Wednesday, Nov 13 2019 | Time 15:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भविष्य निधि के लिये कर्मचारियों के परिवार वाले भी करेंगे प्रदर्शन
  • कांग्रेस ने निकाय चुनाव घोषणा पत्र जारी किया
  • बहुमत का फैसला: वित्त विधेयक को मनी बिल के रूप में पारित कराने का मामला वृहद पीठ के सुपुर्द
  • होमगार्ड वेतन घोटाले की जांच के लिये बनी समिति
  • सीजेआई दफ्तर आरटीआई मामला: सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को सही ठहराया।
  • सुप्रीम कोर्ट का बहुमत का फैसला : सीजेआई का दफ्तर सूचना के अधिकार कानून के तहत पब्लिक ऑथोरिटी।
  • प्रमुख मुद्रायें मजबूत
  • स्कूल में चल रहे अवैध कॉल सेंटर का भंडाफोड़
  • ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने मोदी ब्राजीलिया पहुंचे
  • चेन्नई सर्राफा के खुले भाव
  • ट्रक और ऑटो रिक्शा की टक्कर में छह की मौत, तीन घायल
  • येदयुरप्पा सरकार तुरंत हो बर्खास्त: कांग्रेस
  • अक्षय कुमार के साथ फिर काम करेगी कृति सैनन
  • अक्षय कुमार के साथ फिर काम करेगी कृति सैनन
भारत


पीयूष जाएगें स्वीडन की यात्रा पर

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ‘भारत- स्वीडन संयुक्त आर्थिक, औद्योगिक एवं वैज्ञानिक सहयाेग आयोग’ की 19 वीं बैठक में भाग लेने के लिए स्टोकहोम जाएगें।
केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को यहां बताया कि श्री गाेयल स्वीडन की विदेश व्यापार मंत्री अन्ना हालबर्ग के साथ बैठक की सह अध्यक्षता करेंगे। यह बैठक स्टोकहोम में 23 अक्टूबर को होगी।
भारत में निवेश करने वाले देशों में स्वीडन परंपरागत रुप से शामिल रहा है। अक्टूबर 2017 के आंकड़ों के अनुसार भारत में स्वीडन की कंपनियों के साथ 170 से अधिक संयुक्त उपक्रम चल रहे हैं। भारत में निवेश के संदर्भ में जनवरी 2003 से लेकर जनवरी 2017 तक स्वीडन बीसवां सबसे बड़ा देश रहा है। इस अवधि में स्वीडन की कंपनियों ने भारत में 8.51 अरब डालर का निवेश किया है।
भारत में कारोबार करने वाली स्वीडन की बहुराष्ट्रीय कंपनियां निर्माण के अलावा सूचना प्रौद्योगिकी तथा अनुसंधान और विकास में भी हिस्सा ले रही हैं। भारत में स्वीडन का सबसे अधिक निवेश ऑटोमोबाइल में 36 करोड़ 22 लाख डालर, औद्योगिकी मशीनरी में 16 करोड़ 20 लाख डालर तथा इंजीनियरिंग उद्योगों में 11 करोड़ 56 लाख डालर है।
पिछले दशक के दौरान स्वीडन में भारत का निवेश भी बढ़ा है। इस समय 70 से अधिक भारतीय कंपनियां स्वीडन में कारोबार कर रही हैं, जिनमें सूचना प्रौद्योगिकी की कंपनियों सहित डॉ. रेड्डीज, बायोकॉन, कैमवेल और कैडिला फार्मा जैसी कंपनियां शामिल हैं। भारत से स्वीडन को परिधान, धागा, कपड़ा, धातु, वाहन, सामान्य औद्योगिक मशीनरी और उपकरणों का निर्यात किया जाता है। स्वीडन से भारत में कागज, वाहन, गत्ते, लोहा उत्पाद, बिजली मशीनें, उपकरण और अन्य औद्योगिक मशीनरी का आयात किया जाता है।
सत्या
वार्ता
More News
येदयुरप्पा सरकार तुरंत हो बर्खास्त: कांग्रेस

येदयुरप्पा सरकार तुरंत हो बर्खास्त: कांग्रेस

13 Nov 2019 | 2:30 PM

नयी दिल्ली, 13 नवंबर (वार्ता) कांग्रेस ने उच्चतम न्यायालय के कर्नाटक के 17 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने के फैसले को सही ठहराने पर बुधवार को कहा कि इससे साफ हो गया है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राज्य में कांग्रेस तथा जनता-एस की चुनी हुई सरकार को जबरन गिराया था इसलिए मुख्यमंत्री बी एस येदयुरप्पा के नेतृत्व वाली सरकार को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए।

see more..
प्रदूषण पर नियंत्रण को लेकर केंद्र से उपाय ढूंढने की सुप्रीम कोर्ट की सलाह

प्रदूषण पर नियंत्रण को लेकर केंद्र से उपाय ढूंढने की सुप्रीम कोर्ट की सलाह

13 Nov 2019 | 1:49 PM

नयी दिल्ली, 13 नवंबर (वार्ता) देश, खासकर राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों, में वायु प्रदूषण के खतरनाक स्तर के मद्देनजर उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार को हाइड्रोजन आधारित ईंधन के इस्तेमाल की संभावना तलाशने को कहा है।

see more..
बिहार मंडप में चार कलाओं का जीवंत प्रदर्शन

बिहार मंडप में चार कलाओं का जीवंत प्रदर्शन

13 Nov 2019 | 1:29 PM

नयी दिल्ली 13 नवम्बर (वार्ता) राष्ट्रीय राजधानी के प्रगति मैदान में 14 से 27 नवम्बर तक चलने वाले अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले के दौरान बिहार मंडप में चार प्रमुख शिल्प कलाओं का जीवंत प्रदर्शन (लाइव डेमो) किया जायेगा ।

see more..
image