Thursday, Jul 18 2019 | Time 10:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कुमारस्वामी सरकार का होगा शक्ति परीक्षण
  • लोगों को मिलेगी उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सेवा
  • ममता ने नेल्सन मंडेला, मेहदी हसन को किया याद
  • जापान के एनीमेशन स्टूडियो में लगी आग, 30 घायल
  • सोनभद्र में खूनी संघर्ष में मृतक संख्या बढ़कर हुई 10
  • जाधव मामले में पाकिस्तान की जीत हुयी : कुरैशी
  • शरीफ परिवार की संपत्तियों को जब्त करने का आदेश
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 19 जुलाई)
  • गाजियाबाद में एक लाख का इनामी बदमाश मुठभेड़ में ढेर
  • कार्यवाहक रक्षा सचिव ने सीमा पर अधिक सेना भेजने की मंजूरी दी
  • पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 13 घायल
  • नए करार के लिए रुस जा सकते हैं मादुरो : जॉर्ज
  • हवाई हमले में आईएस के दो आतंकवादी मारे गए
  • बंदूकधारी ने की संरा शांतिसैनिक सहित सात लोगों की हत्या
  • आईसीजे का फैसला जाधव के परिवार के लिए उम्मीदों भरा है :राहुल
लोकरुचि


सफारी की शान जेसिका के नाम पर होगी ब्रीडिंग सेंटर वाली सड़क

सफारी की शान जेसिका के नाम पर होगी ब्रीडिंग सेंटर वाली सड़क

इटावा, 27 जून (वार्ता) चंबल की छवि को बदलने के लिहाज से उत्तर प्रदेश के इटावा मे स्थापित लाइन सफारी की शान बन चुकी जेसिका शेरनी के नाम पर सफारी में ब्रीडिंग सेंटर से आसपास से निकलने वाली सड़क को जेसिका रोड का नाम दिया गया है । इसका जल्द ही बोर्ड भी लगाया जाएगा ।

सफारी पार्क के निदेशक वी.के.सिंह ने गुरूवार को पत्रकारो को बताया कि सफारी में जितने भी शावकों की किलकारियां गूंज रही हैं । वे सभी शावक जेसिका के ही हैं। सफारी में जेसिका की बजह से ही शावक आए हैं, खुशहाली आई है। इसलिए सफारी प्रशासन ने एक सड़क को जेसिका रोड का नाम देने का निर्णय लिया है।

सिंह ने बताया कि हालांकि जेसिका के ब्रीडिंग सेंटर का ताला बंद कर दिया गया है और सिर्फ इमरान ही उसके आसपास जा सकता है लेकिन कीपर से लेकर स्वीपर तक लगभग 12 लोग जेसिका व उसके शावकों की गतिविधियों पर पूरी नजर रखे हुए हैं। डाक्टरों की टीम भी देखरेख कर रही है और बायोलाजिस्ट भी उसके व्यवहार का अध्ययन कर रहे हैं। यही कारण है कि सफारी प्रशासन जेसिका व चारों बच्चों की देखरेख भली भांति कर रहा है। प्रत्येक दो घंटे में इसकी रिपोर्ट डायरेक्टर को दी जाती है।

सफारी में जेसिका शेरनी ने चार शावकों को जन्म दिया है। दूसरे दिन भी यह शावक पूरी तरह स्वस्थ व प्रसन्नचित हैं और अपनी मां के आसपास ही हैं। उन्होने बताया कि दिसम्बर 2015 में इटावा सफारी लाए जाने से पहले जेसिका गुजरात में थी और वहां जूनागढ़ में उसने एक मादा शावक को जन्म दिया था। जिसका नाम जेनिफर रखा गया। अब जेनिफर सात वर्ष की हो गई है। गुजरात के जूनागढ़ से आठ शेरों को इटावा लाया जा रहा है और खास बात यह है कि जिन आठ शेर-शेरनी को इटावा सफारी में लाया जाएगा उनमें जेसिका की बेटी जेनिफर भी शामिल है। निदेशक ने बताया कि अब सफारी प्रशासन के लिए इन शावकों को सेहतमंद रखना एक बड़ी चुनौती है। जिसके लिए सफारी प्रशासन जी-जान से जुटा है। फिलहाल बच्चे अपनी मां जेसिका के साथ ही रहेंगे। सीसीटीवी कैमरे से उन पर नजर रखी जा रही है। किसी को भी जेसिका के पास जाने की इजाजत नहीं है। हालांकि शेरनी के द्वारा चार बच्चों को जन्म दिया जाना कोई पहली घटना नहीं है। लेकिन यह अद्भुत जरुर है। खास बात यह है कि शेरनी जेसिका चारों बच्चों का बराबर से ख्याल रख रही है। जिसके चलते किसी को कोई परेशानी नहीं हो रही है। वह बारी-बारी से चारों शावकों को दूध पिला रही है।

सिंह ने बताया कि सफारी प्रशासन इस तरह सतर्क है कि शावकों और जेसिका को लेकर रत्ती भर भी रिस्क नहीं ली जा रही है। एक कीपर इमरान जिसके साथ जेसिका की अच्छी ट्यूनिंग है। सिर्फ उसी को ब्रीडिंग सेंटर के आसपास जाने की इजाजत है। सफारी में पहले से मौजूद तीनों शावक जेसिका के ही हैं।

सफारी पार्क के उपनिदेशक सुरेश चन्द्र राजपूत ने बताया कि जेसिका एक बेस्ट मदर है। उसकी खास बात यह है कि वह चारों बच्चों को बराबर से लाड दुलार दे रही है। जेसिका एक करवट लेती है तो उसके दो शावक दूध पी लेते हैं। इसके बाद वह करवट बदल लेती है और फिर दूसरे दो शावकों को दूध पिला देती है। इस तरह वह चारों शावकों का बराबर से ध्यान रख रही है। एक-डेढ़ घंटे के अंतराल पर यह शावक दूध पी रहे हैं।

सफारी प्रशासन ने चारों शावकों का वजन अभी नहीं लिया है। दो चार दिन बाद जब शेरनी सामान्य होगी तब वजन लिया जाएगा। लेकिन सफारी प्रशासन का अनुमान है कि चारों शावक लगभग एक-एक किलो वजन के हैं जो पूरी तरह स्वस्थ्य व प्रसन्नचित्त हैं।

शेरनी जेसिका ने पिछले चार दिनों से भोजन नहीं किया है। शावकों को जन्म देने के दो दिन पहले से ही उसने भोजन करना छोड़ दिया था। बुधवार की शाम को जेसिका ने सिर्फ पानी पिया था। इसके बाद गुरुवार को भी पूरे दिन जेसिका ने कुछ खाया पिया नहीं है। उसके लिए भोजन पहुंचाया गया था जो उसी तरह रखा हुआ है।

More News
बदहाली का शिकार है ऐतिहासिक पक्का तालाब

बदहाली का शिकार है ऐतिहासिक पक्का तालाब

16 Jul 2019 | 2:33 PM

इटावा, 16 जुलाई (वार्ता) अंग्रेज हुक्मरानो के आन,बान और शान का प्रतीक रहा ऐतिहासिक पक्का तालाब अफसरशाहों के उदासीन रवैये की भेंट चढ़ कर अपनी चमक खो चुका है।

see more..
मथुरा में 60 लाख से अधिक लोक कर चुके है गिरि गोवर्धन की परिक्रमा: मिश्र

मथुरा में 60 लाख से अधिक लोक कर चुके है गिरि गोवर्धन की परिक्रमा: मिश्र

15 Jul 2019 | 4:50 PM

मथुरा, 15 जुलाई (वार्ता)उत्तर प्रदेश में मथुरा के गोवर्धन में चल रहे मिनी कुंभ यानी मुड़िया पूनो मेले में अब तक 60 लाख से अधिक तीर्थयात्री गिरि गोवर्धन की सप्तकोसी परिक्रमा कर चुके हैं।

see more..
पन्ना में बाघों का ही नहीं दुर्लभ चौसिंगा का भी बढ़ रहा कुनबा

पन्ना में बाघों का ही नहीं दुर्लभ चौसिंगा का भी बढ़ रहा कुनबा

14 Jul 2019 | 11:12 AM

पन्ना, 14 जुलाई (वार्ता) मध्यप्रदेश के पन्ना टाइगर रिजर्व में सिर्फ बाघों का ही कुनबा नहीं बढ़ा अपितु यहां के सुरक्षित वन क्षेत्र में शर्मीले स्वभाव वाले नाजुक आैर खूबसूरत वन्य प्राणी चौसिंगा की भी अच्छी खासी तादाद है।

see more..
मथुरा में शुरू हुई हेलीकॉप्टर से सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा

मथुरा में शुरू हुई हेलीकॉप्टर से सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा

13 Jul 2019 | 3:54 PM

मथुरा, 13 जुलाई (वार्ता)उत्तर प्रदेश के मथुरा में मुड़िया पूनो मेंले के दौरान सप्तकोसी गोवर्धन परिक्रमा के लिये शनिवार से हेलीकॉटर सेवा शुरू हो जाने से वरिष्ठ नागरिकों को राहत मिली है।

see more..
मुडिया पूनो मेले के पहले रोज दो लाख ने की गिरिराज की परिक्रमा

मुडिया पूनो मेले के पहले रोज दो लाख ने की गिरिराज की परिक्रमा

12 Jul 2019 | 12:31 PM

मथुरा, 12 जुलाई (वार्ता) उत्तर प्रदेश में कान्हा नगरी मथुरा के गोवर्धन धाम में शुक्रवार से शुरू हुए मुडिया पूनो मेले के पहले दिन दो लाख से अधिक तीर्थयात्रियों ने गिरिराज महाराज की परिक्रमा कर पुण्य कमाया।

see more..
image