Friday, Sep 21 2018 | Time 15:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रामकृष्णा इलेक्ट्रो ने पेश किया नाविक आधारित मॉड्यूल ‘यूट्रैक’
  • तंजानिया नौका हादसे में मृतकों की संख्या 86 हुई
  • सोना तीन माह के उच्चतम स्तर पर ;चांदी 20 रुपये सस्ती
  • पाकिस्तान ही नहीं अफगानिस्तान पर भी नजर रखिये: द्रविड़
  • पाकिस्तान ही नहीं अफगानिस्तान पर भी नजर रखिये: द्रविड़
  • आईएसए की पहली महासभा दिल्ली में
  • मलेशिया में समलैंगिक विवाह स्वीकार्य नहीं: महाथिर मोहम्मद
  • पाउंड येन मजबूत, डॉलर कमजोर
  • चेन्नई तिलहन के भाव
  • चेन्नई सर्राफा के शुरुआती भाव
  • बांदीपोरा में आईटीईए का अध्यक्ष इंकलाबी गिरफ्तार
  • नेताजी की कथित अस्थियों के डीएनए परीक्षण की मांग
  • भाजपा अध्यक्ष शाह छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय दौरे पर
  • ‘मैं दुनिया भुला दूंगा तेरी चाहत में’
भारत Share

वडोदरा-मुंबई एक्सप्रेस वे की दशा खराब

नयी दिल्ली 03 सितंबर (वार्ता) सड़क परिवहन को लेकर सरकार के दावों के विपरीत गुजरात के वडोदरा और मुंबई के बीच द्रुतगामी राजमार्ग पर वाहनों की औसत गति 25 से 30 किलोमीटर प्रतिघंटा रह गयी है और इस मार्ग पर ट्रक तथा अन्य मालवाहक वाहनों का ज्यादा परिचालन होने से बस एवं कार यात्रियों को भारी दिक्कत होती है।
अहमदाबाद-मुंबई हाईस्पीड रेलवे परियोजना की प्रगति का जायजा लेने गये राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया प्रतिनिधियों को गत शनिवार को वडोदरा से पालघर के लिए बस से रवाना हुए और उन्हें गंतव्य डहाणु पहुंचने में 12 घंटे से अधिक का समय लगा। करीब 320 किलोमीटर की यात्रा लगभग 26 से 27 किलोमीटर प्रतिघंटा की औसत गति से पूरी हुई।
आम दिनों में ट्रकों खासकर कंटेनर वाहनों की बहुतायत के कारण बस एवं कारों का परिवहन सड़कों की खस्ता हाल के कारण प्रभावित हो रहा है। इस सफर में यह भी अनुभव किया गया कि वडोदरा से लेकर पालघर तक अलग अलग स्थानों पर करीब 80 प्रतिशत तक यातायात ट्रकों, टैंकरों एवं अन्य मालवहन वाहनों का था। बेतरतीबी से चलने वाले इन मालवहन वाहनों के कारण बसों, कारों एवं अन्य यात्री वाहनों को जगह नहीं मिल पा रही थी और उन्हें एक ट्रक को आेवरटेक करने में कई किलोमीटर तक पीछे पीछे चलना पड़ रहा था। छह लेन के मुंबई -अहमदाबाद राजमार्ग पर उसकी क्षमता से अधिक यातायात चल रहा है। सड़कें अत्यधिक भार के कारण जगह जगह पर दब गयीं हैं और सतह ऊबड़ खाबड़ है। इस मार्ग पर दो स्थानों पर उपरिगामी सेतु के निर्माण किये जाने के कारण भी दसियों किलोमीटर लंबा जाम लगता है।
सबसे खराब हालत टोल प्लाज़ा पर थी। हर टोल प्लाजा पर वाहनों की एक से दो किलोमीटर लंबी लाइन लगी थीं और एक टोल प्लाजा को पार करने में 45 मिनट से लेकर एक घंटे का समय लग रहा था। टोल प्लाज़ा के करीब आठ से लेकर दस गेटों में सभी पर ट्रकाें का कब्जा था। बसो, कारों एव अन्य यात्री वाहनों के लिए अलग से कोई लेन निर्धारित नहीं दिखी। इससे कारों, बसों में बच्चों, महिलाओं एवं बुजुर्गाें को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।
महाराष्ट्र की सीमा में प्रवेश करने पर पालघर जिले के पहले टोल प्लाजा पर पूछताछ करने पर उसके प्रबंधक ने बताया कि यात्री वाहनों के लिए एक लेन आरक्षित है लेकिन ट्रकों की संख्या अत्यधिक है। इससे ट्रकों में एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ होने लगती है और टोल प्लाजा कर्मियों पर भी ट्रकों की लंबी कतार को कम करने का दबाव होता है।
टोल प्लाजा पर फास्टैग लगे वाहनों के बारे में पूछे जाने पर प्रबंधक ने कहा कि बहुत कम ट्रकों पर टैग लगे हैं और ज्यादातर ट्रकों के ड्राइवर नकदी लेकर चलते हैं जिससे नकद टोल लेना मजबूरी है। टोल प्लाजा के प्रबंधक ने इस बात की पुष्टि की कि कारों एवं यात्री वाहनों की तुलना में ट्रकों एवं अन्य मालवाहनों की संख्या बहुत अधिक रहती है। इसी से सड़क की दशा भी खराब है।
देश की वाणिज्यिक राजधानी और तेजी से औद्योगिक उन्नति कर रहे इस कॉरीडोर पर रेलवे का समर्पित मालवहन गलियारा और यात्रियों को तेजी से पहुंचाने के लिए 320 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति वाली बुलेट ट्रेन की लाइन बिछायी जा रही है और इन दोनों मार्गो पर परिचालन क्रमश: 2020 और 2022 तक शुरू होने की संभावना है।
सचिन
वार्ता
More News
मोदी ने अजय माकन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की

मोदी ने अजय माकन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की

21 Sep 2018 | 1:20 PM

नयी दिल्ली ,21 सितंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। श्री मोदी ने शुक्रवार को ट्वीट किया,“ प्रिय अजय माकन जी, मैं आपके बेहतर स्वास्थ्य और जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।”

 Sharesee more..

आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 22 सितंबर)

21 Sep 2018 | 8:33 AM

 Sharesee more..
मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका

मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका

20 Sep 2018 | 10:10 PM

नयी दिल्ली, 20 सितम्बर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के खिलाफ आगामी चुनावों में विपक्ष को एकजुट करने के कांग्रेस के प्रयासों को आज उस समय करारा झटका लगा जब बहुजन समाज पार्टी(बसपा) प्रमुख मायावती ने छत्तीसगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया और पार्टी ने मध्य प्रदेश के लिए अपने 22 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी।

 Sharesee more..
image