Thursday, Sep 19 2019 | Time 21:12 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • एमएसएमई में फंसे ऋण मार्च 2020 तक एनपीए घोषित नहीं होंगे: सीतारमण
  • चिन्मयानंद दिव्यधाम पहुंचे,डॉक्टरों ने दी थी केजीएमसी जाने की सलाह
  • सऊदी अरब ने भारत को तेल आपूर्ति की प्रतिबद्धता निभाने का आश्वासन दिया
  • यूपी कबड्डी लीग: अंतिम चार के लिये 10 अक्टूबर से जोर आजमाइश
  • चार सौ जिलों में लगेंगे ऋण वितरण शिविर
  • राज्यपाल ने सुप्रियो को छात्रों के कब्जे से सुरक्षित निकाला
  • भुवनेश्वर स्टेशन बनेगा मल्टी मॉडल ट्रांसपोर्ट हब
  • जल प्रबंधन बने जन आंदोलन : बिरला
  • प्राकृतिक आपदा से बरबाद हुई फसल के मुआवजे को लेकर छलका किसानों का दर्द
  • भाजपा सरकार ने मोटर वाहन अधिनियम को पैसा वसूली का जरिया बनाया : शैलजा
  • मध्यप्रदेश में मानसून सक्रिय, कई स्थानों पर बारिश
  • एसटीएफ ने इनामी हत्यारोपी को प्रयागराज से किया गिरफ्तार
  • झारखंड के बांस कारीगर जाएंगे वियतनाम और चीन : रघुवर
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


अमन की नृत्यांगना पत्नी की संविदा नियुक्ति की होगी जांच

रायपुर 10 मई(वार्ता)छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह के शासनकाल में सबसे ताकतवर माने जाने वाले उनके प्रमुख सचिव रहे अमन सिंह की नृत्यांगना पत्नी की संविदा नियुक्ति एवं इसके साथ ही उन्हे शासकीय कार्यक्रमों में नृत्य के लिए हुए भारी भुगतान के प्रकरण की राज्य सरकार ने जांच के निर्देश दिए है।
आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि प्रदेश कांग्रेस के सचिव विकास तिवारी द्वारा इस बारे में की गई शिकायत पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुख्य सचिव को जांच करवाने के निर्देश दिए थे।मुख्य सचिव सुनील कुजूर ने इसके आधार पर प्रमुख सचिव रेणु पिल्लै को पूरे प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है।
उन्होने बताया कि कांग्रेस नेता तिवारी ने अपनी शिकायत में बताया है कि अमन सिंह की नृत्यांगना पत्नी यास्मीन सिंह की 2005 में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग में संचालक संचार क्षमता विकास के पद पर संविदा नियुक्ति की गई थी।इस पद के लिए उन्हे 35 हजार रूपए प्रति माह मानदेय निर्धारित हुआ था।बाद में इसे गुपचुप रूप से बढ़ाकर एक लाख रूपए प्रति माह कर दिया गया।
शिकायत में कांग्रेस नेता ने बताया कि लगभग 14 वर्ष के शासनकाल में यास्मीन सिंह के काम का प्रचार नृत्यांगना के रूप में हुआ और उन्हे राज्य सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा शासकीय कार्यक्रमों में नृत्य के लिए काफी मोटी रकम पर नृत्य के लिए आमांत्रित किया जाता रहा।
साहू
वार्ता
image