Wednesday, Jul 8 2020 | Time 19:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना पर खर्च का विस्तृत ब्यौरा दे येदियुरप्पा सरकार : सिद्धारमैया
  • देश के अधिकतर हिस्सों में बारिश होने का अनुमान
  • विपक्षी दल ऐसे दुष्प्रचार कर रहे हैं जैसे चीन ने उन्हें खरीद लिया हो - सिंह
  • जालंधर में कोरोना के 74 नये मामले सामने आए
  • औरैया में तीन और कोरोना पाॅजिटिव,कुल संख्या 116 हुई
  • पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की 8 20 करोड़ की कार्य योजना का अनुमोदन
  • कृषि अवसंरचना कोष को मंजूरी
  • भारत-नेपाल सीमा पर पहली बार आम लोगों के लिये खुले तीन पुल
  • छह साल में हरियाणा पर कर्ज तिगुना हो गया : आरटीआई से खुलासा
  • अफगानिस्तान में सेना के अभियान में तालिबान कमांडर ढेर
  • उप्र के प्रमुख नगरों का आज का तापमान इस प्रकार रहा
  • कटौती किये गये पाठ्यक्रम को लेकर सीबीएसई की सफाई
  • गैंगस्टर विकास दुबे को लेकर जालौन पुलिस भी अलर्ट मोड पर
  • इज्जतनगर रेल मंडल में व्यवसाय विकास इकाई का गठन हुआ
  • केजरीवाल ने स्वास्थ्य सचिव से मांगी कोविड-19 से हुईं मौतों की वजह की विस्तृत रिपोर्ट
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


झाबुआ में चरम पर पहुंचा चुनाव प्रचार शनिवार शाम को थम जाएगा

झाबुआ, 18 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस और मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं के आरोप प्रत्यारोप के दौर के बीच चरम पर पहुंच चुका चुनाव प्रचार अभियान शनिवार शाम को थम जाएगा। इसके बाद नेता घर घर पहुंचकर जनसंपर्क कर सकेंगे।
झाबुआ में 21 अक्टूबर को मतदान होगा और नतीजे 24 अक्टूबर मतों की गिनती के बाद आएंगे।
चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस जहां अपने दस माह के शासन के दौरान प्रदेश में किए गए जनहितैषी कार्यों को लेकर जनता के बीच पहुंची, वहीं भाजपा नेताओं ने कांग्रेस के विधानसभा चुनाव के पहले किए गए वादों को पूरा नहीं किए जाने के आरोप लगाते हुए मुद्दे उठाए। इसमें किसानों की ऋणमाफी का मुद्दा भी शामिल है।
झाबुआ में मुख्य मुकाबला कांग्रेस के वरिष्ठ आदिवासी नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया तथा भाजपा के युवा नेता भानु भूरिया के बीच है, हालाकि यहां से कुल पांच प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं।
कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री कमलनाथ और जनसंपर्क मंत्री पी सी शर्मा के अलावा मंत्री सर्वश्री सुरेन्द्र सिंह बघेल, जयवर्धन सिंह, प्रियव्रत सिंह, बाला बच्चन, जीतू पटवारी, सुश्री विजयलक्ष्मी साधौ, कमलेश्वर पटेल, ओकार सिंह मरकाम, तुलसी सिलावट, सज्जन सिंह वर्मा और सचिन यादव ने भी इस क्षेत्र में प्रचार किया। श्री कमलनाथ चुनाव प्रचार के अंतिम दिन झाबुआ जिले के रानापुर में एक जनसभा को संबोधित कर सकते हैं।
वहीं भाजपा की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव, वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय और अन्य नेताओं ने भी चुनाव प्रचार अभियान की कमान संभाली।
झाबुआ विधानसभा उपचुनाव में 02 लाख 77 हजार 599 मतदाता मतदान कर सकेंगे, जिनमें एक लाख 39 हजार 330 पुरुष तथा एक लाख 36 हजार 266 महिला और तीन थर्ड जेंडर मतदाता शामिल हैं। उपचुनाव के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होना है, जिसके लिए साढ़े तीन सौ से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए हैं। मतों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी।
झाबुआ में भाजपा विधायक जी एस डामाेर के रतलाम-झाबुआ संसदीय सीट से भाजपा के ही टिकट पर सांसद चुने जाने के कारण विधायक पद से त्यागपत्र देने के कारण यहां पर उपचुनाव हो रहा है।
सं बघेल प्रशांत
वार्ता
More News
कांग्रेस ने किसानों को कर्ज के बोझ तले दबाया: शिवराज

कांग्रेस ने किसानों को कर्ज के बोझ तले दबाया: शिवराज

08 Jul 2020 | 7:20 PM

भोपाल, 08 जुलाई (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों की कर्जमाफी को लेकर पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार पर जमकर हमला करते हुए आज कहा कि किसानों की कर्जमाफी का वादा करके उनका कर्ज माफ नहीं किया, जिसके चलते किसान कर्ज के बोझ तले दब गये।

see more..
image