Sunday, May 31 2020 | Time 14:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लोकतंत्र में असहमति का भी सम्मान होना चाहिए : जस्टिस कौल
  • असम में भीड़ द्वारा पीट-पीट कर युवक की हत्या
  • तमिलनाडु में लॉकडाउन 30 जून तक के लिए बढ़ा, कुछ प्रतिबंधों में ढील
  • नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम के कारण फैला कोरोनाः राउत
  • तीन सप्ताह बाद उछला शेयर बाजार, सेंसेक्स 1751 अंक चमका
  • मणिपुर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 64 हुई
  • भावनगर में ट्रैक्टर में लगी आग, तीन किसानों की मौत
  • कोल्हापुर में कोरोना के छह नए मामले
  • लॉकडाउन में फोटोग्राफर के कैमरा का शटर हुआ ‘लॉक’
  • मार्च 24 के बाद देश में आया बड़ा बदलाव : कांग्रेस
  • कैमूर में वज्रपात से एक व्यक्ति की मौत
  • कैमूर में आंधी में मकान का छज्जा गिरने से बच्ची की दबकर मौत
  • कैमूर में वाहनों से लूटपाट करने वाले सात लुटेरे गिरफ्तार
  • लखीसराय में सड़क दुर्घटना में ग्रामीण की मौत
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


सुल्तानिया अस्पताल में दुर्लभ प्रसव में डॉक्टरों ने बचाई महिला की जान

भोपाल, 16 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश की राजधानी भाेपाल में सुल्तानिया जनाना अस्पताल की अधीक्षक डॉ. अरुणा कुमार के नेतृत्व में आज चिकित्सक टीम ने एक दुर्लभ केस में श्रीमती शबनम की जटिल सर्जरी कर जान बचा ली।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार रायसेन जिले के सुल्तानपुर की शबनम के गर्भाशय के स्थान पर ओवरी में बच्चा विकसित हो गया था और 6 माह की गर्भावस्था के बाद ओवरी फट गई थी।
डॉ. अरुणा कुमार ने बताया कि उन्होंने अपने 30 साल के कॅरियर में ऐसा केस नहीं देखा। यह जटिलता 3 से 6 हजार गर्भवती महिलाओं में से एक में पाई जाती है। आमतौर पर चार-पांच सप्ताह के दौरान गर्भपात हो जाता है। परंतु 35 वर्षीय शबनम के केस में 22 सप्ताह का गर्भ होने से खतरा अत्यधिक बढ़ गया था। रायसेन से आने के बाद कल रात में ही शबनम की जांचें की गईं और सोनोग्राफी की आवश्यकता महसूस हुई।
उन्होंने बताया कि सुबह हुई सोनोग्राफी में पता चला कि बच्चा मर चुका है, जो गर्भाशय में न होकर अंडादानी में है। अंडादानी फटने से पूरे पेट में खून भर गया है। तुरंत निर्णय लेकर ऑपरेशन किया गया।
डॉ. कुमार ने बताया कि शबनम अब पूरी तरह से खतरे से बाहर और स्वस्थ है। उसके पहले से 5 बच्चे होने के कारण नसबंदी कर दी गई है। शबनम को आयुष्मान योजना का लाभ दिया जा रहा है।
राज्य की चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने सफल ऑपरेशन के लिये डॉक्टर अरुणा कुमार, डॉ. सोना सोनी, डॉ. जूही अग्रवाल, डॉ. नीतू मिश्रा और डॉ. उर्मिला केसरी को बधाई दी है।
व्यास
वार्ता
image