Tuesday, Nov 20 2018 | Time 23:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • चित्रकूट में सरकार की नीतियों के खिलाफ मंच साझा करेंगे शत्रुघ्न एवं हार्दिक
  • उत्तराखंड नगर निकाय चुनाव में भाजपा लगातार आगे
  • मिर्जापुर में जुलूस पर पथराव के बाद तनाव, कई घायल
  • मराठा समुदाय के साथ मुसलमानों को भी आरक्षण दिया जाय: पवार
  • रघुवर ने दिव्यांग युवा लेखिका की पुस्तक का किया लोकार्पण
  • रायबरेली से अपहृत युवक मुक्त, चार बदमाश गिरफ्तार
  • अजय राजनीतिक नहीं पुत्र मोह दल बना रहे हैं:अभय चौटाला
  • दुमका में चार कट्टर नक्सली गिरफ्तार,भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद
  • नोटबंदी की दवाई से भ्रष्टाचार का दीमक नहीं बल्कि निर्दोष मरे: कमलनाथ
  • बिलासपुर जिले की मरवाही में सर्वाधिक मतदान
  • सबरीमला मामले में केरल सरकार महिलाओं पर अत्याचार कर रही है: विहिप
  • सेना का मनोबल तोड़ने वाले आप नेता पाकिस्तान से मिले: विज
  • बेटियों को ‘सम्मान’ समझने के लिए कन्या उत्थान योजना : नीतीश
  • राहुल ने मिजोरम के लोगों से की भावनात्मक अपील
लोकरुचि Share

तीन स्थानीय साहसी युवकों ने बचायी 40 लोगों की जान

तीन स्थानीय साहसी युवकों ने बचायी 40 लोगों की जान

शिवपुरी, 16 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के सुल्तानगढ़ जलप्रपात क्षेत्र में बाढ़ के पानी में फसे लगभग चालीस पर्यटकों को देर रात में सुरक्षित बचाने वाले तीन बहादुर स्थानीय युवकों को लोग देवदूत के रूप में देखकर उनके अदम्य साहस की प्रशंसा करते हुए उन्हें दुआएं दे रहे हैं।

सुभाषपुरा थाना क्षेत्र में स्थित सुल्तानगढ़ जलप्रपात क्षेत्र में कल दिन में लगभग 45 पर्यटक बाढ़ के पानी में चट्टान पर फस गए थे। तत्काल शुरू किए गए राहत एवं बचाव कार्य के तहत लगभग छह नागरिकों को हेलीकॉप्टर की मदद से बचा लिया गया, लेकिन दिन डूबने के कारण अंधकार छा गया और हेलीकॉप्टर उड़ान भरने की स्थिति में नहीं था। इस विकट स्थिति में बाढ़ में फसे पर्यटकों के परिजन और बचाव कार्य में जुटे लोगों की चिंता और बढ़ गयी।

इन स्थितियों में बलराम बाथम, रामसेवक प्रजापति और निषाद खान नाम के तीन बहादुर युवक एवं स्थानीय तैराक पहुंचे और उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों के समक्ष मदद करने की पेशकश रखी। उन्होंने कहा कि रस्सियां आदि उपलब्ध करा दें और वे पानी में उतरकर पर्यटकों को बचाने का प्रयास करेंगे। प्रशासन की हां भरने पर तीनों युवक तत्काल रस्सियों की मदद से अंधेरे में तेज उफनती बरसाती नदी में उतरे और फसे हुए सैलानियों तक पहुंचे। इसके बाद तीनों ने एक एक करके रस्सियों की मदद से पर्यटकों को सुरक्षित किनारे पहुंचाया।

प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि यह अभियान रात्रि में लगभग दो बजे तक चला। इस बीच बाढ़ में फसे सभी 45 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया। इनमें से लगभग छह को हेलीकॉप्टर की मदद से और शेष को तीन युवकों की मदद से बचाया गया, जो अपनी जान जाेखिम में डालकर पानी में कूदे थे। ये युवक जलप्रपात और आसपास की भौगोलिक स्थिति से अच्छी तरह से वाकिफ हैं और वे बेहतर तैराक भी हैं। अब प्रशासन उन्हें हरसंभव मदद मुहैया कराने के लिए भी प्रयास कर रहा है। वहीं सुरक्षित बच निकले पर्यटक और उनके शुभचिंतक भी इन तीन युवकों को देवदूत के रूप में देखकर उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त कर रहे हैं।

इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन तीन युवकों को पांच पांच लाख रूपए देने की घोषणा की है। इन युवकों का अदम्य साहस स्थानीय लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

सुल्तानगढ़ जलप्रपात क्षेत्र में पंद्रह अगस्त के दिन सैकड़ों लोग पिकनिक मनाने गए थे। लगातार बारिश के कारण जलप्रपात के आसपास बरसाती नदी में जलस्तर अचानक तेजी से बढ़ गया और लगभग पैंतालीस पर्यटक एक चट्टान पर फस गए। इसके अलावा लगभग एक दर्जन लोग जलप्रपात के पानी में बह गए हैं, जिनका लगभग 24 घंटे बाद भी पता नहीं चल सका है।

सं प्रशांत

वार्ता

More News
कान्हानगरी में अदभुद कंस मेला कल से

कान्हानगरी में अदभुद कंस मेला कल से

17 Nov 2018 | 4:29 PM

मथुरा, 17 नवम्बर (वार्ता) तीन लोक से न्यारी मथुरा नगरी में जहां रामलीला में रावण के पुतले का दहन होता है वहीं कंस मेले में कंस के पुतले का दहन नही किया जाता। मथुरा में इस बार 18 नवम्बर को कंस मेला लगेगा।

 Sharesee more..
भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा शुरू

भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा शुरू

14 Nov 2018 | 5:02 PM

पटना 14 नवंबर (वार्ता) भाई-बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक सामा-चकेवा आज से शुरू हो गया।

 Sharesee more..
प्रवासी पंक्षियों की चहचहाट से गुंजायमान है चंबल

प्रवासी पंक्षियों की चहचहाट से गुंजायमान है चंबल

14 Nov 2018 | 2:44 PM

इटावा 14 नवम्बर (वार्ता) अरसे तक दुर्दांत दस्यु गिरोहों की पनाहगार रही चंबल घाटी शरद ऋतु के आगमन के साथ 300 से ज्यादा दुलर्भ प्रजाति के प्रवासी पंक्षियों की करतल संगीत से गुंजायमान है।

 Sharesee more..
बिहार में सूर्योपासना के महापर्व छठ पर डूबते सूर्य को अर्घ्य

बिहार में सूर्योपासना के महापर्व छठ पर डूबते सूर्य को अर्घ्य

13 Nov 2018 | 6:40 PM

पटना 13 नवम्बर (वार्ता) बिहार में सूर्योपासना के महापर्व छठ के अवसर पर आज व्रतधारियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को नदी और तालाब में खड़ा होकर प्रथम अर्घ्य अर्पित किया ।

 Sharesee more..
छठ को लेकर लोगों में उत्साह और रौनक

छठ को लेकर लोगों में उत्साह और रौनक

13 Nov 2018 | 4:30 PM

पटना 13 नवंबर (वार्ता) लोक आस्था के महापर्व छठ को लेकर लोगों में उत्साह और रौनक देखने को मिल रही है और राजधानी पटना भक्तिमय हो गयी है।

 Sharesee more..
image