Monday, Feb 18 2019 | Time 22:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ईडी के डर से शिव सेना ने भाजपा के साथ गठबंधन किया: पाटिल
  • महाराष्ट्र में भाजपा-शिव सेना के बीच लोस, विस चुनावी गठबंधन का एलान
  • भाजपा आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई का राजनीति फायदा लेने के प्रयास में-कांग्रेस
  • अमृतसर के निगम आयुक्त पर किया जाए मामला दर्ज: भोला
  • अल-जुबेर ने ईरान पर आतंकवाद प्रायोजक होने का आरोप लगाया
  • पंजाब का आम बजट मोदी सरकार की योजनाओं का प्रतिबिंव: कालिया
  • पाकिस्तान ने सऊदी शाहज़ादे को सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से नवाज़ा
  • पंजाब का आम बजट दिशाहीन: छीना
  • कौशल विकास योजनाओं के लाभार्थी युवा हो रहे आत्मनिर्भर: अनिल जोशी
  • राज्यपाल ने दी प्रदेशवासियों को संत रविदास जयंती की शुभकामनाएं
  • राज्यपाल ने मेजर ढौंढियाल और मेजर बिष्ट की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुम्भ स्नान के लिए जा रही बस दुर्घटनाग्रसत,दो महिला श्रद्धालुओं की मृत्यु
  • त्रिवेन्द्र ने मेजर विभूति कुमार ढौंडियाल की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुपवाड़ा में अनुपस्थित पाये जाने पर 70 कर्मचारी निलंबित
  • सवर्ण आरक्षण विधेयक पर राजद-कांग्रेस का चेहरा बेनकाब : सुशील
भारत Share

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में जन्माष्टमी का त्योहार काफी धूमधाम से मनाया जा रहा है और हर शहर में गोविंदाओं की टोलियों माखन की हांडी तोड़ कर लेागों का दिल जीतने का प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री देवेेन्द्र फडनवीस ने जन्माष्टमी घाटकोपर में जनता के बीच पहुंच कर नारियल से दही भरी हांडी फोड़ी और ‘दही हांडी’ उत्सव मनाया। मुंबई से सटे ठाणे शहर में गोविंदाओं ने सीमाओं पर रक्षा करने वाले शहीदों को नमन किया और सेना का परिधान पहनकर मानव श्रृंखला की नौ कड़ी बना कर दही हांडी को सलाम किया।
इस उत्सव में फिल्म उद्योग भी पीछे नहीं रहा और कई स्थानों पर सिने तारिकाओं ने नृत्य किया। कई स्थानों पर दाही हांडी फोड़ने वाले गोविंदा टोली को इनाम भी रखा गया था।दाही हांडी महोत्सव के दौरान मुंबई में 50 से अधिक लोग घायल हो गये और धारावी के एक 20 वर्षीय बच्चे की सरकारी सायन अस्पताल में इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी। इस बार सरकार ने दुर्घटना को टालने के लिए सिर पर हेलमेट लगाने और नीचे जाल लगाने की भी व्यवस्था की थी।
गुजरात स्थित भगवान कृष्ण के दो विश्वप्रसिद्ध मंदिरों सौराष्ट्र में द्वारका के जगत मंदिर तथा मध्य गुजरात के डाकोर के रणछोड़राय जी मंदिर में जन्माष्टमी के मौके पर मनोहारी सजावट की गयी है तथा विशेष पूजा अर्चना के आयोजनों के बीच भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी।
भगवान विष्णु, श्रीकृष्ण को जिनका अवतार माना जाता है, के उत्तर गुजरात स्थित विख्यात शामलाजी मंदिर में कुछ ऐसा ही माहौल दिखा। तीनों ही मंदिरों में भगवान की प्रतिमा का आज रत्नाभूषणों से विशेष शृंगार किया गया।
द्वारका के जगत मंदिर उप प्रशासक ने बताया कि नियमित आयोजित होने वाली मंगला, शृंगार, संध्या और शयन आरती के स्थान पर जन्माष्टमी का मुख्य आकर्षण यहीं होता है। आम तौर पर इस मंदिर में रोज दस हजार के आसपास दर्शनार्थी आते हैं पर जन्माष्टमी की पूर्व संध्या पर यह संख्या 50 हजार या उससे अधिक और जन्माष्टमी को 80 हजार से एक लाख तक पहुंच जाती है।
उधर डाकोर मंदिर के संचालन ट्रस्ट के एक अधिकारी ने बताया कि आज कृष्ण स्वरूप रणछोड़रायजी की प्रतिमा को तीन से चार किलो सोने से बने और रत्न एवं हीर आदि जटित मुकुट पहनाया जाता है। ऐसा साल भर में जन्माष्टमी के अलावा केवल दो अौर मौकों अाश्विन और कार्तिक पूर्णिमा को ही किया जाता है।
इसके अलावा मध्यप्रदेश , छत्तीसगढ़ उत्तरांखडं, बिहार , झारखंड ,असम और अन्य राज्यों के विभिन्न मंदिरों में जनमाष्टमी की धूम देखने को मिल रही है।
जितेन्द्र
वार्ता
More News
जैश के 40 से भी अधिक आतंकवादियों पर सेना की नजर

जैश के 40 से भी अधिक आतंकवादियों पर सेना की नजर

18 Feb 2019 | 9:25 PM

नयी दिल्ली 18 फरवरी (वार्ता) सेना की नजर पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के दक्षिण कश्मीर में छिपे 40 से भी अधिक आतंकवादियों पर है और वह मौका मिलते ही उनके खिलाफ अभियान शुरू कर देगी।

 Sharesee more..
गुरुदेव का कृतित्व, सन्देश आज भी प्रासंगिक : मोदी

गुरुदेव का कृतित्व, सन्देश आज भी प्रासंगिक : मोदी

18 Feb 2019 | 8:54 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संस्कृति को राष्ट्र की प्राण वायु बताया और कहा है कि गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर का कृतित्व और उनका सन्देश समय और काल से परे है और दुनिया की वर्तमान चुनौतियों को देखते हुए वह आज भी प्रासंगिक है।

 Sharesee more..
image