Saturday, Apr 13 2024 | Time 20:50 Hrs(IST)
image
राज्य » जम्मू-कश्मीर


कश्मीर: किरू जलविद्युत परियोजना मामले में सीबीआई ने आठ जगहों पर ली तलाशी

श्रीनगर 29 जनवरी (वार्ता) केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सिविल कार्यों के लिए निविदा देने में कथित अनियमितताओं से संबंधित एक मामले की जांच के तहत सोमवार को दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में लगभग आठ स्थानों पर तलाशी ली।
किरू जलविद्युत परियोजना का क्रियान्वयन चिनाब वैली पावर प्रोजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड (सीवीपीपीपीएल) द्वारा किया जा रहा है।
सीबीआई के प्रवक्ता ने बताया कि तलाशी में लगभग 21 लाख रुपये से अधिक की नकदी के अलावा डिजिटल उपकरण, कंप्यूटर, संपत्ति दस्तावेज तथा आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद हुए।
तत्कालीन अध्यक्ष नवीन कुमार चौधरी (1994 के आईएएस अधिकारी) के खिलाफ जम्मू-कश्मीर सरकार से प्राप्त एक संदर्भ के आधार पर तत्कालीन प्रबंध निदेशक; सीवीपीपीपीएल के तत्कालीन निदेशक; एक निजी कंपनी और अज्ञात अन्य के खिलाफ तत्काल मामले दर्ज किये गये थे।
यह आरोप लगाया गया था कि किरू जलविद्युत परियोजना से संबंधित सिविल कार्यों के आवंटन में, ई-टेंडरिंग के संबंध में दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया गया था। यह भी आरोप लगाया गया कि हालांकि सीवीपीपीपीएल की 47वीं बोर्ड बैठक में रिवर्स नीलामी के साथ ई-टेंडरिंग के माध्यम से पुन: निविदा करने का निर्णय लिया गया था, लेकिन चल रही निविदा प्रक्रिया को रद्द करने के बाद इसे लागू नहीं किया गया और बोर्ड की 48वीं बैठक में 47वीं बैठक के निर्णय को पलट दिया गया।
भ्रष्टाचार के आरोपों को जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने उजागर किया था, जिन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें परियोजना से संबंधित दो फाइलों को मंजूरी देने के लिए 300 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी।
भ्रष्टाचार के आरोपों को जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने उजागर किया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें परियोजना से संबंधित दो फाइलों को मंजूरी देने के लिए 300 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी।
सोनिया, यामिनी
वार्ता
image