Friday, Sep 21 2018 | Time 22:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी ने राफेल सौदे में देश को दिया धोखा: राहुल
  • टीआरएस नेता कांग्रेस में शामिल
  • पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : लोईस
  • युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराना प्राथमिकता : रघुवर
  • शहीद जवान के परिवार को एक करोड़ की वित्तीय मदद
  • बच्ची छेड़छाड़ के आरोप में दो गिरफ्तार
  • ‘सीबीआई निदेशक के खिलाफ शिकायत दुर्भावना से ग्रस्त’
  • शाहिदी और अफगान के अर्धशतकों से अफगानिस्तान के 257
  • शाहिदी और अफगान के अर्धशतकों से अफगानिस्तान के 257
  • मोदी ने कुआंग के निधन पर शोक जताया
  • हिन्दुस्तान जिंक ने अत्याधुनिक फुटबाल अकादमी की स्थापना की
  • जालन्धर में मतगणना के लिए पुख्ता प्रबंध
  • कांग्रेस ने की लोकतंत्र की हत्या: ब्रह्मपुरा
  • जडेजा की जबरदस्त वापसी, भारत ने बंगलादेश को 173 पर रोका
  • जडेजा की जबरदस्त वापसी, भारत ने बंगलादेश को 173 पर रोका
भारत Share

गौ रक्षा के नाम पर पीट-पीट कर हत्या करना चिंताजनक : सत्यार्थी

गौ रक्षा के नाम पर पीट-पीट कर हत्या करना चिंताजनक : सत्यार्थी

नयी दिल्ली 10 सितम्बर (वार्ता) नोबल पुरस्कार से सम्मानित सामाजिक कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी ने देश में बच्चों को उठाने के संदेह तथा गौ रक्षा के नाम पर भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या करने की हाल की घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि देश में मानवाधिकार संस्कृति के फलने-फूलने की जरूरत है।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की रजत जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि मानवाधिकार केवल कुछ कानूनों को लागू करने तक सीमित नहीं हैं बल्कि हमें मानव मूल्यों को जीवन में आत्मसात करते हुए मानवाधिकारों की संस्कृति पैदा करनी होगी। इसके लिए एक दूसरे के प्रति सहनशील रहने तथा बहुलता का सम्मान करना होगा। यह केवल सरकारों, न्यायपालिका और मानवाधिकार आयोग जैसी वैधानिक संस्थाओं की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि हर नागरिक की जिम्मेदारी है। कानूनों के बावजूद देश में बाल अधिकारों की चुनौती समाप्त नहीं हुई। बाल तस्करी और बाल श्रम की समस्या अभी भी मौजूद है।

नोबल पुरस्कार विजेता ने बच्चों को उठाने के संदेह तथा गौ रक्षा के नाम पर भीड द्वारा पीट पीट कर हत्या करने की घटनाएं चिंता का विषय है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के पूर्व पुलिस महानिदेशक प्रकाश सिंह तथा ऊर्जा और संसाधन संस्थान (टेरी)के महानिदेशक डा अजय माथुर के साथ मानवाधिकारों को प्रभावित करने वाले कई महत्वपूर्ण मुद्दे उठाये और कहा कि इनमें उचित हस्तक्षेप किये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जब कड़वी सच्चाई और असहमति की आवाज की जगह कम रहती है तो मानवाधिकार आयोग जैसे संस्थानों और राज्य आयोगों की जरूरत अधिक होती है। उन्होंने कहा कि आयोग अपनी स्थापना के समय से ही मानवाधिकारों के संरक्षण और उन्हें बढावा देने का काम कर रहा है।

श्री सिंह ने कहा कि आतंकवाद से लड़ने में राजनीतिक आम सहमति न होने से देश की आतंकवाद से लड़ने की क्षमता प्रभावित हुई है। हमें सुरक्षा चिंताओं और मानवाधिकार से संबंधित मुद्दों पर संतुलन बनाना होगा। यह देश के लिए निराशा की बात होगी यदि हम मानवाधिकारों की लड़ाई तो जीत जाते हैं लेकिन देश की एकता और अखंडता बनाये रखने में विफल रहते हैं। उन्होंने कहा कि इससे सुरक्षा बलों का मनोबल भी कम होता है।

डॉ माथुर ने कहा कि देश में स्वच्छ पर्यावरण के अधिकार को मानवाधिकार बनाये जाने की दिशा में सहमति बनाये जाने की जरूरत है।

संजीव.श्रवण

वार्ता

More News
मोदी सरकार का कौशल विकास बन गया घोटाला : कांग्रेस

मोदी सरकार का कौशल विकास बन गया घोटाला : कांग्रेस

21 Sep 2018 | 9:53 PM

नयी दिल्ली 21 सितम्बर (वार्ता) कांग्रेस ने कौशल विकास योजना में बड़ा घोटाला होने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि इसके तहत मोदी सरकार के चहेते बिचौलिया फायदा उठा रहे हैं और इसकी व्यापक जाँच होनी चाहिए।

 Sharesee more..
शहीद जवान के परिवार को एक करोड़ की वित्तीय मदद

शहीद जवान के परिवार को एक करोड़ की वित्तीय मदद

21 Sep 2018 | 9:39 PM

नयी दिल्ली 21 सितम्बर (वार्ता) दिल्ली सरकार जम्मू के समीप नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी में शहीद जवान नरेंद्र सिंह के परिवार को एक करोड़ रूपये की वित्तीय मदद देगी।

 Sharesee more..
मोदी ने कुआंग के निधन पर शोक जताया

मोदी ने कुआंग के निधन पर शोक जताया

21 Sep 2018 | 9:37 PM

नयी दिल्ली 21 सितम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वियतनाम के राष्ट्रपति तरान दाई कुआंग के शुक्रवार को आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त किया है।

 Sharesee more..
image