Thursday, Feb 21 2019 | Time 19:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अपने हिस्सा का पानी पाकिस्तान जाने से रोकेगा भारत
  • हिमाचल हिमस्खलन: मौसम खराब, शुरू नहीं हो सका बचाव अभियान
  • लोस चुनाव में जिले के सभी बूथों पर वीवीपैट मशीनों का होगा प्रयोग: वरिंदर
  • मोबिक्विक ऐप पर 20 में एक लाख का समूह सुक्ष्म जीवन बीमा
  • अमृतधारी छात्राओं की फीस नहीं बढ़ेगी : एसजीपीसी
  • एटीके को हराकर प्लेऑफ में जाना चाहेगा मुम्बई
  • विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित, सत्र संपन्न
  • एसजीपीसी ने किया गुरुद्वारा की जमीन देने से इंकार
  • अमृतसर की पुरानी जेल में बनेगा वाणिज्यिक केंद्र
  • यूनिवर्सल हेल्थकेयर सुनिश्चित करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध: नड्डा
  • कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करें सिख : भौमा
  • भारत, दक्षिण कोरिया के साथ मिलकर इलेक्ट्राॅनिक हब बनेगा: मोदी
  • शाह करेंगे शक्ति केंद्र कार्यकर्ताओं के साथ बैठक
  • नाबालिग भतीजी से बलात्कार : अंतिम सांस तक कैद की सजा
  • कर्मचारी भविष्य निधि जमा पर 8़ 65 प्रतिशत ब्याज देने की सिफारिश
भारत Share

शिक्षक गरीब एवं ग्रामीण छात्रों की प्रतिभा को निखारें:मोदी

नयी दिल्ली 04 सितम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शिक्षकों के प्रयासों की सराहना करते हुए विद्यार्थियों विशेषकर गरीब एवं गाँव के छात्रों की प्रतिभा निखारने का उनसे आह्वान किया है।
श्री मोदी ने मंगलवार को यहाँ शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किये जाने वाले शिक्षकों से बातचीत करते हुए यह आह्वान किया। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कल यहाँ इन शिक्षकों को पुरस्कार प्रदान करेंगे।
प्रधानमंत्री ने अपने निवास पर चाय के निमंत्रण पर आये इन शिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि शिक्षक जीवन भर शिक्षक ही बना रहता है, इन शिक्षकों ने शिक्षा की गुणवत्ता को सुधारने के प्रयास किये हैं जिसके लिए वह उन्हें बधाई देते हैं, इन शिक्षकों ने शिक्षा को अपने जीवन का मूल मंत्र बनाया है।
श्री मोदी ने कहा कि पुरस्कृत शिक्षकों को चाहिए कि वे नागरिक समाज को स्कूलों के विकास के लिए एकजुट करें और गरीब तथा ग्रामीण छात्रों की प्रतिभा एवं उनकी आंतरिक शक्ति को उभरने का भी काम करें।
उन्होंने शिक्षाविदों से कहा कि वे शिक्षकों और छात्रों को आपस में सेतु बनाने का काम कर उन्हें एक-दूसरे से जोड़ें ताकि छात्र एक शिक्षक को जीवन भर याद करें।
उन्होंने शिक्षकों को इस बात के लिए प्रोत्साहित किया कि वे अपने स्कूल तथा आस पास के परिसरों को डिजिटल बनाने के लिए काम करें।
पुरस्कार से सम्मानित होने वाले छात्रों ने प्रधानमंत्री को अपने अनुभवों से साझीदार करते हुए बताया कि किस तरह उन्होंने स्कूलों का स्तर सुधार कर उन्हें ज्ञान का केंद्र बनाया है। इन शिक्षकों ने प्रधानमंत्री को इस बात के लिए बधाई दी कि उन्होंने शिक्षा व्यवस्था को डिजिटल बनाकर स्कूलों का काय कल्प किया है, इस अवसर पर मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर भी मौजूद थे।
अरविन्द.श्रवण
वार्ता
More News
एक दिन में 22 करोड़ घरों में ‘कमल ज्योति’ जागृत करेगी भाजपा

एक दिन में 22 करोड़ घरों में ‘कमल ज्योति’ जागृत करेगी भाजपा

21 Feb 2019 | 6:49 PM

नयी दिल्ली 21 फरवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) 26 फरवरी को ‘कमल ज्याेति’ अभियान के तहत एक ही दिन में देशभर में लगभग 22 करोड़ गरीब घरों में संपर्क करेगी जिन्हें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की गरीब कल्याण योजनाओं में से किसी ना किसी योजना का लाभ मिला है।

 Sharesee more..
कश्मीरी बच्चों पर हमला अनुचित : आजाद

कश्मीरी बच्चों पर हमला अनुचित : आजाद

21 Feb 2019 | 6:17 PM

नयी दिल्ली, 21 फरवरी (वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि कश्मीर के लोग देशभक्त हैं और पाकिस्तानियों को खदेड़ने में उनकी अहम भूमिका रही है इसलिए देश के विभिन्न हिस्सों में पढने वाले कश्मीरी बच्चों और वहां के लोगों पर हमला करना उनके साथ नाइंसाफी है।

 Sharesee more..
लाखों आदिवासियों को बेदखल किये जाने पर मोदी को पत्र

लाखों आदिवासियों को बेदखल किये जाने पर मोदी को पत्र

21 Feb 2019 | 6:16 PM

नयी दिल्ली 21 फरवरी (वार्ता) मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर 22 लाख आदिवासियों को जंगल से बेदखल किये जाने के फैसले पर उनसे इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की और अध्यादेश जारी करने का अनुरोध किया है।

 Sharesee more..
image