Wednesday, Oct 16 2019 | Time 20:52 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में युवती की सिर कटी लाश समेत छह शव बरामद
  • फोटो कैप्शन: दूसरा सेट
  • भारत को महान देश बनाने में महाराष्ट्र का बहुत बड़ा योगदान: मोदी
  • सेल्फी लेने के चक्कर में पार्वती नदी में गिरीं दो लड़कियां, एक लापता
  • शाओमी ने नोट 8 सीरीज के फोन लांच किये
  • जस्टिस मिश्रा को सुनवाई से अलग करने की अर्जी पर बुधवार को फैसला
  • अश्विन और उनकी कप्तानी पर अभी कोई फैसला नहीं : कुंबले
  • निर्बाध बिजली सरकार देगी, बिल भरना होगा : रघुवर
  • लूटकांड मामले में सरगना समेत पांच गिरफ्तार
  • उप्र में अपराध नियंत्रण एवं त्योहारों पर हो पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था: ओ पी सिंह
  • मास्टर्स नेशनल चैंपियनशिप 18 से लखनऊ में
  • सोनिया गांधी से माफी मांगे खट्टर: मंड
  • सुखबीर का अहंकार ही अकाली दल को खत्म करेगा : कैप्टन अमरिन्दर सिंह
  • करतारपुर में 31 अक्टूबर तक पूरा हो जायेगा निर्माण कार्य: गृह मंत्रालय
  • अनुच्छेद 370 आतंकवाद और अलगाववाद का मंच बन गया था: प्रसाद
भारत


चुनाव आयोग के गठन के लिए बने कॉलेजियम : माकपा

नयी दिल्ली 10 जून (वार्ता) मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) ने चुनावी बांड को ख़त्म करने की मांग की है और कहा है कि देश में निष्पक्ष एवं स्वतंत्र चुनाव सुनिश्चित करने के लिए मुख्य चुनाव आयुक्त एवं आयोग के अन्य सदस्यों की नियुक्ति की खातिर राष्ट्रपति की अध्यक्षता में एक कॉलेजियम गठित किया जाना चाहिए।
माकपा की केंद्रीय समिति की तीन दिवसीय बैठक में 17वीं लोकसभा के चुनाव में पार्टी की हार के कारणों की समीक्षा की गयी जिसमें चुनावी बांड समाप्त करने के साथ साथ कॉलेजियम के गठन पर सहमति व्यक्त की गयी।
पार्टी महासचिव सीताराम येचुरी ने बैठक में हुए विचार विमर्श की जानकारी देते पत्रकारों को बताया कि हाल के चुनाव के अनुभव को देखते हुए यह महसूस किया गया कि चुनाव सुधारों को लागू करने के लिए तुरंत कदम उठाने की जरूरत है और चुनाव आयोग के गठन की प्रक्रिया बदलने की भी आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि चुनावी बांड तुरंत ख़त्म किया जाना चाहिए क्योंकि इससे चुनाव में भ्रष्ट्राचार को कानूनी जामा पहना दिया गया है। इसके अलावा चुनाव खर्च सरकार को वहन करना चाहिए। सरकार द्वारा चुनाव खर्च वहन करने का अर्थ यह नही है कि सरकार राजनीतिक दलों को धन दे बल्कि चुनाव में पार्टियों को विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध कराये। उन्होंने कहा कि माकपा सभी राजनीतिक दलों को इस बात के लिए एक जुट करेगी कि चुनाव आयोग का गठन सरकार न करे बल्कि इसके लिए राष्ट्रपति की अध्यक्षता में कॉलेजियम गठित किया जाय ।
चुनाव में ईवीएम मशीन में गड़बड़ी संबंधी शिकायतों के बारे में उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ऐसी रिपोर्टों का अध्ययन करेगी और विभिन्न राजनीतिक दलों के साथ मिलकर भविष्य की कारवाई तय करेगी।
श्री येचुरी ने कहा कि पार्टी को मजबूत करने के बारे में 2015 में कोलकाता में पार्टी के सम्पूर्ण अधिवेशन में लिए गये फैसलों के क्रियान्वयन की समीक्षा राज्य इकाइयां करेंगी और उसकी रिपोर्ट अगस्त तक पेश करेंगी जिसके आधार पर भविष्य की कारवाई तय की जायेगी।।
यह पूछे जाने पर कि क्या लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के लिए पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष सूर्य कान्त मिश्र इस्तीफा देंगे, उन्होंने कहा कि माकपा में कोई एक व्यक्ति हार के लिए जिम्मेदार नहीं होता क्योंकि पार्टी में सामूहिक जिम्मेदारी होती है। श्री येचुरी ने कहा “चुनाव के नतीजे आने पर मैंने खुद कहा था कि नैतिक रूप से हार की व्यक्तिगत जिम्मेदारी लेता हूँ।”
अरविन्द उनियाल
वार्ता
More News
वजीरपुर से 45 बाल श्रमिकों को मुक्‍त कराया गया

वजीरपुर से 45 बाल श्रमिकों को मुक्‍त कराया गया

16 Oct 2019 | 7:54 PM

नयी दिल्ली 16 अक्टूबर (वार्ता) दिल्ली पुलिस और बचपन बचाओ आन्दोलन (बीबीए) के सहयोग से राष्ट्रीय राजधानी के वजीपुर इलाके से मंगलवार को 45 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया ।

see more..
लोक-लुभावन कदमों से विकास प्रभावित होगा:नायडु

लोक-लुभावन कदमों से विकास प्रभावित होगा:नायडु

16 Oct 2019 | 8:00 PM

नयी दिल्ली, 16 अक्टूबर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने चुनावों के दौरान मतदाताओं को रिझाने के लिए लोक-लुभावन कदमों पर बुधवार को राजनीतिक दलों को चेतावनी देते हुए कहा कि इससे विकास पर होने वाले खर्च पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

see more..
image