Tuesday, Oct 20 2020 | Time 17:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पुलवामा में मुठभेड़ में दो आतंकवादी ढेर
  • चालू वित्त वर्ष में एफडीआई 13 प्रतिशत बढ़ा
  • हंगरी में ओलंपिक कोटा हासिल करने उतरेंगे भारतीय जूडोका
  • सिन्हा ने की इंस्पेक्टर अशरफ की हत्या की कड़ी निंदा
  • भद्दी टिप्पणी के लिये कमलनाथ माफी मांगें: सोनाली फोगाट
  • जदयू ने बागी ममता देवी समेत दो और को दिखाया बाहर का रास्ता
  • देश में कोरोना को मात देने वाले मरीजाें की संख्या 67 लाख से अधिक
  • हेमंत से झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की
  • मेक्सिकन ओपन 2021 में भाग लेंगे ज्वेरेव
  • मेक्सिकन ओपन 2021 में भाग लेंगे ज्वेरेव
  • नैनीताल रोप-वे मामले में सरकार और सभी पक्षकार उचित समाधान निकालें: हाईकोर्ट
  • आंध्र में अगले 48 घंटों में भारी बारिश के आसार
  • हिमाचल में प्रशासनिक फेरबदल, सात जिलों के उपायुक्तों समेत 21 आईएएस बदले
  • नीतीश सरकार ने बिहार में राेजगार देने की कोई पहल ही नहीं की : तेजस्वी
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


प्रदेश में मंडियों को आधुनिक और स्मार्ट बनाएंगे: कमल

ग्वालियर, 26 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के कृषि विकास एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने आज कहा कि राज्य भर में मंडियों को आधुनिक और स्मार्ट बनाया जाएगा। हमारे अन्नदाता को मंडियों तक पहुंचने में कोई परेशानी ना हो और उनकी फसल का पूरा दाम उन्हें मिल सके, इसके प्रयास किए जा रहे हैं।
श्री पटेल ने यहां पत्रकारों से चर्चा में कहा कि किसानों के हितों में विधेयक लाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर अभिनंदन के पात्र हैं। क्योंकि केन्द्र सरकार द्वारा किसानों को दिये जाने वाली छह हजार की राशि में राज्य सरकार ने चार हजार रूपये और जोडकर उसे दस हजार कर दिया है। उन्होंने कहा कि खेती को लाभ का धंधा बनाने का जो सपना प्रधानमंत्री ने देखा वह सपना 2022 तक पूरा हो जायेगा।
कृषि सुधार विधेयकों को लेकर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में श्री पटेल ने कहा कि बिचौलिए इस विधेयक का विरोध कर रहे हैं। वह किसानों में भ्रम फैला रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसान विरोधी है। उन्होंने कहा कि अब आगे आने वाले दिनों में मंडियां स्मार्ट मंडी के रूप में दिखाई देंगी। उन्होंने कहा कि मंडियों में किसानों की फसल कुछ ही मात्रा में खरीदी जाती थी, लेकिन सरकार ने उक्त फसल खरीदने की सीमा समाप्त कर दी है। किसान बिचौलिये को छोड सीधे निर्यातक को अपनी फसल बेच सकेंगे।
श्री पटेल ने कहा कि शहरों और गांवों को मिलाने की योजना के तहत अब गांव के किसान के घर का ऋण भी शहरों जैसे मिलेगा। इंदिरा आवास योजना में पहली बार गांव के लोगों को भी ऋण मिला।
सं बघेल
वार्ता
More News
मैं क्यों माफी मांगूंगा - कमलनाथ

मैं क्यों माफी मांगूंगा - कमलनाथ

20 Oct 2020 | 4:00 PM

भोपाल, 20 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने 'आइटम' शब्द को लेकर मचे बवाल के बीच आज साफ शब्दों में कहा कि वे इस मामले को लेकर माफी क्यों मांगेंगे।

see more..
image