Monday, Feb 18 2019 | Time 21:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • राज्यपाल ने मेजर ढौंढियाल और मेजर बिष्ट की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुम्भ स्नान के लिए जा रही बस दुर्घटनाग्रसत,दो महिला श्रद्धालुओं की मृत्यु
  • त्रिवेन्द्र ने मेजर विभूति कुमार ढौंडियाल की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुपवाड़ा में अनुपस्थित पाये जाने पर 70 कर्मचारी निलंबित
  • सवर्ण आरक्षण विधेयक पर राजद-कांग्रेस का चेहरा बेनकाब : सुशील
  • उप्र पुलिस का भर्ती परिणाम घोषित,महिलाओं में प्रथम स्थान पर बागपत की प्रिन्सी
  • आईसीजे में भारत ने किया जाधव की रिहाई का आग्रह
  • लालजी टंडन ने संत रविदास जयंती की दी शुभकामनाएं
  • बिहार विधानसभा में गरीब सवर्णों के लिए आरक्षण विधेयक हुआ पारित
  • स्मृति ने किया हस्तशिल्प परिसर का शिलान्यास
  • पुलवामा मुठभेड़ में मेजर, तीन जवान शहीद, तीन आतंकवादी ढेर, डीआईजी ,लेफ्टिनेंट कर्नल घायल
  • उत्तराखंड में पहली बार 22 79 करोड़ अधिशेष के साथ 48679 करोड़ का बजट पेश
  • पूर्व मुख्यमंत्रियों के आवास किराया माफ करने के मामले में सरकार का यूटर्न
  • भाजपा शिवसेना का महाराष्ट्र में आम चुनाव और विधानसभा के लिए गठबंधन का ऐलान
  • कार्तिक समेत 300 गोल्फर मर्सीडीज़ ट्रॉफी में उतरेंगे
भारत Share

विज्ञप्ति के अनुसार आम आदमी पार्टी ने शुरू में प्राप्त चंदे की जो अपनी रिपोर्ट आयोग को सौंपी थी, उसमें 2696 दानकर्ताओं के नाम थे और कुल चंदे की राशि 37 करोड़ 45 लाख 44 हज़ार 618 रुपये बताई गयी थी लेकिन बाद में संशोधित रिपोर्ट में 8364 दानकर्ताओं का जिक्र था जबकि चंदे की राशि 37 करोड़ 60 लाख 62 हज़ार 631 रुपये बताई गयी थी।
आयोग ने कहा है कि पांच जनवरी 2018 को केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड कार्यालय में प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार आम आदमी पार्टी ने चंदे के बारे में जानकारियाँ छिपाई हैं क्योंकि आप आदमी पार्टी के खाते में कुल 67 करोड़ 67 लाख रुपये आये जिसमें 64 करोड़ 44 लाख रुपये चंदे से प्राप्त हुए। इनमें तेरह करोड़ सोलह लाख रुपये अज्ञात स्रोतों से प्राप्त हुए,
आयोग के अनुसार पार्टी ने हवाला ऑपरेटरों से दो करोड़ रुपये का आवासीय लाभ लिया लेकिन उसे स्वैछिक चंदे के रूप में दिखाया। आयोग के अनुसार पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर अपने खाते के बारे में गलत जानकारी दी और आयोग को भी सही जानकारी नहीं दी। इस तरह आम आदमी पार्टी ने चुनाव चिह्न आदेश 1968 की धारा 16 ए का उल्लंघन किया है इसलिए उसे कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा गया है कि क्यों न उसके खिलाफ कारवाई की जाये। पार्टी अगर 20 दिन के भीतर जवाब नहीं देती है तो उपरोक्त तथ्यों के आधार पर आयोग इस मामले में फैसला लेगा।
गौरतलब है कि 29 अगस्त 2014 को अपने जारी परिपत्र के अनुसार आयकर कानून 1961 के तहत सभी राजनीतिक दलों से फॉर्म 24 ए में पार्टी का हिसाब किताब माँगता है और चुनाव चिह्न आदेश 1968 के तहत नियमों के उल्लंघन पर कार्रवाई भी करता है।
अरविन्द.श्रवण
वार्ता
More News
गुरुदेव का कृतित्व, सन्देश आज भी प्रासंगिक : मोदी

गुरुदेव का कृतित्व, सन्देश आज भी प्रासंगिक : मोदी

18 Feb 2019 | 8:54 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संस्कृति को राष्ट्र की प्राण वायु बताया और कहा है कि गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर का कृतित्व और उनका सन्देश समय और काल से परे है और दुनिया की वर्तमान चुनौतियों को देखते हुए वह आज भी प्रासंगिक है।

 Sharesee more..
image