Thursday, Feb 20 2020 | Time 18:47 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रुपया 10 पैसे टूटा
  • दिव्या ने जीता स्वर्ण, निर्मला, पिंकी,सरिता फाइनल में
  • तमिलनाडु में दो सड़क हादसों में 26 मरे, 38 घायल
  • राजकीय विद्यालयों में शनिवार को नो बैग डे प्रस्तावित
  • राज्यपाल फागू चौहान ने ‘महाशिवरात्रि’ की बधाई दी
  • ट्रंप की यात्रा: भारत-अमेरिका के बीच होंगे 5 करार
  • टोक्यो पैरालंपिक में नहीं खेलेंगी दीपा मलिक
  • अमृतसर के 10 गावों को किया जाएगा प्रदूषण मुक्त: औजला
  • चंडीगढ़ और दिल्ली में आधी-तूफान का अनुमान
  • जालौन: ऑनलाइन फ्रॉड कर बैंक खातों से निकाले गये पैसे हुए वापस
  • स्पोर्टस कॉलेज के गौरव को बरकरार रखा जाएगा: शर्मा
  • ‘दृष्टि ट्रांसमिसोमीटर’व ‘दिव्‍य नयन’ की प्रौद्योगिकी सीईएल को हस्तातंरित
  • इमरान नाकामी का दोष मीडिया पर नहीं मढ़े:मरियम
  • भारतीय भाषाओं के उन्नयन के लिए राष्ट्रीय आंदोलन की जरूरत : नायडू
  • कमलनाथ ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को लेकर मोदी पर साधा निशाना
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


कांग्रेस विधायक मसूद ने किया मेट्रो का नाम बदलने का विरोध

भोपाल, 26 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा आज राजधानी भोपाल की मेट्रो का नाम राजा भोज के नाम पर 'भोज मेट्रो' रखे जाने की घोषणा के चंद मिनटों बाद भोपाल के कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने इसका विरोध करते हुए मंच से ही मेट्रो का नाम दोबारा भोपाल मेट्रो किए जाने का अनुरोध किया।
दरअसल श्री कमलनाथ ने आज मेट्रो परियोजना का शिलान्यास करते हुए घोषणा की कि भोपाल राजा भोज की नगरी है और इसलिए यहां की मेट्रो का नाम 'भोज मेट्रो' किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अन्य शहरों जैसे दिल्ली, जयपुर, हैदराबाद और बेंगलुरू में भले ही मेट्रो का नाम उन शहरों के नाम पर हों, लेकिन भोपाल में मेट्रो 'भोज मेट्रो' कहलाएगी।
इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, प्रदेश सरकार के मंत्री जयवर्धन सिंह, डॉ गोविंद सिंह, पी सी शर्मा और आरिफ अकील भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की इस घोषणा के फौरन बाद भोपाल नगर निगम के भारतीय जनता पार्टी के महापौर आलोक शर्मा ने उनकी इस घोषणा का मंच से जोरदार स्वागत किया।
इसी दौरान कांग्रेस विधायक श्री मसूद ने कार्यक्रम के आभार प्रदर्शन के दौरान आग्रह किया कि भोपाल की मेट्रो का नाम नहीं बदला जाए। उन्होंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया कि मेट्रो को भोपाल ही रहने दें, राजा भोज के नाम पर यहां बहुत कुछ है और बहुत कुछ किया जा सकता है।
इसके बाद उन्होंने मीडिया से भी चर्चा करते हुए कहा कि भोपाल के जनप्रतिनिधि होने के नाते उन्होंने मुख्यमंत्री से ये गुजारिश की है और ये उनका हक भी है। उन्होंने आगे कहा कि बाकी मुख्यमंत्री पर निर्भर है।
वहीं पूरे मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा कि जब मुख्यमंत्री ने मंच से किसी बात की घोषणा कर दी है तो इससे अधिक कुछ नहीं रह जाता।
गरिमा प्रशांत
वार्ता
More News
कमलनाथ ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को लेकर मोदी पर साधा निशाना

कमलनाथ ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को लेकर मोदी पर साधा निशाना

20 Feb 2020 | 6:29 PM

छिंदवाड़ा, 20 फरवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए आज कहा कि इसको लेकर लगातार गुमराह करने वाले श्री मोदी को देश की जनता को बताना चाहिए कि उन्होंने किस तरह की ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ की है।

see more..
भार्गव, कांग्रेस को न पढ़ाएं सुशासन का पाठ: ओझा

भार्गव, कांग्रेस को न पढ़ाएं सुशासन का पाठ: ओझा

20 Feb 2020 | 6:20 PM

भोपाल, 20 फरवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने आज मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के बयान पर निंदा करते हुए कहा कि वे कांग्रेस को सुशासन का पाठ न पढ़ाये।

see more..
image