल), पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप शर्मा(गन्नौर) और रघुबीर सिंह कादियान(बेरी), किरण चौधरी (तोशाम), गीता भुक्कल(झज्जर), कर्ण सिंह दलाल (पलवल) और कुलदीप सिंह बिश्नोई(आदमपुर), इनेलो के अभय सिंह चौटाला (ऐलनाबाद) और जजपा के दुष्यंत चौटाला(उचाना), दिग्विजय चौटाला(सिरसा) और नैना चौटाला (बाढड़ा) हैं।

चुनावों के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने तथा चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण ढंग से सुनिश्चित करने के लिये केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की 130 कम्पनियां तैनात की गई थीं। इनके अलावा राज्य में अनेक अधिकारी-कर्मचारी तथा लगभग 75000 हजार पुलिसकर्मी भी तैनात किये गये थे। इनमें 26,896 पुलिस और 22,806 होमगार्ड के जवान, 7,936 विशेष पुलिस अधिकारी और छह हजार पुलिस प्रशिक्षु थे।
रमेश 2158वार्ता
More News

उप चुनाव में परिवारवाद ने डुबोई राजग और कांग्रेस की नैया

24 Oct 2019 | 11:15 PM

पटना 24 अक्टूबर (वार्ता) न्याय के साथ विकास के मूलमंत्र के पैरोकार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई वाले सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और कांग्रेस की नैया उपचुनाव में परिवारवाद के कारण डूब गई।

see more..
image