Friday, Mar 5 2021 | Time 13:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों के वाहन पर हथगोला फेंका
  • अफगानिस्तान में हिमस्खलन से 14 लोगों की मौत, पांच घायल
  • विश्व में कोरोना संक्रमितों की संख्या 11 56 करोड़ के पार
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सक्रिय मामलों में लगातार वृद्धि, केरल में घटे
  • मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की
  • बारामूला में तलाश एवं घेराबंदी अभियान शुरू
  • कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी
  • शिवराज को मोदी समेत वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने दीं जन्मदिन की शुभकामनाएं
  • नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना
  • विदेशों में उबाल, देश में छठवें दिन ईंधन की कीमतों में टिकाव
  • अमेरिका में अर्थव्यवस्था के लिए 1 9 ट्रिलियन डॉलर का राहत पैकेज
  • ब्राजील में कोविड-19 से 2 60 लाख से अधिक लोगों की मौत
  • ताइवान को हथियारों की आपूर्ति करना आवश्यक : एडमिरल डैविडसन
  • न्यूजीलैंड में तेज भूकंप के बाद सुनामी की चेतावनी
भारत


गणतंत्र दिवस परेड में दिखेगी ‘केदारखंड’ झांकी

नयी दिल्ली, 22 जनवरी (वार्ता) इस बार गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड राज्य की ‘केदारखंड’ झांकी प्रदर्शित होगी जिसमें राज्य पक्षी मोनाल, राज्य पशु कस्तूरी मृग और राज्य पुष्प ब्रह्मकमल के दर्शन होंगे।
राष्ट्रीय रंगशाला में शुक्रवार को यहां मीडियाकर्मियों के समक्ष इस झांकी का प्रदर्शन किया गया जिसमें उत्तराखंड की परंपरागत वेशभूषा में कलाकारों ने गणतंत्र दिवस परेड पर होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी प्रदर्शन किया। इस दौरान 17 राज्यों की झांकियां और वहां के कलाकारों ने अपनी वेशभूषा में गणतंत्र दिवस परेड में प्रदर्शित होने वाली अपनी कला का प्रदर्शन किया।
उत्तराखंड की ‘केदराखंड’ झांकी में 12 कलाकार शामिल होंगे। झांकी के अग्रभाग में 3600 से 4400 मीटर की ऊंचाई पर रहने वाले राज्य पशु कस्तूरी मृण को दर्शाया गया है। इसके साथ ही राज्य पक्षी मोनाल तथा राज्य पुष्प ब्रह्म कमल को दिखाया गया है जो केदारखंड के साथ ही पहाड़ों के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पाए जाते हैं।
झांकी के मध्य हिस्से में दर्शकों को भगवान शिव के वाहन नंदी के दर्शन होंगे। इस भाग में केदार यात्रा पर जाने वाले यात्रियों को यात्रा करते हुए और भगवान शिव के ध्यान में लीन होते दिखाया गया है। झांकी के अंतिम भाग में भगवान केदारनाथ के भव्य मंदिर तथा मंदरि परिसर में तीर्थ यात्रियों को दर्शाया गया है। केदारनाथ मंदिर देश के 12 ज्योितिर्लिंगों में से एक है और इस ज्योतिर्लिंग का जीर्णोद्धार आदिगुरु शंकराचार्य ने किया था।
केदारखंड झांकी का सबसे ज्यादा आकर्षण केदारनाथ मंदिर के पिछले हिस्से में मौजूद विशाल शिला है। यह शिला 2013 में केदार आपदा के दौरान बाढ में कहीं से लुढकते हुए भगवान शिव के दिव्य मंदिर के ठीक पीछे आ गयी थी और वहीं स्थापित होकर बाढ के पानी से मंदिर की रक्षा करती रही। इस शिला के कारण भगवान का मंदिर बाढ़ के पानी के प्रहार से बच गया था और तेज बहाव का मंदिर पर असर नहीं हुआ। श्रद्धालुओं इस शिला का बाढ के बीच मंदिर के ठीक पीछे आना चमत्कार मानते हैं और कहते हैं कि इसी शिला की वजह से भगवान शिव का मंदिर केदारनाथ आपदा में ढहने से बच गया था।
अभिनव आशा
वार्ता
More News
मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

मोदी ने बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की

05 Mar 2021 | 11:57 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की है।

see more..

05 Mar 2021 | 10:54 AM

see more..
कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

कोरोना के सक्रिय मामले और मृतकों की संख्या में बढ़ोतरी

05 Mar 2021 | 10:25 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस (कोविड-19) संक्रमण में पिछले कुछ समय से अचानक आयी तेजी के बीच सक्रिय मामलों में बढ़ोतरी जारी है और इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या फिर 100 से अधिक हो गई है।

see more..
नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना

नायडू ने की देश दुनिया में शांति समृद्धि की कामना

05 Mar 2021 | 10:15 AM

नयी दिल्ली 05 मार्च (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडु ने शुक्रवार को तिरुमाला में प्रभु वेंकटेश्वर के दर्शन किये और देश दुनिया के लिए समृद्धि और खुशहाली की कामना की।

see more..
image