Sunday, May 31 2020 | Time 15:23 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • सोमवार से एसएमएस अस्पताल कोविड फ्री हो जायेगा-शर्मा
  • शिवसेना ने की दो जुलाई से अमरनाथ यात्रा शुरू करने की मांग
  • धूम्रपान करने वालों में कोविड-19 का संक्रमण ज्यादा गंभीरः आरजीसीआईआरसी
  • गोपालगंज में भूमि विवाद में युवक की पीट-पीटकर हत्या
  • मरीज की मृत्यु पर परिजनों ने मचाया हंगामा
  • एनआईओएस की 10वीं, 12वीं बोर्ड की 17 जुलाई से होंगी परीक्षाएं
  • लॉकडाउन-5 में दी गयी ढील को उमर ने बड़ा बदलाव बताया
  • कोविड-19 : गुरुग्राम में 82 के साथ हरियाणा में 118 मामले
  • आईडीएफसी फर्स्ट बैंक ने ऑनलाइन बचत खातों के लिए वीडियो केवाईसी किया लॉन्च
  • लोकतंत्र में असहमति का भी सम्मान होना चाहिए : जस्टिस कौल
  • असम में भीड़ द्वारा पीट-पीट कर युवक की हत्या
  • तमिलनाडु में लॉकडाउन 30 जून तक के लिए बढ़ा, कुछ प्रतिबंधों में ढील
  • नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम के कारण फैला कोरोनाः राउत
  • तीन सप्ताह बाद उछला शेयर बाजार, सेंसेक्स 1751 अंक चमका
भारत


पीयूष जाएगें स्वीडन की यात्रा पर

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (वार्ता) केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ‘भारत- स्वीडन संयुक्त आर्थिक, औद्योगिक एवं वैज्ञानिक सहयाेग आयोग’ की 19 वीं बैठक में भाग लेने के लिए स्टोकहोम जाएगें।
केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने सोमवार को यहां बताया कि श्री गाेयल स्वीडन की विदेश व्यापार मंत्री अन्ना हालबर्ग के साथ बैठक की सह अध्यक्षता करेंगे। यह बैठक स्टोकहोम में 23 अक्टूबर को होगी।
भारत में निवेश करने वाले देशों में स्वीडन परंपरागत रुप से शामिल रहा है। अक्टूबर 2017 के आंकड़ों के अनुसार भारत में स्वीडन की कंपनियों के साथ 170 से अधिक संयुक्त उपक्रम चल रहे हैं। भारत में निवेश के संदर्भ में जनवरी 2003 से लेकर जनवरी 2017 तक स्वीडन बीसवां सबसे बड़ा देश रहा है। इस अवधि में स्वीडन की कंपनियों ने भारत में 8.51 अरब डालर का निवेश किया है।
भारत में कारोबार करने वाली स्वीडन की बहुराष्ट्रीय कंपनियां निर्माण के अलावा सूचना प्रौद्योगिकी तथा अनुसंधान और विकास में भी हिस्सा ले रही हैं। भारत में स्वीडन का सबसे अधिक निवेश ऑटोमोबाइल में 36 करोड़ 22 लाख डालर, औद्योगिकी मशीनरी में 16 करोड़ 20 लाख डालर तथा इंजीनियरिंग उद्योगों में 11 करोड़ 56 लाख डालर है।
पिछले दशक के दौरान स्वीडन में भारत का निवेश भी बढ़ा है। इस समय 70 से अधिक भारतीय कंपनियां स्वीडन में कारोबार कर रही हैं, जिनमें सूचना प्रौद्योगिकी की कंपनियों सहित डॉ. रेड्डीज, बायोकॉन, कैमवेल और कैडिला फार्मा जैसी कंपनियां शामिल हैं। भारत से स्वीडन को परिधान, धागा, कपड़ा, धातु, वाहन, सामान्य औद्योगिक मशीनरी और उपकरणों का निर्यात किया जाता है। स्वीडन से भारत में कागज, वाहन, गत्ते, लोहा उत्पाद, बिजली मशीनें, उपकरण और अन्य औद्योगिक मशीनरी का आयात किया जाता है।
सत्या
वार्ता
More News
मार्च 24 के बाद देश में आया बड़ा बदलाव : कांग्रेस

मार्च 24 के बाद देश में आया बड़ा बदलाव : कांग्रेस

31 May 2020 | 3:05 PM

नयी दिल्ली, 31 मई (वार्ता) कांग्रेस ने कहा है कि कोरोना को हराने के लिए सरकार की ओर से 24 मार्च को लागू किये गये लॉकडाउन के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में लाेगों ने भाईचारे के ऐसे कई उदाहरण पेश किये जिनसे मोदी सरकार का एजेंडा ही बदल गया और देश नयी राह पर चल पड़ा।

see more..
धीरे-धीरे बढ़ रही है घरेलू उड़ानों की संख्या

धीरे-धीरे बढ़ रही है घरेलू उड़ानों की संख्या

31 May 2020 | 3:05 PM

नयी दिल्ली 31 मई (वार्ता) घरेलू यात्री विमान सेवा दो महीने के अंतराल के बाद 25 मई को दोबारा शुरू होने के बाद से उड़ानों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

see more..
दिल्ली सरकार ने केंद्र से लगाई मदद की गुहार

दिल्ली सरकार ने केंद्र से लगाई मदद की गुहार

31 May 2020 | 3:05 PM

नयी दिल्ली, 31 मई (वार्ता) दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रविवार को कहा कि उनकी सरकार के पास कर्मचारियों को वेतन देने के लिए पैसे नहीं है लिहाजा उन्होंने केंद्र सरकार से पांच हजार करोड़ रुपये तत्काल मदद की गुहार लगायी है।

see more..
image