Saturday, Jul 11 2020 | Time 19:16 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • गुरुग्राम के खेल स्टेडियमों में लौटी रौनक
  • बिहार में अबतक 15 हजार से अधिक हुए संक्रमित
  • सोनभद्र में सिविल जज समेत नौ कोरोना पाॅजिटिव, संख्या 83 पहुंची
  • सर्बिया में प्रदर्शनकारियों ने की संसद में घूसने की कोशिश
  • टेस्ट क्रिकेट में धोनी की सफलता के पीछे जहीर का बड़ा हाथ : गंभीर
  • उप्र के प्रमुख नगरों का आज का तापमान इस प्रकार रहा
  • कोलकाता पुलिस के लिये ईडन गार्डन क्वारंटीन सेंटर में होगा तब्दील
  • नैनीताल में बनेगा 500 बेड का कोविड केयर सेंटर : त्रिवेन्द्र
  • टॉल फ्री की मांग को लेकर जींद के छह गांवों ने किया हिसार-चंडीगढ़ हाईवे जाम
  • उत्तराखंड के छह हज़ार गांव इंटरनेट से जुड़ेंगे: त्रिवेंद्र
  • राजस्थान में 140598 हेक्टेयर में टिड्डी नियंत्रण कार्य किया गया
  • तंदरूस्तों को कोरोना संक्रमित बताने के मामले की सीबीआई या न्यायिक जांच हो: महासभा
  • उप्र में कोरोना के मद्देनजर जारी एडवाइजरी का उल्लंघन,23,66,389 का चालान
  • सहरसा नगर परिषद क्षेत्र रविवार से होगा लॉक
  • बिहार में बेकाबू कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव कराने पर सर्वदलीय बैठक बुलाए निर्वाचन आयोग : कांग्रेस
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


आयोग ने मानवाधिकार हनन के मामले में संबंधित अधिकारयों से प्रतिवेदन मांगा

भोपाल, 21 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने मानव अधिकार हनन से संबंधित तीन मामलों में संज्ञान लेकर संबंधित अधिकारियों से जबाव-तलब किया है।
आयोग की ओर से आज जारी विज्ञप्ति के अनुसार भोपाल शहर गांधीनगर के समीप राह चलते एक छात्रा पर वेल्डिंग वर्क की चिंगारियों से चेहरे पर लिपटे स्कार्फ में आग लगने की घटना पर कलेक्टर से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।
इसी शहर में एक आरा मशीन संचालक द्वारा वन विभाग के डीएफओ, सीसीएफ और वनमंत्री को की गई शिकायत के बाद कार्यवाही नही होने पर डीएफओ से एक माह में प्रतिवेदन मांगा है।
इसी तरह रतलाम जिले की आलोट तहसील के अन्तर्गत कजाखेड़ी गांव के प्राथमिक स्कूल में विद्यार्थियों को मिल रहे मध्यान्ह भोजन के अन्तर्गत दिये जाने वाले आहार में मिलने वाली दाल में अधिक पानी होने की शिकायत पर कलेक्टर से एक माह में प्रतिवेदन मांगा है।
नाग
वार्ता
image