Thursday, Sep 20 2018 | Time 20:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • शाहपुर कंडी डैम प्रोेजेक्ट समझौते की पुष्टि
  • डीडीसीए ने अपनाया नया संविधान
  • धान की निर्विघ्न खरीद पहली अक्तूबर शुरू करने को मंजूरी
  • पर्यटन स्थलों को स्वच्छ रखना सभी की जिम्मेदारी : मौर्य
  • कांग्रेस की ‘पोल खोल-हल्ला बोल‘ रैली 30 सितम्बर को
  • पिछड़े जिलों में जाएंगे कौशल विकास मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी
  • तीन तलाक पर अध्यादेश का खामियाजा भुगतेगी भाजपा सरकार
  • मिशेल के प्रत्यर्पण के बारे में यूएई से सूचना नहीं -विदेश मंत्रालय
  • पिस्तौल के साथ दो युवक गिरफ्तार
  • अवैध पशु वधशालाओं को तीन दिन के भीतर सील करने के निर्देश
  • भाजपा का सवर्ण विरोधी चेहरा उजागर : सदानंद
  • कच्छ सूखा प्रभावित जिला घोषित होगा
  • हिम्मत और गंभीर के अर्धशतकों से जीती दिल्ली
  • हिम्मत और गंभीर के अर्धशतकों से जीती दिल्ली
  • उच्च शिक्षण संस्थानों में ग्रेडेड स्वायत्तता महत्वपूर्ण: जावड़ेकर
भारत Share

माकपा ने समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से हटाने का किया स्वागत

नयी दिल्ली 07 सितम्बर (वार्ता) मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से हटाने के बारे में उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत किया है और इसे एतिहासिक कदम बताया है।
माकपा पोलित ब्यूरो ने शुक्रवार को यहाँ जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि अदालत का यह फैसला समलैंगिक समुदाय के लिए ऐतिहासिक है क्योंकि उन्हें पुरातन सोच वाली शक्तियों के हाथों अपमान हिंसा और कट्टरता का सामना करना पड़ता था।
पार्टी ने कहा है कि उसने भारतीय दंड संहिता की धारा 377 को हटाने के लिए देश में चली लड़ाई का हमेशा समर्थन किया और उच्चतम न्यायालय ने अपने फैसले में इस धारा को भेदभाव वाला तथा मनमाना बताया है।
अदालत के इस फैसले का देश भर में स्वागत हुआ जबकि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ने कहा कि हम इसे अपराध की श्रेणी में नहीं मानते है लेकिन यह भारतीय परम्परा एवं संस्कृति तथा जीवन मूल्यों के अनुरूप नहीं है।
अदालत के इस फैसले से समाज में एक नयी बहस भी छिड़ गयी है।
अरविन्द, उप्रेती
वार्ता
More News
सुषमा और कुरैशी के बीच न्यूयार्क में होगी बैठक

सुषमा और कुरैशी के बीच न्यूयार्क में होगी बैठक

20 Sep 2018 | 7:57 PM

नयी दिल्ली 20 सितम्बर (वार्ता) भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा अधिवेशन के इतर बैठक होगी जिसमें करतारपुर साहिब के लिए सिख तीर्थयात्रियों को जाने की इजाजत देने के मुद्दे पर भी बातचीत होगी।

 Sharesee more..
image