Sunday, Jan 19 2020 | Time 18:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बर्फबारी से अपनी ही शादी में नहीं पहुंच सका जवान
  • यशस्वी, प्रियम और ध्रुव के अर्धशतक
  • आरिफ खान ने केरल सरकार से सीएए को लेकर रिपोर्ट मांगी
  • मुजफ्फरनगर के छात्र की लखनऊ सड़क दुर्घटना में मृत्यु
  • निर्भया: पवन के एक और दाव पर सोमवार को सुनवाई
  • हलवा रस्म के साथ कल से बजट की छपाई होगी शुरू
  • नागरिकता (संशोधन) कानून की आवश्यकता नहीं : शेख हसीना
  • नैनीताल में धुंए से दम घुटने से मां, बेटे की मौत
  • बुलंदशहर में अवैध वूसली के आरोप में दो पुलिसकर्मी निलंबित
  • मुख्यमंत्री से कोई विवाद नहीं है : विज
  • शास्त्रीय संगीत गायिका सुनंदा पटनायक का निधन
  • पेरियार से संबंधित बयान को लेकर रजनीकांत के खिलाफ मामला दर्ज
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


प्रतिबंधित प्लास्टिक का आयात दूसरे राज्यों से किये जाने का मुद्दा सदन में उठा

रायपुर, 02 दिसम्बर (वार्ता) छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज सरकार द्वारा प्रदेश में प्लास्टिक के उत्पादन व बिक्री पर लगाए गए प्रतिबंध के बावजूद दूसरे राज्यों से प्रतिबंधित प्लास्टिक का आयात प्रदेश में होने का मामला विपक्षी दल जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सदस्यों द्वारा उठाया।
विधायक धर्मजीत सिंह ने प्रश्रकाल में यह मामला उठाते हुए आरोप लगाया कि एक ओर सरकार ने प्रदेश में अमानक प्लास्टिक से बने विज्ञापन -प्रचार सामग्री, खान-पान के लिए बने पॉलीथिन, ग्लास, चाय-पॉनी कॅप, दोना, चम्मच, थॉली-प्लेट आदि के उत्पादन एवं बिक्री पर प्रतिबंध तो लगा दिया गया है, लेकिन दूसरे राज्यों से इन प्रतिबंधित सामग्री का आयात अभी भी जारी है। इन पर रोक लगाने के लिए सरकार क्या कोई कदम उठा रही है।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसका जवाब देते हुए कहा कि पूरा देश सहित हमारी सरकार भी प्लास्टिक उत्पाद को प्रतिबंधित करने को लेकर गंभीर है। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों से आ रहे प्लास्टिक के उत्पादों का आयात करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।
जनता कांग्रेस सदस्य एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा कि प्रदेश में हर प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाया नहीं जा सकता है।उन्होंने कहा कि जिस प्लास्टिक का एक बार उपयोग के बाद फेक दिया जाता है ऐसे प्लास्टिक की चीजों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा देना चाहिए। श्री जोगी ने मांग की कि क्या सरकार ऐसा निर्णय लेगी।
संसदीय कार्यमंत्री रविन्द्र चौबे ने इसके जवाब में कहा कि इसके लिए सरकार अधिनियम बना रही है जिसकी कार्यवाही प्रचलन में है।
विधानसभा अध्यक्ष डा.चरणदास महंत ने भी इस मामले में चिंता जताते हुए संसदीय मंत्री से कहा कि बाहर से प्लास्टिक आयात रोकने से पहले उद्योगपतियो को बुलाकर उनसे बातचीत करे और उन्हें ऐसे उद्योगों को लगाने के लिए प्रेरित करें जिससे पर्यावरण प्रदूषित नहीं हो।
लक्ष्मण.साहू
वार्ता
image