Saturday, Dec 7 2019 | Time 08:58 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • विस्फोटक के साथ सात नक्सली गिरफ्तार
  • स्लोवाकिया में गैस विस्फोट में पांच लोगों की मौत
  • एक-एक वोट तय करेगा झारखंड का भविष्य: रघुवर
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 08 दिसंबर)
  • अमेरिकी सरकार लगा सकती है बोइंग कंपनी पर चार अरब का जुर्माना
  • झारखंड में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच दूसरे चरण का मतदान शुरू
  • ईरान ने जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन और अमेरिका पर साधा निशाना
  • किंग सलमान ने अमेरिका के साथ सहयोग का दिया निर्देश
  • ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया समाप्त की जाय: व्हाइट हाउस
  • बगदाद में प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी, 16 की मौत, 47 घायल
  • बगदाद में गोलीबारी में पांच प्रदर्शनकारियों की मौत
राज्य » जम्मू-कश्मीर


कश्मीरी युवाओं से हिंसा का रास्ता छोड़ने की अपील

श्रीनगर, 23 अक्टूबर (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने बुधवार को कहा कि राज्य को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 और 35 ए को रद्द किये जाने के बाद घाटी में हालात में सुधार काे देखते हुए अब सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों पर ध्यान फिर केन्द्रित कर दिया है।
श्री सिंह ने यहां संवाददाताओं से कहा कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के विरुद्ध अभियान पुन: शुरू कर दिया है।
पुलिस महानिदेशक ने कहा कि गुरुवार को होने वाले खंड विकास परिषद के चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने के लिए सुरक्षा प्रबंध पुख्ता किये गये हैं।
श्री सिंह ने कहा,“ राज्य के बाहर के एक व्यापारी और एक श्रमिक सहित पुलवामा तथा शाेपियां में कुछ निर्दोष लोगों की आतंकवादियों ने हत्या कर दी है। आतंकवादियों की इन करतूतों की कश्मीरी लोगों ने कड़ी निंदा की है। यहां के हालात में सुधार होने के बाद दक्षिण कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है और आतंकवादियों की हरकतों पर पैनी नजर रखी जा रही है।
उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के विरुद्ध अभियान फिर शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, “आतंकवादियों के विरुद्ध फिर से शुरू किये जाने के बाद से अनंतनाग और पुलवामा में तीन- तीन आतंकवादी मारे गये हैं।”
पुलिस महानिदेशक ने युवाओं से हिंसा का रास्ता छोड़कर मुख्य धारा में लौटने की अपील की और कहा कि ऐसा करने वालों के पुनर्वास के लिए अधिकारी हर संभव मदद करेंगे। उन्होंने कहा, “ पाकिस्तान,कश्मीर में युवाओं को हथियार उठाने के लिए बरगला रहा है। बंदूक सिर्फ मौत लाती है, यदि हम भविष्य बचाना चाहते हैं तो युवाओं को हिंसा का रास्ता छोड़कर मुख्य धारा से जुड़ना होगा।”
उन्होंने एक सवाल पर कहा कि 31 अक्टूबर से पहले पोस्टपेड और बेसिक फोन की सेवाएं फिर निलंबित करने के बारे में अभी कोई निर्देश नहीं आया है।
श्रवण आशा
जारी.वार्ता
More News
कश्मीर में हिमस्खलन होने से तीन जवान शहीद

कश्मीर में हिमस्खलन होने से तीन जवान शहीद

04 Dec 2019 | 4:02 PM

श्रीनगर 04 दिसंबर (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के सीमावर्ती कुपवाड़ा जिले में नियंत्रण रेखा के पास हिमस्खलन होने से तीन जवान शहीद हो गये, जबकि एक जवान को बचा लिया गया।

see more..
image