Thursday, May 28 2020 | Time 13:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • फिलीपींस के लुजोन द्वीप में भूकंप के मध्यम झटके
  • प रेलवे से आठ पार्सल विशेष ट्रेन रवाना
  • जर्मनी में कोरोना के 353 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 179717 हुई
  • अफगानिस्तान में आतंकवादी हमला, सात पुलिसकर्मियों की मौत
  • लीबिया में कर्फ्यू की मियाद 10 दिन बढ़ी
  • शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक
  • शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक
  • सारण में प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या
  • किसी देश पर निर्भर नहीं रहेगा डब्ल्यूएचओ, अलग फाउंडेशन की स्थापना
  • स्पाइसजेट ने तीन क्यू400 विमानों को मालवाहक में बदला
  • राजस्थान में कोरोना संक्रमित संख्या 7947 पहुंची, छह की मौत
  • पश्चिम रेलवे को 952 करोड़ रुपये की आय
  • कोलंबिया में एक जून से लॉकडाउन में आंशिक ढील
  • दक्षिण कोरिया में कोरोना के 79 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 11344 हुई
  • अरुणाचल प्रदेश में कोरोना के तीसरे मामले की पुष्टि
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


मध्यप्रदेश मंत्रिपरिषद निर्णय दो अंतिम भोपाल

प्रदेश सरकार के पर्यटन विकास के लक्ष्यों की पूर्ति के लिए मंत्रि-परिषद ने पर्यटन नीति-2016 को सक्षम, व्यवहारिक, व्यापक और पूंजी निवेश के अनुकूल बनाने के लिए प्रावधानित संशोधन को अनुमोदन प्रदान कर दिया। बैठक में मार्ग सुविधा केन्द्रों (वे-साईड एमेनिटीज) की स्थापना एवं संचालन की नीति 2016 में संशोधन का अनुमोदन किया गया। इसके अंतर्गत मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम द्वारा पूरे प्रदेश में रोड नेटवर्क एवं यात्री सुविधाओं की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए मार्ग सुविधा केन्द्रों की स्थापना को प्रोत्साहित किया जाएगा। साथ ही, संभावित स्थलों और तैयार ब्राउन-फील्ड मार्ग सुविधा केन्द्रों का प्रचार-प्रसार किया जाएगा, ताकि निवेश का वातावरण तैयार हो।
मंत्रि-परिषद ने आवास एवं पर्यावास नीति 2007 की कंडिका क्रमांक 5.4 को विलोपित करने का निर्णय लिया। इसमें निवेश के क्षेत्रों में भूखण्डीय विकास के लिए भूमि अथवा भू-खण्ड का क्षेत्रफल दो हेक्टेयर रखे जाने का प्रावधान था। इस कारण न्यूनतम दो हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता निर्मित होने से छोटी भूमि अनुपयोगी रह जाती थी। ऐसे क्षेत्रों में अवैध कॉलोनियाँ विकसित होने की संभावनाएँ बढ़ जाने से विकास की निरंतरता भी बाधित हो रही थी।
मंत्रि-परिषद ने राज्य के वन क्षेत्रों में पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए रिसॉर्ट बार लायसेंस का सरलीकरण करने का निर्णय लिया। इसमें राष्ट्रीय उद्यानों के अतिरिक्त वन अभयारण्य के पास भी रिसॉर्ट बार लायसेंस की सुविधा दी जाएगी। रिसॉर्ट बार राष्ट्रीय उद्यान/अभयारण्यों की सीमा से 20 किलोमीटर की सीमा में स्थित होना चाहिए। रिसॉर्ट में दस कमरों के स्थान पर न्यूनतम पाँच कमरों का प्रावधान किया गया। रिसॉर्ट बार के लिए न्यूनतम क्षेत्र 2 हेक्टेयर को घटाकर एक एकड़ करने का निर्णय लिया गया। वन्य क्षेत्रों में स्थित रिसॉर्ट बार के लिए वार्षिक लायसेंस फीस पाँच कमरे के लिए 50 हजार, 6 से 10 कमरे के लिए एक लाख और 10 से अधिक कमरे वाले रिसॉर्ट के लिए डेढ़ लाख रूपये करने का निर्णय लिया गया है। सभी बार लायसेंसों की स्वीकृति और नवीनीकरण के प्रकरणों में अग्नि सुरक्षा संबंधी व्यवस्था के संबंध में निर्धारित प्रमाण-पत्र के स्थान पर जिला आबकारी अधिकारी तथा संबंधित रिसॉर्ट बार अनुज्ञप्तिधारी के संयुक्त हस्ताक्षर से रिपोर्ट ली जाएगी।
मंत्रि-परिषद ने पान किसानों/पान बरेजा परिवारों को निस्तार दर पर बाँस उपलब्ध कराने का निर्णय लिया। वन विभाग द्वारा जारी आदेश को 10 मार्च 2019 से ही पान बरेजा परिवारों की निस्तार नीति में शामिल करते हुए कार्योत्तर अनुमोदन प्रदान किया गया। संशोधित निस्तार नीति वर्ष-2019 का भी अनुमोदन किया गया।
मंत्रि-परिषद ने भारतीय पुलिस सेवा (संवर्ग) नियम के अनुसार 31 अक्टूबर,2019 तक की अवधि के लिए पुलिस महानिदेशक ग्रेड में एक पद निर्मित करने का निर्णय लिया। इसी के साथ, संविदा आधार पर निरंतर किए गए कोर्ट मैनेजर का कार्यकाल 31 मार्च 2020 तक अथवा नियमित कोर्ट मैनेजर के पदों पर भर्ती होने तक, जो भी पहले हो, इस शर्त के साथ अंतिम बार निरंतर करने का निर्णय लिया गया। मंत्रि-परिषद ने मुंबई स्थित मध्यालोक भवन का संचालन एवं संधारण मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम को सौंपने का भी निर्णय लिया।
नाग
वार्ता
More News
भोपाल में 1398 हुए कोरोना संक्रमित

भोपाल में 1398 हुए कोरोना संक्रमित

28 May 2020 | 11:20 AM

भोपाल, 28 मई (वार्ता) मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 25 नए काेरोना संक्रमित मिलने के साथ संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1398 हो गयी है।

see more..
image