Saturday, Sep 22 2018 | Time 20:09 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भारत ने दूसरे दिन जीते एक स्वर्ण और दो रजत
  • साई-भाई गिरोह के खिलाफ मकोका लगाने का आदेश
  • शिव विधायक मानवेन्द्र ने भाजपा छोड़ी
  • पंचायतीराज चुनावों में कांग्रेस की जीत सरकार के कार्यों पर मुहर: कैप्टन
  • तेलंगाना में अक्टूबर में चुनाव प्रचार शुरू करेंगे केेजरीवाल
  • हसन अली, असगर और राशिद पर लगा जुर्माना
  • हसन अली, असगर और राशिद पर लगा जुर्माना
  • मुख्यमंत्री की नलवा विस़ क्षेत्र को 54 54 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • 01 अक्टूबर से लागू होगी टीडीएस और टीसीएस : सुशील
  • राफेल सौदे पर षडयंत्रकारी झूठ बोल रही सरकार: कांग्रेस
  • 01 अक्टूबर से लागू होगी टीडीएस और टीसीएस : सुशील
  • विभिन्न दलों के नेताओं सहित 1179 लोग कांग्रेस में शामिल
  • दिग्गज बैडमिंटन खिलाड़ी चोंग वेई को नाक का कैंसर
भारत Share

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में भारत बंद का मिला-जुला असर देखा गया।
बंद के दौरान राज्य भर में बड़ी संख्या में कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। कुछ स्थानों पर तोड़फोड़ की घटनाएं भी हुई। अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, वडोदरा, जामनगर, भरूच समेत कई स्थानों पर बहुत से निजी स्कूल भी बंद रहे। अहमदाबाद के लाल दरवाजा क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमित चावड़ा के साथ हिरासत में लिये जाने से पूर्व प्रदेश प्रभारी राजीव सातव ने कहा कि मोदी सरकार ने पेट्रोल पर 200 और डीजल पर 400 प्रतिशत कर लगाया है। दोनों की कीमतों में 25-25 रुपये की वृद्धि कर महंगाई की मार से त्रस्त जनता को और भी परेशान किया गया है।
बंद समर्थकों ने यहां खानपुर स्थित भाजपा कार्यालय में तालाबंदी का प्रयास भी किया। शाहपुर में हलीमनी खड़की के निकट एएमटीएस की दो बसों में भी तोड़फोड़ की गयी। वडोदरा शहर में भी बंद समर्थकों ने राज्य परिवहन निगम की दो बसों में तोडफोड़ की। कुछ स्थानों पर पुलिस और बंद समर्थकों के बीच झड़पें भी हुईं।
बंद समर्थकों ने राज्य भर में कई स्थानों पर राजमार्गों पर टायरों में आग लगाकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके चलते कई स्थानों पर जाम की स्थिति बन गयी। कई स्थानों पर बंद समर्थकों ने मोदी सरकार के पुतले भी जलाये।
भाजपा ने दावा किया कि भारत बंद का नहीं रहा। पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष आई के जाडेजा ने कहा कि बंद का कोई विशेष असर नहीं रहा। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमत बढ़ने के कारण ऐसा हुआ है और सरकार इसे नियंत्रित करने के लिए जरूरी उपाय कर रही है।
तमिलनाडु में पेट्राेलियम पदार्थों में बेतहाशा वृद्धि के विरोध में कांग्रेस की अगुआई में प्रमुख विपक्षी दलों के आह्वान पर भारत बंद का तमिलनाडु में आम जनजीवन पर कोई असर नहीं पड़ा।
बंद के दौरान दुकानें और व्यावसायिक संस्थानें खुली रही। बसें और अन्य सार्वजनिक यातायात सामान्य रहा। केरल और कर्नाटक जैसे पड़ोसी राज्यों के बीच चलने वाली अंतर-राज्यीय बसें ऐहतियात के तौर पर तमिलनाडु सीमा तक ही चलायी गयी। स्कूल- कालेज एवं शैक्षणिक संस्थान खुली रहीं तथा सभी सरकारी कार्यालयों, बैंको और अन्य वाणिज्यिक संस्थानों में प्रतिदिन की तरह कामकाज हुआ। चिकित्सा, बिजली, दूध और अन्य सेवायें जारी रही।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि बंद के दौरान राज्य में कई स्थानों पर छिटपुट घटनाओं की रिपोर्ट मिली है। बंद के मद्देनजर पुलिस ने पूरे राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये हैं।
कांग्रेस के आह्वान पर भारत बंद को राज्य में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमक और भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर लगभग सभी राजनीतिक दलों ने समर्थन दिया।
राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान असम में रेल सेवाएं बाधित हुईं। कांग्रेस के असम के केंद्रीय पर्यवेक्षक हरीश रावत और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद रिपुन बोरा को विरोध-प्रदर्शन की अगुआई के दौरान अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। कांग्रेस समर्थक और नेता बंद को सफल बनाने के लिए सड़कों पर उतर आये और वहां से गुजरने वाले वाहनों को रोककर लोगों से बंद में हिस्सा लेेने की अपील की।
श्री रावत और श्री बोरा सुबह से ही राजधानी दिसपुर के आसपास लोगों से बंद में शामिल होने की अपील करते हुए नजर आये। बाद में उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ राज्य सचिवालय तक मार्च निकाला जहां से पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।
पूर्वी असम में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर टायर जलाकर यातायात बाधित किया। इस दौरान नौ मेल/एक्सप्रेस और यात्री ट्रेनों को रोका गया अौर ट्रैक अवरूद्ध किये जाने के कारण वे 20 से 80 मिनट देरी से चलीं। बंद समर्थकों ने सिलचर, बराईग्राम और डिगबोई में रेलवे ट्रैक अवरूद्ध किये। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के बाद ट्रेन सेवा बहाल हो गयी।
टीम.श्रवण.आशा
जारी.वार्ता
More News
शिक्षकों की गरिमा बहाल हो: राहुल

शिक्षकों की गरिमा बहाल हो: राहुल

22 Sep 2018 | 8:02 PM

नयी दिल्ली 22 सितम्बर (वार्ता) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश के उच्च शिक्षण संस्थानों की स्वयात्तता और शिक्षकों की गरिमा बहाल करने का आह्वान किया है।

 Sharesee more..

22 Sep 2018 | 7:46 PM

 Sharesee more..

22 Sep 2018 | 7:00 PM

 Sharesee more..
image