Saturday, Nov 17 2018 | Time 18:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लालजी टंडन से महाराष्ट्र भाजपा के महामंत्री ने की मुलाकात
  • सीबीआई ने जीएसटी के तीन अधिकारियों को रिश्वत लेते किया गिरफ्तार
  • किसान का अपमान कर रहे हैं मोदी : राहुल
  • पटना में खुले नाले में गिरा दस वर्षीय दीपक
  • सीबीआई को प्रवेश नहीं करने देने के निर्णय पर जेटली की आपत्ति
  • द अफ्रीका ने 10 ओवर मुकाबले में आस्ट्रेलिया को हराया
  • रिश्वत लेते हुए सिपाही गिरफ्तार
  • सोलिह के शपथ ग्रहण समारोह के लिए मालदीव पहुंचे मोदी
  • राजनाथ से सिद्धू को सुरक्षा कवर देने की मांग
  • तेलंगाना विस चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी
  • भारत के रवि स्वर्ण से एक कदम दूर
  • भारत के रवि स्वर्ण से एक कदम दूर
  • तेलंगाना विस चुनाव के लिए कांग्रेस उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी
  • मुंगेर में तीन दिवसीय नियोजन मेला शुरू
  • चर्चगेट से मुंबई सेंट्रल के बीच मरम्मत के लिए रविवार को रहेगा जम्बो ब्लॉक
भारत Share

विज्ञप्ति के अनुसार आम आदमी पार्टी ने शुरू में प्राप्त चंदे की जो अपनी रिपोर्ट आयोग को सौंपी थी, उसमें 2696 दानकर्ताओं के नाम थे और कुल चंदे की राशि 37 करोड़ 45 लाख 44 हज़ार 618 रुपये बताई गयी थी लेकिन बाद में संशोधित रिपोर्ट में 8364 दानकर्ताओं का जिक्र था जबकि चंदे की राशि 37 करोड़ 60 लाख 62 हज़ार 631 रुपये बताई गयी थी।
आयोग ने कहा है कि पांच जनवरी 2018 को केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड कार्यालय में प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार आम आदमी पार्टी ने चंदे के बारे में जानकारियाँ छिपाई हैं क्योंकि आप आदमी पार्टी के खाते में कुल 67 करोड़ 67 लाख रुपये आये जिसमें 64 करोड़ 44 लाख रुपये चंदे से प्राप्त हुए। इनमें तेरह करोड़ सोलह लाख रुपये अज्ञात स्रोतों से प्राप्त हुए,
आयोग के अनुसार पार्टी ने हवाला ऑपरेटरों से दो करोड़ रुपये का आवासीय लाभ लिया लेकिन उसे स्वैछिक चंदे के रूप में दिखाया। आयोग के अनुसार पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर अपने खाते के बारे में गलत जानकारी दी और आयोग को भी सही जानकारी नहीं दी। इस तरह आम आदमी पार्टी ने चुनाव चिह्न आदेश 1968 की धारा 16 ए का उल्लंघन किया है इसलिए उसे कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा गया है कि क्यों न उसके खिलाफ कारवाई की जाये। पार्टी अगर 20 दिन के भीतर जवाब नहीं देती है तो उपरोक्त तथ्यों के आधार पर आयोग इस मामले में फैसला लेगा।
गौरतलब है कि 29 अगस्त 2014 को अपने जारी परिपत्र के अनुसार आयकर कानून 1961 के तहत सभी राजनीतिक दलों से फॉर्म 24 ए में पार्टी का हिसाब किताब माँगता है और चुनाव चिह्न आदेश 1968 के तहत नियमों के उल्लंघन पर कार्रवाई भी करता है।
अरविन्द.श्रवण
वार्ता
More News
नेशनल हेराल्ड मामला: स्वामी से जिरह आठ जनवरी को

नेशनल हेराल्ड मामला: स्वामी से जिरह आठ जनवरी को

17 Nov 2018 | 5:37 PM

नयी दिल्ली, 17 नवम्बर (वार्ता) दिल्ली एक निचली अदालत ने नेशनल हेराल्ड मामले में राज्य सभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी से जिरह (क्रॉस एक्जामिनेशन) अगले वर्ष आठ जनवरी तक के लिए मुल्तवी कर दी।

 Sharesee more..
भाजपा ने गोवा में खड़ा कर दिया संवैधानिक संकट : कांग्रेस

भाजपा ने गोवा में खड़ा कर दिया संवैधानिक संकट : कांग्रेस

17 Nov 2018 | 4:56 PM

नयी दिल्ली, 17 नवंबर (वार्ता) कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के खराब स्वास्थ्य के कारण राज्य की शासन व्यवस्था चरमरा गयी है और वहां संवैधानिक संकट पैदा हो गया है।

 Sharesee more..

17 Nov 2018 | 4:46 PM

 Sharesee more..
image