Wednesday, Jan 23 2019 | Time 19:29 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जिलाधिकारी ने नमामि गंगे के कार्यों की समीक्षा की
  • मुम्बई-हरियाणा मुक़ाबले से शुरू होगा ग्रेटर नोयडा चरण
  • राष्ट्र ने नेताजी के योगदान को याद किया
  • दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी पर नस्लीय टिप्पणी कर फंसे सरफराज
  • समुदाय के रूप में संगठित हों प्रवासी भारतीय, भारत की प्रगति में योगदान दें :कोविंद
  • दिल्ली हाई कोर्ट में वीरभद्र सिंह ने दाखिल की याचिका
  • ट्रक से 22 लाख से अधिक की अवैध शराब बरामद
  • संयुक्त राष्ट्र ने भी बढाया भारत का विकास अनुमान
  • बिहार में अगले पंचायत चुनाव तक 13 प्रतिशत और आरक्षण : सुशील
  • बागेश्वर में वज्रपात से 12 बच्चे एवं तीन अध्यापक झुलसे
  • भाजपा में पार्टी ही परिवार : मोदी
  • पश्चिम बंगाल में महिलाओं की स्थिति पर मेनका ने जताया दु:ख
  • दिल्ली को पहली पारी में मिली 135 रन की बढ़त
  • दिल्ली को पहली पारी में मिली 135 रन की बढ़त
  • करतारपुर गलियारा परियोजना से युवाओं को मिलेगा रोजगार: सोनी
भारत Share

चार डिजाइन संस्थानों को राष्ट्रीय महत्व का दर्जा देने का फैसला

नयी दिल्ली 12 सितम्बर (वार्ता) सरकार ने विजयवाड़ा (अमरावती), भोपाल , कुरूक्षेत्र और जोरहाट स्थित चार डिजाइन संस्थानों को राष्ट्रीय महत्व का दर्जा देने के लिए राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान अधिनियम 2014 में संशोधन करने का निर्णय लिया है।
प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में बुधवार को यहां हुई केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इससे संबंधित प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। इस निर्णय से नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अमरावती/विजयवाड़ा आंध्र प्रदेश, नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, भोपाल मध्‍य प्रदेश, नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन जोरहाट, असम और नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन कुरूक्षेत्र, हरियाणा को नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद की तर्ज पर राष्ट्रीय महत्व के संस्थानों का दर्जा मिल जायेगा।
अधिनियम में प्रस्‍तावित संशोधनों के लिए सरकार संसद में विधेयक लेकर आयेगी। विधेयक में एनआईडी विजयवाड़ा का बदलकर एनआईडी अमरावती करना भी शामिल है। साथ ही, प्रिंसिपल डिजाइनर के पद को प्रोफेसर के समतुल्‍य करने का भी प्रस्‍ताव है।
सरकार का कहना है कि देश के विभिन्‍न हिस्सों में राष्ट्रीय महत्व के संस्थान बनाये जाने से ज्यादा कुशल श्रमबल तैयार करने में मदद मिलेगी। इससे हस्तशिल्‍प, हथकरघा, ग्रामीण तकनीक, लघु, मझोले एवं बड़े उद्यमों के लिए स्‍थायी डिजाइन संसाधनों की उपलब्धता के साथ साथ प्रत्‍यक्ष और अप्रत्‍यक्ष तौर पर रोजगार के अवसर सृजित होंगे। साथ ही, क्षमता, दक्षता एवं संस्‍थान स्थापना के विभिन्‍न कार्यक्रमों को भी बल मिलेगा।
संजीव सत्या
वार्ता
More News

भाजपा में पार्टी ही परिवार : मोदी

23 Jan 2019 | 7:21 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पर परिवारवाद का आरोप लगाते हुये आज कहा कि अधिकतर दलों में परिवार ही पार्टी है जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में पार्टी ही परिवार है, श्री मोदी का यह बयान ऐसे दिन आया है जब कांग्रेस ने नेहरु गांधी परिवार की सदस्य प्रियंका वाड्रा को पार्टी का महासचिव बनाते हुये पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किया है।

 Sharesee more..
प्रियंका को लाकर कांग्रेस ने राहुल की नाकामी स्वीकारी : भाजपा

प्रियंका को लाकर कांग्रेस ने राहुल की नाकामी स्वीकारी : भाजपा

23 Jan 2019 | 7:01 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी ने श्रीमती प्रियंका वाड्रा को कांग्रेस का महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किये जाने पर कटाक्ष करते हुये आज कहा कि कांग्रेस ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गाँधी की नाकामी सार्वजनिक रूप से स्वीकार कर ली है।

 Sharesee more..
image