Tuesday, Aug 11 2020 | Time 22:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लखनऊ में भडकाऊ वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर प्रसारित करने वाले दो गिरफ्तार
  • गोपालगंज में दीवार गिरने से किशोर की दबकर मौत, दो घायल
  • मानचित्र विवाद के बीच भारत-नेपाल की होगी बैठक
  • उपराष्ट्रपति ने दी जन्माष्टमी की शुभकामनाएं
  • केरल में कोरोना के 1417 नये मामले, पांच की मौत
  • मदन दिलावर मामले में सुनवाई गुरुवार तक टली
  • गोरखपुर में योगी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का किया हवाई सर्वेक्षण
  • मिजोरम में डॉक्टर विधायक ने कराई गर्भवती महिला की डिलीवरी
  • बंगाल में कोरोना मामले एक लाख के पार, 2149 की मौत
  • पटना जजशिप में 12 अगस्त से ऑनलाइन सुनवाई शुरू
  • मथुरा में 50 और कोरोना संक्रमित मिले,संख्या 1250 पहुंची
  • कोरोना मामले 23 22 लाख के पार, 16 33 लाख से अधिक स्वस्थ
  • श्रीकृष्ण आज ही जेल में जन्म लिये थे और आप बाहर जाना चाहते हैं: सीजेआई
  • पश्चिम चंपारण में सिकरहना नदी में डूबने से दो बच्चों की मौत
  • नीतीश ने मशहूर शायर राहत इंदौरी के निधन पर जताया शोक
राज्य » उत्तर प्रदेश » HLKWE


चुनाव तीसरा चरण उप्र दो लखनऊ

मुरादाबाद से सटी नवाबों की नगरी रामपुर में सियासी पारा सबसे अधिक है। सपा नेता आजम खान के महिलाओं को लेकर दिये गये कथित विवादित बयान काे निशाना बनाकर भाजपा रामपुर की लड़ाई जीतने के मूड में है। सपा का दामन छोडकर भाजपा में आयी फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा के पक्ष में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी और मुख्तार अब्बास नकवी समेत कई जानेमाने नेता जनसभा कर चुनावी रंग जमा चुके है वहीं आजम को बेगुनाह बताते हुये बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा के मंसूबों पर पानी फिरने की भविष्यवाणी की है।
वर्ष 1967 के बाद पहला मौका है जब कांग्रेस ने रामपुर के 'नवाब परिवार' से बाहर के किसी शख्स को टिकट दिया है। जयाप्रदा और आजम के बीच की लड़ाई में पूर्व विधायक संजय कपूर अपनी सियासी जमीन तलाश कर रहे हैं। मिली जुली आबादी वाली इस सीट पर 51 फीसदी मुस्लिम मतदाता किसी भी दल को अर्श से फर्श पर पहुंचाने का माद्दा रखते हैं। पिछले चुनाव में यहां भाजपा के नेपाल सिंह जीतने में कामयाब रहे थे।
संभल सीट से गठबंधन की ओर से सपा के शफीकुर्रहमान बर्क चुनावी रणक्षेत्र में डटे है जहां उनका मुकाबला भाजपा के परमेश्वर लाल सैनी और कांग्रेस के मेजर जगत पाल सिंह से है। मुस्लिम बाहुल्य इस सीट को भी बरकरार रखना भाजपा के लिये चुनौती के सामान है। 2014 में मोदी लहर पर सवार होकर भाजपा ने यहां जीत का परचम लहराया था जब पांच हजार वोटों के मामूली अंतर से शफीकुर्रहमान मैदान छोड़ना पड़ा था।
चूड़ियों के शहर फिरोजाबाद में उत्तर प्रदेश समेत सारे देश की निगाहे टिकी हुयी है। यहां मुकाबला सूबे के प्रतिष्ठित ‘यादव परिवार’ की दो पीढ़ियों के बीच है। यादव परिवार के वरिष्ठ सदस्य और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) प्रमुख शिवपाल सिंह यादव का मुकाबला सपा महासचिव रामगोपाल यादव के बेटे और मौजूदा सांसद अक्षय यादव है। चाचा भतीजे की इस दिलचस्प लड़ाई का फायदा उठाने के लिये भाजपा ने डा चंद्रसेन जादौन को मैदान में उतारा है। यहां कांग्रेस ने उम्मीदवार नहीं उतारा है।
प्रदीप
जारी वार्ता
More News
वाराणसी में चंद्रशेखर का कीर्तिमान तोड़ने से चूके मोदी

वाराणसी में चंद्रशेखर का कीर्तिमान तोड़ने से चूके मोदी

24 May 2019 | 10:59 PM

वाराणसी, 24 मई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी संसदीय क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सबसे अधिक 63.62 रिपीट 63़ 62 फीसदी मतों से जीत दिलाने का कीर्तिमान स्थापित किया, लेकिन 1977 में भारतीय लोक दल (बीएलडी) के 66.22 फीसदी के साथ हुई जीत का कीर्तिमान तोड़े से चूक गए।

see more..
अखिलेश की केमिस्ट्री ने कुनबे का अंकगणित गड़बड़ाया

अखिलेश की केमिस्ट्री ने कुनबे का अंकगणित गड़बड़ाया

24 May 2019 | 9:00 PM

लखनऊ 24 मई (वार्ता) समाजवादी पार्टी (सपा) की कमान संभालने के बाद राजनीतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति के लिये नये नवेले दांव पेंच आजमाने वाले अखिलेश यादव का गठबंधन का एक और प्रयोग लोकसभा चुनाव परिणामों में न सिर्फ दम तोड़ गया बल्कि इसने यादव परिवार के राजनीतिक भविष्य पर भी सवालिया निशान लगा दिया।

see more..
image