Monday, Feb 18 2019 | Time 05:11 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • ‘नयी सुविधाओं’ से जवानों के काफिले को सुरक्षित बनाया जाएगा: भटनागर
  • फ्रांस में सरकार विरोधी प्रदर्शन के तीन महीने पूरे
  • लीबिया में खुफिया विभाग के पूर्व प्रमुख डोरडा हुआ रिहा
  • केरल में युवक कांग्रेस के दो कार्यकर्ताओं की हत्या
  • गृह मंत्रालय ने जम्मू-श्रीनगर क्षेत्र में सीआरपीएफ जवानों के लिए हवाई सुविधा मामले में स्पष्टीकरण दिया
भारत Share

अफ्रीका के लिए ई-विद्याभारती ई-आरोग्यभारती योजना का शुभारंभ

अफ्रीका के लिए ई-विद्याभारती ई-आरोग्यभारती योजना का शुभारंभ

नयी दिल्ली 10 सितंबर (वार्ता) विदेश मंत्रालय और दूरसंचार मंत्रालय के उपक्रम टेलीकम्युनिकेशन्स कन्सल्टेंट्स इंडिया लिमिटेड (टीसीआईएल) ने अफ्रीका महाद्वीप के देशों को इंटरनेट नेटवर्क के माध्यम से शिक्षा एवं स्वास्थ्य सुविधाओं को उपलब्ध कराने के एक करार पर आज यहां हस्ताक्षर किये।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और संचार मंत्री मनोज सिन्हा की मौजूदगी में विदेश मंत्रालय में सचिव (आर्थिक संबंध) टी एस तिरुमूर्ति और टीसीआईएल के प्रबंध निदेशक ए. शेषगिरि राव ने ई-विद्याभारती और ई आरोग्यभारती नेटवर्क परियोजना के समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये। इस मौके पर इरीट्रिया के राजदूत और भारत में अफ्रीकी मिशनों के डीन आलेम सेहाये वाल्देमरियम भी मौजूद थे।

इस मौके पर श्रीमती स्वराज ने कहा कि इस परियोजना को भारत एवं अफ्रीका के बीच ज्ञान एवं स्वास्थ्य के सेतु बताते हुए इसकी सराहना की। उन्होंने कहा कि भारत की कूटनीति अफ्रीका महाद्वीप का बहुत अहम स्थान है। उन्होंने कहा कि इस परियोजना का यह दूसरा चरण पहले चरण से भी अधिक सफल होगा। श्री सिन्हा ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि अफ्रीका के भाई बहनो को उनके मंत्रालय के माध्यम से शिक्षा एवं स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करायीं जाएंगी।

पहले चरण में 2009 से 2017 तक 48 अफ्रीकी देशों को टेली मेडिसिन और टेली एजुकेशन की सुविधा दी गयी थी। दूसरे चरण में 4000 विद्यार्थियों को लाभ होने का अनुमान है। इस परियोजना को भारत अफ्रीका विकास साझेदारी में मील का पत्थर माना जा रहा है।

More News
अलगाववादियों की सुरक्षा हटाई गई

अलगाववादियों की सुरक्षा हटाई गई

17 Feb 2019 | 11:58 PM

नई दिल्ली, 17 फरवरी (वार्ता) केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवानों के काफिले पर 14 फरवरी को हुए आत्मघाती हमले के बाद केन्द्र सरकार ने कड़ा रूख अपनाते हुए रविवार को पांच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली, इनमें मीरवाइज उमर फारूक और शब्बीर शाह भी शामिल हैं जो फिलहाल जेल में बंद हैं।

 Sharesee more..
कृषि संकट, बेरोजगारी, विभाजनकारी ताकतें  सबसे बड़ी चुनौती: मनमोहन

कृषि संकट, बेरोजगारी, विभाजनकारी ताकतें सबसे बड़ी चुनौती: मनमोहन

17 Feb 2019 | 7:23 PM

नयी दिल्ली 17 फरवरी (वार्ता) पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कृषि संकट, बेरोजगारी और पर्यावरणीय क्षरण को भारतीय अर्थव्यवस्था की बड़ी चुनौती करार देते हुए रविवार को कहा कि इनका असर समाज पर पड़ रहा है।

 Sharesee more..
हिंदू महासभा ने की धारा 370 हटाने की मांग

हिंदू महासभा ने की धारा 370 हटाने की मांग

17 Feb 2019 | 6:51 PM

नयी दिल्ली, 17 फरवरी (वार्ता) अखिल भारतीय हिंदू महासभा और उसकी सहयोगी संगठनों ने रविवार को जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन कर पुलवामा की घटना के विरोध में आक्रोश व्यक्त किया और कश्मीर से संविधान की धारा 370 हटाने की मांग की।

 Sharesee more..
image