Wednesday, Jul 8 2020 | Time 19:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की 8 20 करोड़ की कार्य योजना का अनुमोदन
  • कृषि अवसंरचना कोष को मंजूरी
  • भारत-नेपाल सीमा पर पहली बार आम लोगों के लिये खुले तीन पुल
  • छह साल में हरियाणा पर कर्ज तिगुना हो गया : आरटीआई से खुलासा
  • अफगानिस्तान में सेना के अभियान में तालिबान कमांडर ढेर
  • उप्र के प्रमुख नगरों का आज का तापमान इस प्रकार रहा
  • कटौती किये गये पाठ्यक्रम को लेकर सीबीएसई की सफाई
  • गैंगस्टर विकास दुबे को लेकर जालौन पुलिस भी अलर्ट मोड पर
  • इज्जतनगर रेल मंडल में व्यवसाय विकास इकाई का गठन हुआ
  • केजरीवाल ने स्वास्थ्य सचिव से मांगी कोविड-19 से हुईं मौतों की वजह की विस्तृत रिपोर्ट
  • कोरोना के कारण जापान ओपन टेबल टेनिस टूर्नामेंट रद्द
  • भागलपुर में अंतरजिला गिरोह के छह अपराधी गिरफ्तार, हथियार बरामद
  • खगड़िया में हथियार के साथ दो तस्कर गिरफ्तार
  • भीमताल केन्द्रीय विद्यालय को आखिरकार शासन से मिली जमीन
भारत


अश्विनी का बिहार के सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों को लेकर सख्त निर्देश

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (वार्ता) केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बिहार के विभिन्न जिलों में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत बन रहे सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों की प्रगति के संबंध में सोमवार को बैठक की और हर हाल में इस काम को वर्ष 2020 तक पूरा करने का निर्देश दिया।
श्री चौबे ने आज यहां मंत्रालय के संयुक्त सचिव सुनील शर्मा और सभी सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों के निर्माण एजेंसियों के आला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में सख्त निर्देश देते हुए कहा कि हर हाल में फरवरी 2020 तक सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों का काम पूरा हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस समय सीमा के भीतर ही काम पूरा करना होगा। आउटडोर और इंडोर की व्यवस्था पूरी करनी होगी।
बैठक में समय पर कार्य नहीं होने पर ग्राउंड पर काम कर रही एजेंसियों को काली सूची में डालने का भी निर्णय लिया गया है। इस दौरान कार्यों की प्रतिदिन समीक्षा करने का निर्णय लिया गया। साथ ही,पंद्रह दिनों में मंत्रालय स्तर पर प्रतिदिन की प्रगति रिपोर्ट को लेकर अलग से बैठक की जायेगी। इसके अलावा 15 नवंबर के बाद बिहार के स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों के साथ पटना में बैठक करने का निर्णय लिया गया ताकि यथाशीघ्र सभी सुविधाएं सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों को मुहैया हो सके।
बिहार में सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों का निर्माण कार्य सीपीडब्ल्यूडी और हाइट्स देख रही है।
बिहार में श्री कृष्ण मेडिकल कॉलेज मुजफ्फरपुर, गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज दरभंगा, गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज गया, गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज भागलपुर और पीएमसीएच पटना में सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों का निर्माण किया जा रहा है। हाल ही में श्री चौबे ने भागलपुर एवं दरभंगा में सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों के निर्माण गति का जायजा लिया था और निर्माण कार्य करा रही एजेंसियों को फटकार लगाई थी।
श्री चौबे ने झारखंड के देवघर में बन रहे एम्स के निर्माण कार्य की प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने इसके वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भी बैठक की। इस एम्स का निर्माण एनबीसीसी करा रही है। मंत्री ने बिहार में दूसरे एम्स से संबंधित जानकारी ली।
दोनों राज्यों में पर्याप्त चिकित्सा सुविधा न होने के कारण मरीजों को दिल्ली के एम्स में इलाज करवाना पड़ता है। इसके मद्देनजर केन्द्र ने पटना में एक एम्स का निर्माण करवाया है और एक झारखंड के देवघर में प्रस्तावित है। बिहार की राजधानी होने के कारण पटना में सुपर स्पेशलिटी अस्पतालों की आवश्यकता है। पिछले माह देवघर में निर्माणाधीन एम्स के पहले शैक्षणिक सत्र की शुरुआत हो गई। पहले सत्र में 50 सीटों के लिए नामांकन किया गया है। फिलहाल शैक्षणिक सत्र का संचालन देवघर के पंचायत प्रशिक्षण संस्थान में किया जा रहा है। शैक्षणिक सत्र की शुरुआत को इस क्षेत्र के लिए बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है। देवघर में लगभग 1103 करोड़ की लागत से एम्स का निर्माण कार्य प्रगति पर है। फिलहाल देवघर के पंचायत प्रशिक्षण संस्थान में क्लासेज और होस्टल का प्रबंध किया गया है। पटना एम्स की देख-रेख में शुरू हुए पहले सत्र में 50 सीटों पर दाखिले हुए हैं।
अरविंद आशा जितेन्द्र
वार्ता
More News
जारवाल की जनानत रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

जारवाल की जनानत रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

08 Jul 2020 | 7:21 PM

नयी दिल्ली, 08 जुलाई (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने एक डॉक्टर की आत्महत्या के मामले में आम आदमी पार्टी (आप) विधायक प्रकाश जारवाल की जमानत रद्द करने संबंधी याचिका में हस्तक्षेप से बुधवार को इनकार कर दिया।

see more..
image