Tuesday, Oct 27 2020 | Time 21:00 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हरियाणा में कोरोना के 1248 नये मामले, कुल संख्या 160705 हुई, 1750 मौतें
  • कीमती धातुओं में घटबढ़
  • केरल में कोरोना के सक्रिय मामले घटकर 92000
  • बिग बैश लीग नहीं खेलेंगे डिविलियर्स
  • दिल्ली में कोरोना के सक्रिय मामले 28, 000 के करीब
  • अबकी बार नरेंद्र मोदी चार सौ के पार: प्रहलाद मोदी
  • चंदौली के बलुआ इलाके से दो तस्कर गिरफ्तार,24 लाख का गांजा बरामद
  • काेरोना चुनौती को अवसर मान कर हरियाणा ने लिये अनेक अहम फैसले:खट्टर
  • नोएडा मुठभेड़ में एक इनामी समेत आठ वांछित बदमाश गिरफ्तार
  • गुजराती सुपर स्टार नरेश कनोडिया का निधन, दो दिन पहले ही संगीतकार भाई थे गुज़रे
  • रोहतक रोड टर्फ यूथ कप के फाइनल में
  • रोहतक रोड टर्फ यूथ कप के फाइनल में
  • पाकिस्तान मदरसा विस्फोट: 8 की मौत, 110 घायल
  • एक नवम्बर से धान खरीद को लेकर हुए हंगामे के कारण कार्यवाही हुई स्थगित
  • गुजरात की अदालत ने राहुल को दी राहत, मानहानि प्रकरण में व्यक्तिगत पेशी से छूट
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


राज्य में उद्यानिकी के विकास की व्यापक संभावनाएँ हैं-कुशवाह

भोपाल, 18 सितम्बर (वार्ता) मध्यप्रदेश के उद्यानिकी एवं खाद्य प्र-संस्करण मंत्री भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि प्रदेश में उद्यानिकी के विकास की व्यापक संभावनाएँ मौजूद हैं।
श्री कुशवाह ने आज सागर एवं जबलपुर संभाग के उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों की नर्मदा भवन के सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारियों को ग्राम-स्तर पर पदस्थ मैदानी अमले के साथ काम करना होगा। योजनाओं की सफलता गाँव में और नर्सरियों में पहुंच कर कृषकों के साथ काम करने से ही सुनिश्चित हो सकेगी।
उन्होंने कहा कि लक्ष्यों की शत-प्रतिशत पूर्ति नहीं हो पाने से साफ होता है कि अपेक्षित रुचि से काम नहीं किया गया है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि किसी भी योजना में लक्ष्य प्राप्त करने के लिए अधिकारी, कर्मचारी को काम में रुचि लेना जरूरी है। सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी को समझें और किसानों के हित में संचालित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन पर ध्यान दें।
उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारियों की उदासीनता और लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि विभाग की संभागीय समीक्षा बैठकों के बाद वे जिला स्तर और ब्लॉक स्तर पर भी समीक्षा करेंगे। राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि जिलों के साथ-साथ विभाग की नर्सरियों और उद्यानिकी फसलों के उत्पादन से जुड़े किसानों के खेतों तक वे स्वयं भी पहुँचेंगे।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में लाखों किसान फल, सब्जी, फूल, मसालों की खेती से जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि विभाग को उद्यानिकी का रकबा और उत्पादन दोनों बढ़ाना है।
श्री कुशवाह ने कहा कि जबलपुर संभाग के मण्डला जिले में 8596 हेक्टेयर रकबे में उद्यानिकी फसलों की खेती हो रही है, जो संभाग के अन्य जिलों से कम है, मण्डला जिले के अधिकारी ध्यान दें। सागर संभाग के पन्ना जिले में संभाग के अन्य जिलों की तुलना में सबसे कम 11 हजार 295 हेक्टेयर उद्यानिकी फसलों का रकबा है। बैठक में कृषकों के प्रशिक्षण आयोजित करने , विभाग की नर्सरियों को स्थानीय किसानों की जरूरत के अनुसार विकसित करने सहित सभी योजनाओं की जिलावार प्रगति की समीक्षा की गई। बैठक में आयुक्त उद्यानिकी पुष्कर सिंह और जबलपुर एवं सागर संभागों के जिलाधिकारी उपस्थित थे।
नाग
वार्ता
image