Saturday, Jul 11 2020 | Time 19:31 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तमिलनाडु में काेरोना के रिकॉर्ड 3965 नये मामले, 69 और की मौत
  • फोटो कैप्शन: दूसरा सेट
  • तमिलनाडु में कोरोना मामले 1 34 लाख के पार, करीब 1900 की मौत
  • पश्चिम बंगाल, सिक्किम में तेज बारिश के आसार
  • हरियाणा शारीरिक शिक्षकों ने किया सांसद निवास का घेराव
  • जम्मू में मुबारक मंडी हेरिटेज कॉम्प्लेक्स की खोई चमक वापस लाने की योजना
  • अनिल ने तरुण की पत्नी को सौंपा 5 10 लाख का ड्राफ्ट
  • बलिया में 49 और कोरोना पॉजिटिव,संक्रमितों की संख्या 368 पहुंची
  • गुरुग्राम के खेल स्टेडियमों में लौटी रौनक
  • बिहार में अबतक 15 हजार से अधिक हुए संक्रमित
  • सोनभद्र में सिविल जज समेत नौ कोरोना पाॅजिटिव, संख्या 83 पहुंची
  • सर्बिया में प्रदर्शनकारियों ने की संसद में घूसने की कोशिश
  • टेस्ट क्रिकेट में धोनी की सफलता के पीछे जहीर का बड़ा हाथ : गंभीर
  • उप्र के प्रमुख नगरों का आज का तापमान इस प्रकार रहा
  • कोलकाता पुलिस के लिये ईडन गार्डन क्वारंटीन सेंटर में होगा तब्दील
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


एक अक्टूबर से वन्य प्राणी सप्ताह

भोपाल, 26 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के सभी टाइगर रिजर्व, राष्ट्रीय उद्यान और अभ्यारण्यों में एक से 7 अक्टूबर तक वन्य प्राणी सप्ताह मनाया जायेगा।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य प्राणी) डॉ. यू. प्रकाशम ने इस संबंध में संबंधित क्षेत्र संचालक, क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक और वन मंडलाधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किये हैं। ये अधिकारी स्थानीय परिस्थितियों और संसाधनों की उपलब्धता के आधार पर जारी रूपरेखा के अनुसार सप्ताह मनायेंगे।
वन्य प्राणी संरक्षण के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिये आयोजित वन्य प्राणी सप्ताह में ग्राम पंचायतों और मेला-बाजार आदि में वन मंत्री के संदेश का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। प्रत्येक परिक्षेत्र में कम से कम दो संयुक्त वन समितियों में कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।
कार्यक्रमों में स्थानीय समुदाय, भजन मंडली, चित्रकारी, कलाकार आदि को भी शामिल किया जायेगा। वन्य प्राणी संरक्षण पर नाटक, चित्रकला प्रतियोगिता तथा अन्य कार्यक्रम होंगे। स्कूलों में वन्य प्राणी संरक्षण पर व्याख्यान होंगे। छात्र-छात्राओं के लिये निबंध, पेटिंग, भाषण, रंगोली, प्रश्न-मंच, प्रतियोगिता के साथ वन्य भ्रमण भी आयोजित किये जायेंगे। इनमें विद्यार्थियों को वन्य प्राणी संरक्षण के महत्व से अवगत कराया जायेगा। स्कूल-कॉलेज के छात्र-छात्राओं और जनता को वन्य प्राणी संरक्षण के लिये शपथ ग्रहण कार्यक्रम भी होंगे।
व्यास
वार्ता
image