Wednesday, Nov 14 2018 | Time 20:39 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नेहरू स्टेडियम में 18 साल के एथलीट ने की आत्महत्या
  • विकास के मुद्दे पर 2019 का चुनाव लड़ेगी भाजपा: मौर्य
  • उप्र में निवेश की असीम संभावनायें: मुख्य सचिव
  • बागेश्वर में आतंक का पर्याय बना आदमखोर तेंदुआ मारा गया
  • कीटनाशक की गंध से युवती की मौत
  • गुजरात सरकार ने 200 करोड़ से अधिक के विनय शाह घोटाले की जांच के आदेश दिये
  • फोटो कैप्शन-पहला सेट
  • जूनागढ मेले के लिए चलेंगी अतिरिक्त ट्रेनें
  • हरियाणा रोडवेज की बस ने बच्चे को कुचला,मौत
  • पहली बार जॉर्डन से भिड़ेगा भारत
  • कार चालक ने चलती कार से नर्स को फेंका, नर्स की मौत
  • मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की चेतावनी
  • जूनागढ़ के मेले के दौरान चलेंगी अतिरिक्त ट्रेनें
  • अपने ही कार्यालय के सेवानिवृत्त क्लर्क से रिश्वत मांगने वाला इंजीनियर गिरफ्तार
  • चलती कार से चालक ने नर्स को फेंक की हत्या
भारत Share

श्री जावडेकर ने कहा कि पहले शिक्षक पुरस्कार के लिए राज्यों से सिफारिशें आती थी लेकिन इस बार चयन प्रक्रिया बदल दी गयी है और उसे पारदर्शी बना दिया है। अब सिफारिशों के आधार पर नहीं बल्कि काम के आधार पर पुरस्कार दिये जायेंगे। अब पुरस्कार के लिए नवाचार को बढ़ावा देने वालों को अवसर दिया है।
उन्होंने कहा कि अब शिक्षक खुद भी अपने नाम का प्रस्ताव कर सकते हैं। इन शिक्षकों ने खुद ऑनलाइन आवेदन किया और अपने काम का वीडियो भी डाउनलोड किया। कुल 6500 शिक्षकों के आवेदन मिले, प्रत्येक जिले से तीन-तीन नाम आये और फिर उनकी छटायी के बाद छोटे बड़े राज्यों से तीन से लेकर छह शिक्षकों के नाम आये और इस तरह कुल डेढ़ सौ शिक्षकों का चयन हुआ फिर एक राष्ट्रीय जूरी ने उनमें से 45 शिक्षकों का चयन पुरस्कार के लिए किया। उन्होंने कहा कि इस बार पुरस्कार ऐसे लोगों को दिया गया जिनके नाम पहले आ नहीं सकते थे। उन्होंने कहा कि इन पुरस्कृत शिक्षकों में कई ऐसे हैं जिन्होंने छात्रों को शिक्षा देने के लिए खुद मोबाइल एप्प बनाये।
श्री जावडेकर ने कहा कि इन शिक्षकों ने अपने स्कूलों में विद्यार्थियों के स्कूल छोड़ने की संख्या भी कम की है और समुदाय को भी स्कूलों से जोड़ा है। उन्होंने कहा कि इन शिक्षकों के काम को एक फिल्म में भी यहां दिखाया गया है। इस फिल्म को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर भी डाला जायेगा ताकि दूसरे शिक्षक भी इनसे प्रेरणा ले सकें।
उन्होंने बताया कि देश के 14-15 लाख शिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण का काम शुरू हो गया है और ये पहली परीक्षा में पास हो गए हैं और अगले साल मार्च में इन शिक्षकों की अंतिम परीक्षा होगी। यह दुनिया का शिक्षकों को प्रशिक्षित करने का सबसे बड़ा कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों के लिए दीक्षा प्लेटफार्म भी शुरू किया गया है जिस पर कोई शिक्षक अपना अच्छा पाठ रिकॉर्ड कर उसे इस पर डाल सकता है। उससे दूसरे छात्र भी लाभान्वित होंगे। इसी तरह एक शगुन प्लेटफार्म भी तैयार किया गया है जिस पर स्कूल अपने श्रेष्ठ कार्यों एवं प्रयोगों को सबसे साझा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सभी राज्यों से इस बारे में कहा गया है और हजारो वीडियो भी मंत्रालय पहुंचे हैं।
अरविंद.श्रवण
जारी.वार्ता
More News
संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसम्बर से 8 जनवरी तक

संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसम्बर से 8 जनवरी तक

14 Nov 2018 | 8:33 PM

नयी दिल्ली 14 नवम्बर (वार्ता) सरकार ने संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसम्बर से 8 जनवरी तक बुलाने का निर्णय लिया है, संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल ने बताया कि संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसम्बर से 8 जनवरी तक बुलाने और इस संबंध में राष्ट्रपति को सिफारिश भेजने का निर्णय लिया है।

 Sharesee more..
सबरीमला विवाद: फैसले पर रोक से फिलहाल इन्कार

सबरीमला विवाद: फैसले पर रोक से फिलहाल इन्कार

14 Nov 2018 | 8:22 PM

नयी दिल्ली, 13 नवम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने केरल में सबरीमला स्थित अयप्पा मंदिर में सभी आयु वर्ग की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति देने के अपने फैसले पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया है।

 Sharesee more..
1984 दंगे: हत्या के एक मामले में दो दोषी, सजा का ऐलान गुरुवार को

1984 दंगे: हत्या के एक मामले में दो दोषी, सजा का ऐलान गुरुवार को

14 Nov 2018 | 8:02 PM

नयी दिल्ली, 14 नवंबर (वार्ता) राजधानी की पटियाला हाउस अदालत ने 1984 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के सिख विरोधी दंगों से जुड़े हत्या के एक मामले में बुधवार को दो आरोपियों को दोषी ठहराया। सजा का ऐलान गुरुवार को किया जायेगा।

 Sharesee more..
image