Tuesday, Dec 1 2020 | Time 13:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • वार्नर के पहले टेस्ट से पहले फिट होने पर संदेहः लेंगर
  • कश्मीर में डीडीसी चुनाव का दूसरा चरणः 11 बजे तक 15 64 प्रतिशत मतदान
  • उत्तर प्रदेश में निवेश बढ़ाने कल मुम्बई जायेंगे योगी
  • सेना के नायब सूबेदार ने आत्महत्या की
  • मुनेश गर्जर ने समस्याओं के शीघ्र निवारण के दिए निर्देश
  • क्लीन स्वीप से बचने उतरेगी विराट सेना
  • क्लीन स्वीप से बचने उतरेगी विराट सेना
  • नड्डा ने दी बीएसएफ के स्थापना दिवस पर शुभकामनाएँ
  • नागालैंड के स्थापना दिवस पर प्रदेशवासियों को कोविंद की बधाई
  • सिंघु और टिकरी सीमा यातायात के लिए अब भी बंद
  • एटा में एमएलसी चुनाव में सांसद ने डाला वोट ,कहा बीजेपी सभी सीट जीतेगी
  • टीआरएस विधायक नोमुला नरसिम्हैया का निधन
  • सावंत ने बीएसएफ स्थापना दिवस पर जवानों को दी शुभकामनाएं
भारत


बुद्धिजीवियों ने चुनाव में जनता से साम्प्रदायिक ताकतों को हराने की अपील की

नयी दिल्ली 26 अक्टूबर (वार्ता) देश के सौ से अधिक लेखकों ,बुद्धिजीवियों तथा संस्कृतिकर्मियों ने बिहार विधानसभा चुनाव में साम्प्रदायिक और जनविरोधी ताकतों को परास्त कर लोकतांत्रिक एवं धर्मनिरपेक्ष शक्तियों को समर्थन देने की जनता से अपील की है ।
जनवादी लेखक संघ, प्रगतिशील लेखक संघ और जन संस्कृति मंच समेत अनेक संगठनों से जुड़े इन लोगों ने यह अपील की है। अपील करने वालों में वयोवृद्ध लेखक विश्वनाथ त्रिपाठी, हिंदी के प्रख्यात कवि एवम संस्कृति कर्मी अशोक वाजपेयी, ‘पहल पत्रिका’ के संपादक ज्ञानरंजन, जनवादी लेखक संघ के महासचिव मुरलीमनोहर प्रसाद सिंह, जनसंस्कृति मंच के उपाध्यक्ष एवम् सहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त कवि मंगलेश डबराल, प्रगतिशील लेखक संघ के वीरेंद्र यादव, अंग्रेजी के प्रख्यात कवि एवम् साहित्य अकादमी के पूर्व सचिव के सचिदानंदन, भारतीय ज्ञानपीठ के निदेशक मधुसूदन आनंद अंग्रेजी के जाने-माने कवि के. की दारूवाला, प्रेमचन्द के पौत्र एवम् अंग्रेजी के लेखक आलोक राय, गीता हरिहरन समेत अनेक लेखक संस्कृतिकर्मी शामिल है ।
इन बुद्धिजीवियों ने आज यहाँ जारी विज्ञप्ति में कहा, “इस समय देश आजादी के बाद के सबसे मुश्किल और अंधेरे दौर से गुजर रहा है लोकतंत्र का वेश धारण किए हुए तानाशाही सांप्रदायिक और जन विरोधी ताकतें हमारे धर्मनिरपेक्ष ढांचे को नेस्तनाबूद कर के गरीब साधारण जनों के लिए नित नए संकट पैदा कर रही है। उन्होंने देश को झूठ मीणा दमन हिंसा और आर्थिक विनाश के दुष्चक्र में डाल दिया है।”
विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि इस भीषण दौर में बिहार जैसे जागरूक राज्य के विधानसभा चुनाव बहुत अहमियत रखते हैं। हम लेखक पत्रकार कलाकार और संस्कृति कर्मी बिहार के मतदाताओं से अपील करते हैं कि वह विकास का ढोल पीटने और नफरत फैलाने वाली ताकतों के खिलाफ जनता और धर्म पर लोकतंत्र की पक्षधर शक्तियों को समर्थन दे। बिहार ने कई बार देश को रास्ता दिखाया है और बुनियादी परिवर्तन का आगाज किया है। हमें उम्मीद है कि इस मशाल को राज्य के मतदाता जलाए रखेंगे।
विज्ञप्ति पर पंकज बिष्ट आलोक धन्वा कर्मेंदु शिशिर गौहर रज़ा शबनम हाशमी शम्सुल इस्लाम आदि शामिल हैं।
अरविंद, उप्रेती
वार्ता
More News
मोदी ने नागालैंड के लोगों को राज्य स्थापना दिवस पर बधाई दी

मोदी ने नागालैंड के लोगों को राज्य स्थापना दिवस पर बधाई दी

01 Dec 2020 | 12:47 PM

नयी दिल्ली 01 दिसम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नागालैंड के लोगों को राज्य के स्थापना दिवस पर बधाई दी है।

see more..
मोदी और शाह ने सीमा सुरक्षा बल के स्थापना दिवस पर बधाई दी

मोदी और शाह ने सीमा सुरक्षा बल के स्थापना दिवस पर बधाई दी

01 Dec 2020 | 12:19 PM

नयी दिल्ली 01 दिसम्बर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के स्‍थापना दिवस के मौके पर बल के कर्मियों और उनके परिवारों को बधाई दी है।

see more..
दिल्ली, महाराष्ट्र- पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक मौतें

दिल्ली, महाराष्ट्र- पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक मौतें

01 Dec 2020 | 12:07 PM

नयी दिल्ली 01 दिसंबर (वार्ता) देश के विभिन्न हिस्सों में पिछले 24 घंटों के दौरान 482 मरीजों की कोरोना वायरस की वजह से मौत हुयी, जिनमें से सर्वाधिक मौतें दिल्ली, महाराष्ट्र् तथा पश्चिम बंगाल में हुयी हैं।

see more..
image