Wednesday, Feb 8 2023 | Time 12:41 Hrs(IST)
image
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


लवजिहाद का खेल मध्यप्रदेश में नहीं चलने देंगे - शिवराज

इंदौर, 04 दिसंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि राज्य की धरती पर ''लवजिहाद'' का खेल नहीं चलने दिया जाएगा और आवश्यकता हुयी तो इसके खिलाफ सख्त कानून भी बनाया जाएगा।
श्री चौहान ने यहां महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी टंट्या मामा के बलिदान दिवस पर उनकी स्मृति में आयोजित समारोह को संबोधित किया। इस अवसर पर राज्यपाल मंगुभाई पटेल और अन्य गणमान्य नागरिक भी मौजूद थे।
श्री चौहान ने कहा कि कोई भी छल ले, हमारे बच्चों को। शादी करे और 35 टुकड़े कर दे। ये हम सहन नहीं करेंगे। ये ''लव'' नहीं, ''लव'' के नाम पर ''जिहाद'' है। ये सब मध्यप्रदेश की धरती पर नहीं चलने दिया जाएगा। जरूरत पड़ी तो इसके खिलाफ हम राज्य में सख्त कानून भी बनाएंगे।
इस समारोह में श्री चौहान ने जनजातीय समुदाय से जाने वाले टंट्या मामा की बहादुरी का बार बार बखान किया और कहा कि वे उनके चरणों में राज्य की साढ़े सात करोड़ जनता की ओर से प्रणाम करते हैं। टंट्या मामा ने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे। उन्होंने उस समय भी शोषक (सूदखोरों) के खिलाफ आवाज उठायी और सदैव गरीबों के हक में काम किया।
श्री चौहान ने कहा कि उन्हें इस बात की तकलीफ भी होती है, आजादी के सात दशकों तक टंट्या मामा और उनके जैसे अनेक वीरों की प्रतिमाएं शहरों नगरों में नहीं लगवायी गयीं। सिर्फ एक खानदान की प्रतिमाएं लगती रहीं। आज हमारे लिए गर्व की बात है कि इंदौर में टंट्या मामा की भव्य प्रतिमा का लोकार्पण राज्यपाल ने किया है। राज्य सरकार की प्राथमिकता सदैव गरीबों की जिंदगी में बदलाव लाने की रही है और इसके लिए वे लगातार कार्य कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि टंट्या मामा और इस तरह के अन्य जननायकों से प्रभावित होकर ही केंद्र की मोदी सरकार ने आदिवासियों के कल्याण का न सिर्फ संकल्प लिया है, बल्कि उसे पूरा करने के लिए कार्य भी किए जा रहे हैं। मध्यप्रदेश में भी इसी तरह के कार्य किए जा रहे हैं।
प्रशांत
वार्ता
More News
विकास यात्रा के दौरान करते रहें नवाचार: शिवराज

विकास यात्रा के दौरान करते रहें नवाचार: शिवराज

08 Feb 2023 | 11:02 AM

भोपाल, 08 फरवरी (वार्ता) मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में 5 फरवरी से 25 फरवरी तक चलने वाली विकास यात्रा के माध्यम से हितग्राहियों को लाभान्वित करने और उनकी समस्याओं का निराकरण करने में किसी भी प्रकार की कमी नहीं छोड़ी जाए एवं इनमें लगातार नवाचार हों।

see more..
image