Monday, Dec 10 2018 | Time 08:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मैक्रों कर सकते हैं महत्वपूर्ण घोषणाएं
  • यमन की शांति वार्ता का समर्थन करता हैं ईरान
  • तस्करों ने साइप्रस के तट पर छोड़े 43 अवैध अप्रवासी
  • अमेरिका-चीन की कारोबारी जंग में रूस नहीं ले रहा पक्ष: रूस
  • ट्रंप फ्रांस के आंतरिक मामलों में न करें हस्तक्षेप: फ्रांस
  • चीन के भूकंप और भूस्खलन में तीन की मौत, पांच घायल
भारत Share

.

बैठक के बाद श्रीमती स्वराज, श्रीमती सीतारमण , श्री पोम्पियो और श्री मैटिस ने वार्ता में लिये गये निर्णयों की जानकारी दी। श्रीमती स्वराज ने बताया कि भारत और अमेरिका ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत की सदस्यता जल्द से जल्द सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करने पर भी रजामंदी जाहिर की है। उन्होंने अमेरिका द्वारा भारत को रणनीतिक व्यापार प्राधिकार प्रथम (एसटीए 1) के पात्र देशों में शामिल किये जाने का स्वागत करते हुए कहा कि यह भारत की निर्यात नियंत्रण नीतियों की विश्वसनीयता का प्रमाण है।
विदेश मंत्री ने कहा कि उन्होंने श्री पोम्पियो को अमेरिका के एच 1 बी वीजा प्रणाली को गैर भेदभावपूर्ण और विश्वसनीय बनाने की भारत की अपेक्षा से अवगत कराया है और कहा है कि इसका नवान्वेषण , प्रतिस्पर्धी वातावरण तथा लोगों की पारस्परिक साझेदारी पर गहर प्रभाव पडेगा जो हमारे संबंधों की प्रगाढता का प्रमुख स्रोत है। उन्होंने कहा कि मैंने श्री पोम्पियो से लोगों के पारस्परिक संपर्कों को आगे बढाने में सहयोग मांगा है।
श्रीमती स्वराज ने कहा कि बैठक में आतंकवाद निरोधक सहयोग को नयी व्याख्या के साथ मजबूत किया गया है। हमने पिछले वर्ष आतंकवादियों को चिन्हित करने वाले संवाद तथा इस संबंध में सुरक्षा सहयोग की प्रणालियों के महत्व को रेखांकित किया है और संयुक्त राष्ट्र एवं वित्तीय कार्रवाई कार्य बल जैसे अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर सहयोग बढाने का फैसला किया है। उन्होंने अमेरिका द्वारा हाल ही में लश्कर ए तैयबा के आतंकवादियों को सूचीबद्ध किये जाने का स्वागत करते हुए इस बात पर संतोष व्यक्त किया कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय पाकिस्तान की धरती से होने वाले आतंकवाद के खतरे को समझ रहा है जिसने भारत और अमेरिका दोनों को प्रभावित किया है। उन्होंने मुंबई आतंकवादी हमले की दसवीं बरसी के मौके पर हमलावरों और साजिशकर्ताओं को न्याय के शिकंजे में लाने पर बल दिया।
संजीव सचिन
जारी वार्ता
More News
राम मंदिर के लिए कानून बनाये सरकार: धर्म संसद

राम मंदिर के लिए कानून बनाये सरकार: धर्म संसद

09 Dec 2018 | 10:46 PM

नयी दिल्ली 09 दिसम्बर (वार्ता) देश के विशिष्ट संत-महात्माओं और प्रमुख धार्मिक-सामाजिक संगठनों के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने आज यहां धर्म सभा में केन्द्र सरकार से अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की पुरजोर मांग करते हुए इसके लिए कानून बनाने की मांग की है।

 Sharesee more..
सत्ता में बैठे लोग पूरा करें राम मंदिर निर्माण का वादा: भैयाजी जोशी

सत्ता में बैठे लोग पूरा करें राम मंदिर निर्माण का वादा: भैयाजी जोशी

09 Dec 2018 | 10:44 PM

नयी दिल्ली, 09 दिसम्बर (वार्ता) राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को हवा देते हुए रविवार को भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार पर खुलकर निशाना साधा और कहा कि वह मंदिर बनाने के अपने वादे को पूरा करने में विफल रही है।

 Sharesee more..
केवल अंग्रेजी में सर्वेक्षण दिल्ली सरकार का भाषाई पूर्वाग्रह: भाषा समूह

केवल अंग्रेजी में सर्वेक्षण दिल्ली सरकार का भाषाई पूर्वाग्रह: भाषा समूह

09 Dec 2018 | 9:06 PM

नयी दिल्ली 09 दिसम्बर (वार्ता) भारतीय भाषाओं के लिए काम करने वाले भारतीय भाषा समूह ने दिल्ली सरकार के योजना विभाग के सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण को केवल अंग्रेजी भाषा में कराये जाने को भाषाई पूर्वाग्रह करार देते हुए इसे हिन्दी, उर्दू और पंजाबी भाषा में भी कराने की मांग की है।

 Sharesee more..
घरेलू कामगारों के हितों के लिए कानून बनाने की मांग की कांग्रेस ने

घरेलू कामगारों के हितों के लिए कानून बनाने की मांग की कांग्रेस ने

09 Dec 2018 | 10:42 PM

नयी दिल्ली 09 दिसंबर (वार्ता) घरेलू कामगारों की दयनीय स्थिति को देखते हुए कांग्रेस ने संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में केंद्रीय कानून बनाने की मांग कर रविवार को कहा कि इनको सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाना जाना चाहिए।

 Sharesee more..
image