Friday, Jul 19 2019 | Time 20:37 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विवेक कुमार बने प्रधानमंत्री के निजी सचिव
  • फाेटो कैप्शन: तीसरा सेट
  • ब्रिटेन में एक वर्ष में जितने अनाज का उपभोग किया जाता है उतना भारत में सड़ता है
  • बहराइच में ट्रैक्टर-ट्राली पलटने से महिला समेत दो की मृत्यु,आठ घायल
  • आखिर एनआरआई पति की जमीन हुई नीलाम
  • विधायकों के वाहन ऋण की सीमा बढ़ेगी
  • उप्र मुठभेड़ में पांच इनामी बदमाश गिरफ्तार
  • कामत गोवा विस में विपक्ष के नेता
  • हम सदन में बहुमत साबित कर देंगे: कुमारस्वामी
  • राष्ट्रीय राजमार्गों पर दिसंबर से सिर्फ फास्टैग से भुगतान
  • राष्ट्रीय राजमार्गों पर दिसंबर से सिर्फ फास्टैग से भुगतान
  • सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट ‘भाभा कवच’ लांच
  • राजा रणधीर सिंह डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित
  • बोरीवली एवं भायंदर स्टेशनों के बीच जम्बो ब्लॉक
  • जीईएम पर एक लाख करोड़ रुपए के लक्ष्य की कार्य योजना की समीक्षा
भारत


राफेल होता तो भारत और भारी पड़ता पाकिस्तान पर: वायु सेना प्रमुख

नयी दिल्ली 15 अप्रैल (वार्ता) राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर चल रहे विवाद के बीच वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने आज कहा कि पाकिस्तानी वायु सेना के साथ गत 27 फरवरी को हुए टकराव में यदि हमारे पास राफेल लड़ाकू विमान होता तो वायु सेना पाकिस्तान पर और भारी पड़ती।
वायु सेना प्रमुख ने मार्शल ऑफ इंडियन एयर फोर्स अर्जन सिंह की जन्मशती के संबंध में सोमवार को यहां आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि यदि वायु सेना के पास राफेल विमान होता तो परिणाम और बेहतर होता तथा वायु सेना काफी भारी पड़ती। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद वायु सेना ने बालाकोट कार्रवाई में प्रौद्योगिकी की मदद से अचूक निशाना साधा और लक्ष्यों को हासिल किया।
उन्होंने कहा कि इस टकराव में भारत ने एक विमान खोया लेकिन पाकिस्तान के एक विमान को गिराया भी। राफेल और एस-400 मिसाइल के जल्द भारतीय सैन्य बेड़े में शामिल होने की उम्मीद जताते हुए उन्होंने कहा कि इसके बाद संतुलन हमारे पक्ष में और अधिक हो जायेगा।
उल्लेखनीय है कि भारत ने फ्रांस से उडने की हालत में तैयार 36 राफेल विमान की खरीद का सौदा किया है। इन विमानों की पहली खेप आगामी सितम्बर में भारत को मिल जायेगी। इस सौदे को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच अच्छी खासी खींचतान चल रही है।
वायु सेना प्रमुख ने कहा कि बालाकोट कार्रवाई के बाद जब पाकिस्तानी वायु सेना ने भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की , लेकिन क्या उसे सफलता मिली, नहीं, क्योंकि हमने उसकी कोशिश को विफल कर दिया। उन्होंने कहा कि हमें सफलता इसलिए मिली क्योंकि हमने अपने मिग-21 बाइसन और मिराज को उन्नत बना लिया था। वायु सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि उस दिन भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के एक विमान को भी मार गिराया।
संजीव
वार्ता
More News
जनजाति आयोग का दल 22 जुलाई को जाएगा सोनभद्र

जनजाति आयोग का दल 22 जुलाई को जाएगा सोनभद्र

19 Jul 2019 | 8:32 PM

नयी दिल्ली 19 जुलाई (वार्ता) राष्ट्रीय जनजाति आयोग का एक दल उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में एक गांव में एक भूमि विवाद में 10 आदिवासी लाेगों के मारे जाने तथा कई के घायलों होने की मामले की जांच के लिए 22 जुलाई को घटनास्थल का दौरा करेगा।

see more..
image