Monday, Apr 19 2021 | Time 23:27 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जडेजा-मोईन के दम पर चेन्नई ने राजस्थान को दी 45 रन से मात
  • बैंक धोखाधड़ी मामले में सीबीआई के छापे
  • बंगाल में छठे चरण चुनाव का प्रचार समाप्त
  • छत्तीसगढ़ में मिले 13834 नए संक्रमित मरीज,रिकार्ड 175 की मौत
  • केंद्रीय मंत्री ने बिहार के लिए रेमडेसिविर का कोटा बढ़ाने का दिया आश्वासन : सुशील
  • मध्यप्रदेश में 12 हजार से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले, 79 की मौत
  • भूपेश ने कलेक्टरों को रेमडेसिविर और जीवन रक्षक दवाईयां खरीदने की दी अनुमति
  • मनमोहन सिंह के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की नायडू ने
  • एक मई से सभी युवा टीका लगवाने के पात्र होंगे
  • बिहार : कोरोना जांच की रफ्तार घटने के बावजूद संक्रमण की गति तेज, मिले 7487 नए मामले, 41 की मौत
  • डीआरडीओ ने ऑक्सीजन की कमी दूर करने वाली प्रणाली विकसित की
  • जयपुर में अध्यादेश उल्लंघन पर तीन लाख का जुर्माना वसूला
  • चेन्नई ने राजस्थान को दी 189 की चुनौती
  • चेन्नई ने राजस्थान को दी 189 की चुनौती
  • दुमका में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, दो गिरफ्तार
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


शिक्षकों के लिए तनाव प्रबंधन और समय प्रबंधन के वीडियो प्रशिक्षण मॉड्यूल्स का हुआ लोकार्पण

भोपाल, 01 फरवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इन्दर सिंह परमार ने कहा है कि समय प्रबंधन और तनाव प्रबंधन के साथ स्व-प्रबंधन कर हमारे शिक्षक अपने शैक्षणिक दायित्वों का प्रभावी ढंग से निर्वहन कर सकेंगे। यह उनके व्यक्तिगत जीवन के लिए भी उपयोगी होगा।
श्री परमार ने आज यहाँ मंत्रालय में शिक्षकों के लिए स्व-प्रबंधन, तनाव प्रबंधन और समय प्रबंधन के वीडियो प्रशिक्षण मॉड्यूल्स के ऑनलाइन लोकार्पण के दौरान कहा कि समय प्रबंधन और तनाव प्रबंधन के साथ स्व-प्रबंधन कर हमारे शिक्षक ना सिर्फ अपने शैक्षणिक दायित्वों का प्रभावी ढंग से निर्वहन कर सकेंगे बल्कि यह उनके व्यक्तिगत जीवन के लिए भी उपयोगी होगा।
उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण देश भर में तनाव का माहौल था, जिससे शिक्षक वर्ग भी प्रभावित रहा। उनके मानसिक तनाव को दूर करने, उनमें नेतृत्व के गुणों को विकसित करने और उनकी कार्यकुशलता बढ़ाने के लिए यह वीडियो प्रशिक्षण मॉड्यूल्स तैयार किए गए हैं। हमारे समाज में छात्र अपनें शिक्षक से सीखते है और उसका अनुसरण करते है। समयबद्ध और तनाव रहित शिक्षक न सिर्फ अपने शिक्षण कार्य को अधिक कार्यकुशलता से कर सकेंगे बल्कि स्कूली छात्रों से श्रेष्ठ नागरिकों का निर्माण भी करेंगे। नागरिकों से ही श्रेष्ठ राष्ट्र का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम शिक्षकों के साथ-साथ स्कूली बच्चों, अभिभावकों और अन्य सभी नागरिकों के लिए लाभकारी हैं।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार यह वीडियो मॉड्यूल स्कूल शिक्षा विभाग ने आईआईएम इंदौर के सहयोग से तैयार किए हैं। इसमें विजुअल के माध्यम से सरल और रोचक तरीके से तनाव को दूर करने के दार्शनिक विचार व्यायाम और अन्य उपयोगी बातें बताई गई हैं। यह मॉड्यूल्स स्कूल शिक्षा विभाग के ऑनलाइन दिक्षा प्लेटफॉर्म पर अपलोड किए जायेंगे।
विश्वकर्मा
वार्ता
image