Monday, Sep 24 2018 | Time 10:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पाकिस्तान के दो मुख्य दल हो रहे हैं एकजुट
  • मूसलाधार बारिश से सहारनपुर में धान की फसल को भारी नुकसान
  • गंदेरबल में पुलिस की नाका टीम पर हमला
  • इम्फाल में विस्फोट, तीन घायल
  • अमेरिका और चीन के बीच तेज हुयी व्यापारिक जंग
  • क्यूबा के नए राष्ट्रपति अमेरिकी प्रतिबंध का करेंगे विरोध
  • मैक्रों की लोकप्रियता में आैर गिरावट : सर्वे
  • स्विट्जरलैंड के दूसरे प्रांत में भी बुर्का पर लगा प्रतिबंध
  • अपहृत नौका चालक दल के सदस्यों की हुई पहचान
  • मालदीव के राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार सोलिह जीते
  • मालदीव राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार की जीत
  • गब्बर और हिटमैन ने पाकिस्तान को धो डाला, भारत फाइनल में
  • गब्बर और हिटमैन ने पाकिस्तान को धो डाला, भारत फाइनल में
  • अफगानिस्तान बाहर, बंगलादेश-पाकिस्तान में होगा सेमीफाइनल
भारत Share

स्वाती शाकम्भरी को 2018 का मैसाम युवा सम्मान

नयी दिल्ली, 09 सितम्बर (वार्ता) चालीस वर्ष से कम आयु के मैथिली साहित्यकारों के प्रोत्साहन के लिए प्रतिवर्ष दिया जाने वाला मैसाम युवा सम्मान इस वर्ष बिहार के समस्तीपुर जिला स्थित खानपुर की स्वाती शाकम्भरी को दिया गया है। उन्हें यह सम्मान रविवार को यहाँ चतुर्थ विद्यापति स्मारक व्याख्यानमाला के दौरान प्रदान किया गया।
श्रीमती शाकम्भरी को यह सम्मान उनके मैथिली कविता संग्रह 'पूर्वागमन' के लिए दिया गया है। उन्हें पुरस्कारस्वरूप 25 हजार रुपये की राशि और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया। इससे पहले प्रथम मैसाम युवा सम्मान चंदन कुमार झा को 'गामक सीमान पर' और द्वितीय वर्ष श्रीमती कामिनी चौधरी को 'खंड खंड बंटैत स्त्री' के लिए दिया गया था।
पुरस्कार प्राप्ति के बाद श्रीमती शाकम्भरी ने कहा, ‘‘मां, मातृभाषा और मातृभूमि की सेवा करने वाला व्यक्ति ही जीवन में सफल हो सकता है। मुझे अपनी मातृभाषा में लिखकर बहुत सुखद अनुभूति मिलती है।” अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता श्री अरविंद मिश्र 'नीरज' को देते हुए उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति में विशेष प्रतिभा होती है, जिसे बस निखारने की आवश्यकता होती है और उन्हें अपने पिता से यह विशेष आशीष मिला है।
स्वाती फिलहाल बी एन मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा में एम ए संस्कृत (अंतिम वर्ष) की छात्रा हैं। उनकी पहली कृति 'पूर्वागमन' साहित्य अकादमी से प्रकाशित है। उन्हें वर्ष 2017 में काका साहेब कालेलकर स्मृति युवा साहित्य सम्मान से भी सम्मानित किया जा चुका है।
इस दौरान प्रसिद्ध मैथिली साहित्यकार डॉ महेंद्र नारायण राम द्वारा ‘मैथिली लोक साहित्य आ दलित विमर्श’ विषय पर व्याख्यान भी दिया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता प्रसिद्ध साहित्यकार एवं पूर्व प्रशासनिक अधिकारी डॉ. मंत्रेश्वर झा ने की।
सुरेश आशा
वार्ता
More News

आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 25 सितंबर)

24 Sep 2018 | 8:33 AM

 Sharesee more..
पाकिस्तान से बेहतरी की कोई उम्मीद नहीं: जनरल रावत

पाकिस्तान से बेहतरी की कोई उम्मीद नहीं: जनरल रावत

23 Sep 2018 | 11:27 PM

नयी दिल्ली, 23 सितंबर(वार्ता) भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की अमेरिका के न्यूयार्क में होने वाली बातचीत केेे रद्द होने के बाद दोनों पक्षों की तरफ से हो रही विवादास्पद बयानबाजी के बीच भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने रविवार को कहा कि पाकिस्तान से बेहतरी की उम्मीद करना काफी त्रुटिपूर्ण होगा।

 Sharesee more..
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

23 Sep 2018 | 9:27 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) केंद्र सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देशभर में मुशायरों का आयोजन करेगी और इसके जरिए बापू का संदेश जन जन तक पहुंचाया जाएगा।

 Sharesee more..
राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली

राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली

23 Sep 2018 | 8:37 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) राफेल सौदे में रिलायंस को लाभ पहुंचाने के आरोपों से घिरी मोदी सरकार के बचाव में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को फिर मोर्चा संभाला और कहा कि राफेल को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयानों में जो तारतम्य है, उसे देखते हुए लगता है कि दोनों बयानों के बीच जरूर कोई न कोई संबंध है।

 Sharesee more..
image