Friday, Sep 21 2018 | Time 20:01 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सर्जिकल स्ट्राइक दिवस पर उठा विवाद,सरकार ने किया बचाव
  • एससी एसटी एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे सवर्णों पर लाठीचार्ज
  • जम्मू कश्मीर में हाल की घटनाओं ने राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फिर तूल पकड़ा
  • यूनान में हवाई अड्डा बनायेगी जीएमआर
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • भारत ने राफेल सौदे के लिए दिया था केवल रिलायंस का नाम: ओलांद
  • थर्ड जेनेरेशन ईवीएम मशीन में गड़बड़ी ना के बराबर: रावत
  • प्रधानमंत्री मोदी कल छत्तीसगढ़ के एक दिवसीय दौरे पर
  • भारत अंडर-16 लड़कियों को मंगोलिया से मिली हार
  • चीफ खालसा दीवान के प्रधान संतोख सिंह को पांच साल की कैद
  • भारत-पाकिस्तान विदेश मंत्रियों की बैठक रद्द
  • भाजपा की छत्तीसगढ़ सहित तीन राज्यों में सत्ता में वापसी तय – शाह
  • अकाली दल अपनी हार देख बौखलाई : अमरिंदर
  • सीलिंग कर दिल्ली सरकार छीन रही है पूर्वांचल के लोगों की रोजी-रोटी: मनोज
  • पांचवां इंडिया सीएसआर शिखर सम्मेलन एवं प्रदर्शनी दिल्ली में
भारत Share

श्री जावडेकर ने कहा कि इन शिक्षकों ने अपने स्कूलों में विद्यार्थियों के स्कूल छोड़ने की संख्या भी कम की है और समुदाय को भी स्कूलों से जोड़ा है। उन्होंने कहा कि इन शिक्षकों के काम को एक फिल्म में भी यहां दिखाया गया है। इस फिल्म को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर भी डाला जायेगा ताकि दूसरे शिक्षक भी इनसे प्रेरणा ले सकें।
उन्होंने बताया कि देश के 14-15 लाख शिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण का काम शुरू हो गया है और ये पहली परीक्षा में पास हो गए हैं और अगले साल मार्च में इन शिक्षकों की अंतिम परीक्षा होगी। यह दुनिया का शिक्षकों को प्रशिक्षित करने का सबसे बड़ा कार्यक्रम है।
उन्होंने कहा कि शिक्षकों के लिए दीक्षा प्लेटफार्म भी शुरू किया गया है जिस पर कोई शिक्षक अपना अच्छा पाठ रिकॉर्ड कर उसे इस पर डाल सकता है। उससे दूसरे छात्र भी लाभान्वित होंगे। इसी तरह एक शगुन प्लेटफार्म भी तैयार किया गया है जिस पर स्कूल अपने श्रेष्ठ कार्यों एवं प्रयोगों को सबसे साझा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों से इस बारे में कहा गया है और हजारों वीडियो भी मंत्रालय आये हैं।
इससे पहले मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा ने शिक्षकों को वास्तविक राष्ट्र निर्माता बताया और कहा कि सीमा पर लड़ने वाले जवानों से भी अधिक ऊँचा स्थान शिक्षकों का होता है क्योंकि वे ही उन्हें यह जज्बा देते हैं जो खिलाड़ी पदक जीतते हैं उनके पीछे भी कोई न कोई शिक्षक होता है। एक चायवाला भी देश का प्रधानमंत्री बनता है तो उसके पीछे भी कोई न कोई शिक्षक रहा होगा। इस तरह शिक्षकों की महती भूमिका है लेकिन समाज ने शिक्षकों का आदर करना छोड़ दिया है।
समारोह में धन्यवाद ज्ञापन करते हुए स्कूली शिक्षा सचिव रीना रे ने कहा कि चयन प्रक्रिया की पारदर्शिता को प्रमाणित करने के लिए ही हर पुरस्कृत शिक्षकों के बारे में समारोह में एक एक मिनट की फिल्म दिखाई गयी है।
श्रीमती रे ने यूनीवार्ता से कहा कि जिस तरह पद्म पुरस्कार समाज में अब कुछ नया करने वालों को दिया जाने लगा है हमने भी इस बार से पुरस्कार उन शिक्षकों को दिया हैं जिन्होंने शिक्षकों के क्षेत्र में कुछ नया किया है। पहले तो 370 पुरस्कार तक दिए गए। इस बार पुरस्कारों की संख्या जरूर कम है, पर सब योग्य लोग हैं। अगले साल से इनकी संख्या बढ़ने पर विचार किया जा सकता है।
अरविन्द.श्रवण
वार्ता
More News
भारत-पाकिस्तान विदेश मंत्रियों की बैठक रद्द

भारत-पाकिस्तान विदेश मंत्रियों की बैठक रद्द

21 Sep 2018 | 7:49 PM

नयी दिल्ली 21 सितम्बर (वार्ता) भारत ने जम्मू-कश्मीर में उसके सुरक्षाकर्मियों की निर्मम हत्या और पाकिस्तान द्वारा आतंकवादियों का महिमामंडन करने के लिए उन पर डाक टिकट जारी करने की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयार्क में इसी माह होने वाली बैठक को रद्द करने की घोषणा की है।

 Sharesee more..
भारत ने राफेल सौदे के लिए दिया था केवल रिलायंस का नाम: ओलांद

भारत ने राफेल सौदे के लिए दिया था केवल रिलायंस का नाम: ओलांद

21 Sep 2018 | 7:48 PM

नयी दिल्ली 21 सितंबर (वार्ता) राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर सरकार और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस में मचे घमासान के बीच फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद ने नया खुलासा करते हुए कहा है कि भारत की तरफ से ही सौदे के लिए अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस इंडस्ट्रीज के नाम का प्रस्ताव किया गया था।

 Sharesee more..
सीलिंग कर दिल्ली सरकार छीन रही है पूर्वांचल के लोगों की रोजी-रोटी: मनोज

सीलिंग कर दिल्ली सरकार छीन रही है पूर्वांचल के लोगों की रोजी-रोटी: मनोज

21 Sep 2018 | 7:18 PM

नयी दिल्ली 21 सितंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया कि उच्चतम न्यायालय की आड़ में सीलिंग का संकट पैदा कर लाखों पूर्वांचलवासियों की रोजी-रोटी छीनने का षडयंत्र कर रही है।

 Sharesee more..
image